बिजनेस सही तरीके से चलाने के लिए धन (पूंजी) से अधिक महत्वपूर्ण कुछ नहीं होता है। शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन के द्वारा बिजनेस के लिए धन (पूंजी) जुटाना एक बेहतरीन तरीका है।

कारोबार चलाने के लिए बैंक से लोन मिलने में बहुत सी कठिनाई आती हैं ऐसे में ऑनलाइन लोन देने वाली कंपनियों का विकल्प खुला है।

सभी कारोबारियों के बिजनेस की जरूरतें अलग- अलग होती है। ऐसे में एक समान लोन की शर्तों पर सभी कारोबारियों के लिए बिजनेस लोन लाभकारी सिद्ध नहीं हो सकता है।

इसे भी जानिएः बिजनेस बढ़ाने के लिए 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन मिलेगा, जानिए क्या है प्रक्रिया

एक उदाहरण के तौर पर देखते है: अगर किसी कारोबारी को कोई नई मशीनरी लेना है तो उसे लंबे समय के लिए लोन की जरूरत की अपेक्षा शार्ट टर्म लोन की जरूरत अधिक हो सकती है।

यह उसके लिए बेहतरीन साबित होगा। क्योंकि कम समय के लिए लिया गया लोन की भरपाई जल्दी हो सकती है और अधिक ब्याज चुकाने से राहत मिल जाता है।

लोन दो तरह का होता है। शॉर्ट टर्म लोन और लांग टर्म लोन। शॉर्ट टर्म लोन बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है। लांग टर्म लोन सिक्योर्ड लोन होता है। लांग टर्म लोन प्रॉपर्टी गिरवी रखकर मिलता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

लांग टर्म लोन और शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन क्या होता है और यह कारोबारियों के लिए कैसे सहायक है। आइए इसके बारे में विस्तार से समझते है।

शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन क्या है?

शॉर्ट का मतलब छोटा होता है और टर्म का आसय समय से है। यानी कम समय के लिए लिया गया बिजनेस लोन शॉर्ट टर्म लोन कहलाता है। लोन शार्ट टर्म लोन का समय 12 महीना से लेकर 60 महीना होता है।

शार्ट टर्म लोन पर एक निश्चित समय के लिए निश्चित ब्याज दर लागू होती है। लोन लेने वाले कारोबारी को शार्ट बिजनेस लोन को तय समय-सीमा के भीतर लोन चुका देना होता है।

शॉर्ट टर्म लोन बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है। यह मुख्यतः बिजनेस लोन के टर्नओवर और सैलरी के आधार पर मिलता है। इसका उदाहरण बिजनेस लोन और पर्सनल लोन है।

लॉन्ग टर्म लोन क्या है?

लॉन्ग का मतलब लंबा और टर्म का मतलब समय है। इस तरह लंबे समय (लॉन्ग टर्म) के लिए मिलने वाला लोन लांग टर्म लोन होता है।

इसे भी जानिएः MSME को मिलेगा अब 59 मिनट में 1 करोड़ तक का लोन! जानिए कैसे?

लॉन्ग टर्म और शार्ट टर्म लोन के बीच बुनियादी अंतर यह भी है कि लॉन्ग टर्म लोन प्रॉपर्टी गिरवी रखने के बदले ही मिलता है। लांग टर्म लोन का उदाहारण होम लोन, प्रॉपर्टी इत्यादि है।

शार्ट टर्म लोन के फायदों के बारे में जानिए

अब वे दिन लद गए जब कारोबारियों को बिजनेस लोन के लिए लोन देने वली संस्थाओं का चक्कर काटना पड़ता था। आज लोन अप्लाई करने का प्रोसेस बेहद सरल है। बहुत ही आसान है।

अगर आप कम समय के लिए लोन चाहते हो तो शायद ही किसी और के सहायता की जरूरत पड़े। यह ऑनलाइन खाना ऑर्डर करने जितना ही आसान है यानी सिर्फ एक सिंगल बटन की क्लिक पर लोन मिल जाता है

