भारत में बिजनेस करना सदा से ही स्वर्णिम समझा गया है। भारत में नौकरी की प्राथमिकता भले दूसरी रही हो लेकिन व्यवसाय हमेशा प्रथम रहा है। सरकार भी कारोबारियों के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है।

केन्द्र सरकार देश के उद्यमियों की संख्या बढ़ाने के लिए बिजनेस लोन के लिए व्यापारियों को प्रोत्साहन प्रदान करने का काम कर रही है। सरकार द्वारा बिजनेस लोन देने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, स्टैंड अप इंडिया लोन योजना, जिला उद्योग योजना और ऐसी ही बहुत सी योजनाओं का संचालन हो रहा है।

भारत के छोटे और मध्यम कारोबारियों की सबसे बड़ी समस्या फंड जुटाने को लेकर रही है। पहले के समय में कारोबारी साहूकारों को पैसा सूद पर उधार लेते थे। सूदखोर उनसे इतना पैसा ऐठ लेता था कि कारोबारी बेचारे सूद चुकाते – चुकाते परेशान हो जाते थे।

समय बदला और देश में टेक्नोलॉजी का दौर आया। यह दौर 90 के दशक में आया। 90 के दशक में देश में नई टेक्नोलॉजी आने लगी। टेक्नोलॉजी आने बाद चीजें बदलने लगी। इधर टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए फिनटेक क्षेत्र के नॉन बैंकिग फाइनेंशियल कंपनी – एनबीएफसी

लोन मार्केट में NBFC कंपनियों ने दस्तक दी है तब से कारोबारियों को काफी सहूलियत हो गई है। अब पहले की तुलना में कारोबार लोन लेना बहुत आसान हो गया है। इस ब्लॉग में यह जानेंगे कि NBFC सेक्टर की प्रमुख कंपनी ‘ZipLoan’ से बिजनेस लोन लेने पर क्या – क्या फायदे मिलते हैं।

ZipLoan क्या है?

‘ZipLoan’ सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम वर्ग के व्यापार को 1 से 5 लाख तक बिजनेस लोन प्रदान करने वाली कंपनी है। कंपनी भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा रजिस्टर्ड है।

ZipLoan से बिजनेस लोन

कंपनी की स्थापना छोटे एवं मध्यम कारोबारियों की आर्थिक समस्याओं को दूर करने के लिए हुई है। यह 2015 स्थापित हुई है। इस कंपनी से कारोबार लोन सिर्फ 3* में मिलता है। कंपनी की खासियत यह है कि यहां से न्यूनतम काजगी दस्तावेजों पर, घर बैठे कारोबार के लिए लोन मिलता है।

कौन से कागजी दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है?

कंपनी के अनुसार 1 से 5 लाख के कारोबार लोन के लिए सिर्फ 6 कागजी दस्तावेजों की जरूरत होती है। कागजी दस्तावेजों की लिस्ट इस प्रकार से है:

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • ITR फाइल करने की कॉपी
  • बैंक स्टेटमेंट
  • घर और कारोबार के रजिस्टर्ड प्रमाण पत्र
  • लोन पाने की शर्ते

कंपनी से कारोबार लोन पाने के लिए कुछ मामूली शर्ते हैं। शर्तें इस प्रकार से हैं:

आपके कारोबार का सालाना टर्नओवर कम से कम 5 लाख तक होना चाहिए

  • पिछले साल में भरा गया ITR 1।5 लाख का होना चाहिए
  • घर और बिजनेस में से कोई एक खुद के नाम पर होनी चाहिए या ब्लड रिलेशन से संबंधित किसी व्यक्ति के नाम पर होनी चाहिए
  • बिजनेस कम से कम 2 साल पुराना होना चाहिए

अगर कोई व्यापारी इन न्यूनतम शर्तों को पूरा करता है तो उसे कंपनी के तरफ से 1 से 5 लाख रूपये का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन में मिल सकता हैZipLoan से ही क्यों ले बिजनेस लोन।

ZipLoan की कुछ विशेषताएं हैं, जो दुसरे लोन देने वाली कंपनियों से इसे अलग बनाती हैं, जैसे:

घर बैठे लोन की रकम प्राप्त करें

कंपनी से कारोबारी के लिए घर बैठे लोन प्राप्त कर सकता हैं। सभी प्रोसेस ऑनलाइन ही पूरे किये जाते हैं। ऑनलाइन अप्लाई करने से लेकर जरूरी कागजी दस्तावेजों को उपलोड करने के सभी कुछ ऑनलाइन होने चलते कारोबारी को कही भागदौड़ नही करना होता।

6 महीने के बाद प्री पेमेंट चार्जेस फ्री

6 महीने के बाद लोन प्री पेमेंट चार्जेस फ्री हो जाता है। मतलब यह कि आपने अपना लोन 24 महीनों के लिए कराया है लेकिन सातवें या आठवें महीने में ही आपके पास इतना बैलेंस इक्कठा हो जाता है कि वह अपने लोन के अमाउंट को वापस करना चाहते हैं। बाकि कंपनियों में इस चीज के लिए अलग से पेनालिटी चार्ज देना पड़ता है, लेकिन ZipLoan के कारोबारी 6 महीने के बाद कभी भी लोन की रकम वापस कर सकता है।

बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन

कंपनी लोन देने के बदले कुछ गिरवी नही रखती है। इससे उन सभी व्यापारियों को लाभ हो होता है जिनके पास गिरवी रखने के लिए कुछ नही होता। बिना गिरवी के लोन देने से बड़ी संख्या में छोटे एवं मध्यम वर्ग के कारोबारियों का लाभ होता है।

लोन आसान EMI में चुकाएं

कंपनी लोन देने के बाद व्यापारियों को 6 महीने से लेकर 24 महीने के बीच आसान किस्तों में लोन की रकम वापस कर सकते हैं।

लोन मार्केट मेंसूक्ष्म, लघु एवं मध्यम (MSME) वर्ग के बिजनेस के लिए बिजनेस लोन देने के मामले ZipLoan सबसे अग्रणी कंपनी है। अगर आपका भी कारोबार 2 साल से पुराना है और आप अपने व्यापार का विस्तार करना चाहते हैं लेकिन पैसों की कमी से जूझ रहे हैं तो बिना कोई देर किये ZipLoan से लोन के लिए अप्लाई करें।