इसे भी जानिएः दुकान के लिए लोन 2019: कैसे मिलेगा? जानिए प्रक्रिया

अब कारोबारी को आपको बिजनेस के लिए धन जुटाने हेतु किसी भी तरह की कागजी प्रक्रिया या समय निकाल कर किसी के साथ मीटिंग करने की आवश्यकता बिल्कुल नहीं है। अब आप शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन के लिए घर बैठे आराम से ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं।

यानी, कुछ ही मिनटों में आपका एप्लीकेशन कम्पलीट हो सकता है। इस तरह देखा जाए तो आपके बिजनेस में अगर तत्काल खर्च के लिए पैसों की जरूरत है तो आपको किसी का भी इंतजार करने की आवश्यकता नहीं। बस घर बैठे ऑनलाइन अप्लाई करें और लोन की प्रक्रिया शुरु हो जाती है।

शार्ट टर्म लोन बहुत जल्दी मिलता है

पिछले कुछ वर्षों में भारत में शार्ट टर्म लोन प्रदान करने वाली कंपनियों की संख्या में बहुत बढ़ोतरी हुई है। शार्ट टर्म लोन पाना कोई कठिन काम नहीं है। सिर्फ 3 दिन में बिजनेस लोन मिल जाता है। जी हां सिर्फ 3 दिन में।

लोन के लिए अप्लाई करने से लेकर वेरिफिकेशन होने, लोन अप्रूवल मिलने और आपके खाते में पैसे आने तक की प्रक्रिया में सिर्फ 3 दिन में लगते हैं। तो अब आप लोन में लगने वाले चक्कर और तमाम कागजी प्रक्रिया को नमस्कार बोलिए। यह प्रक्रिया छोटे एवं मध्यम कारोबार के लिए वरदान है।

शार्ट टर्म लोन कारोबारी की सुविधानुसार होता हैं

यह एक और बेहतरीन कारण है कि आपको शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन लेना चाहिए। शार्ट टर्म लोन को आप अपनी जरूरत के मुताबिक ले सकते है। अपनी सुविधानुसार लोन वापस करने का विकल्प चुन सकते है। ब्याज दर और पुनर्भुगतान के विकल्प भी अपनी सुविधानुसार बदल सकते हैं।

इसे भा जानिएः प्रधानमंत्री योजना: PMJAY योजना में मिल रहा है बिजनेस के लिए लोन

उदाहरण के लिए- यदि किसी कारोबारी के द्वारा 12 महीने के लिए शार्ट टर्म बिजनेस लोन लिया गया हो लेकिन किन्हीं कारणों से कारोबारी अगर 12 महीने में वापस करने में सक्षम नहीं हो पाता है तो वह चाहे तो अपना लोन वापसी के समय को 18 महीने या 24 महीने भी करा सकता है। बस इस बात का ख्याल रखना होता है कि हर महीने की ईएमआई चुकाई जाती रहे।

लांग टर्म लोन से शार्ट टर्म लोन अधिक प्रभावी होता है

इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता है कि कम समय के बिजनेस लोन कारोबार के लिए अत्यंत सहायक होते हैं। बिना किसी परेशानी के बिजनेस की जरूरतों को पूरा करते हैं।

सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि त्वरित लोन चुकाने का समय भी लॉन्ग टर्म लोन से बेहतर साबित होता है ।

जहां तक लॉन्ग टर्म बिजनेस लोन को लंबे में समय में चुकाने के लिए लंबा समय मिलता है तो यहां यह नहीं भूलना चाहिए इससे लोन की लागत बढ़ जाती है और अधिक पैसा चुकाना पड़ता है।

शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन मौसमी प्रभाव से भी बचाते है

कारोबार में उतार- चढ़ाव चलता ही रहता है। उतार- चढ़ाव मौसम से संबंधित भी होता है। हो सकता है कि मौसम से संबंधित उतार- चढ़ाव मामूली हो लेकिन यह कारोबार के लाभ को नुकसान पहुँचाने की क्षमता रखते है।

इसे भी जानिएः बिजनेस चलाने में वर्किंग कैपिटल लोन का होता है महत्वपूर्ण योगदान! जानिए कैसे

कभी- कभी मौसम की वजह से कारोबार बंदी की कगार पर भी आ जाता है। ऐसे में शार्ट टर्म बिजनेस लोन संजीवनी का काम करते है। कारोबार में किसी भी तरह के मौसमी अनिश्चितता से बचने में शार्ट टर्म बिजनेस लोन बहुत उपयोगी होता है।

शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन पूंजी का प्रबंधन करने में भी काम आता है

कभी- कभी कारोबारी अपने बिजनेस की नई शाखा यानी ब्रांच खोलने का विचार करते है लेकिन इस कार्य में धन की जरूरत पड़ती है। कारोबारी के पास धन तो होता है लेकिन पैसा मार्केट में लगा हुआ होता है।

मतलब पैसा होकर भी हाथ में नहीं होता है। ऐसी स्थिति में कारोबारी क्या करेंगे? बिजनेस बढ़ाने का विचार तो छोड़ नहीं सकते। तो ऐसी स्थिति में काम आता है शार्ट टर्म बिजनेस लोन।

इसे भी जानिएः बिज़नेस लोन आसानी से कैसे प्राप्त करें?

इसके अलावा, भी कारोबारी शार्ट टर्म बिजनेस लोन का उपयोग कारोबार के लिए जरूरी उपकरण खरीदने के लिए, कर्मचारियों को सैलरी देने के लिए, इन्वेंट्री मेंटेन रखने के लिए, मार्केटिंग के साथ अन्य दैनिक खर्चो को पूरा करने के लिए कर सकते हैं।

शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन किसी भी इमरजेंसी के समय सुरक्षा प्रदान करते हैं

बिजनेस में हर समय एक सा नहीं होता है। उतार- चढ़ाव का दौर चलता रहता है। किसके जीवन में कब क्या हो जाए कहा नहीं जा सकता है। अगर इन परिस्थितियों से बचने का मुकम्मल इंतजाम नहीं रहेगा तो कारोबार पिछड़ने का डर बना रहेगा।

चूंकि शार्ट टर्म बिजनेस लोन लेने में मात्र कुछ दिन ही लगते है, जिससे यह आशा बनी रहती है कि ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए शार्ट टर्म बिजनेस लोन कारगर साबित होगा और वर्षों की मेहनत से बनाया गया बिजनेस पल भर में बर्बाद नहीं होगा।

शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन की पात्रता है बेहद आसान

बिजनेस लोन की योग्यता (पात्रता) पारंपरिक तरीके से दिए जाने वाले लोन की तुलना बेहद आसान होती है। हलांकि यह लोन देने वाली कंपनियों के ऊपर निर्भर करता है कि वह योग्यता के लिए क्या- क्या जांच करती है।  लेकिन शर्ते बहुत कठिन नहीं होती। सिबिल स्कोर की बात करें तो यह 700 से अधिक होने पर लोन अप्रूव हो जाता है।

किसके लिए शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन सही रहेगा?

यह आवश्यकता और जरूरत के ऊपर निर्भर करता है। अगर आपका बिजनेस है, जिसके विस्तार करने के लिए आपको त्वरित रुप से अपने बिजनेस के लिए धन की जरूरत है तो आपको शॉर्ट टर्म बिजनेस लोन लेने के लिए कदम आगे बढ़ाना चाहिए।  वॉरेन बफे ने सही कहा है-  ‘कीमत वही है जो आप चुकाते हैं। मूल्य वह है जो आपको मिलता है।

बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करें