क्रेडिट कार्ड के बारे में तो बहुत से लोग सुनते हैं लेकिन यह समझ नहीं पता हैं कि Credit Card Kya Hota Hai, तो आइये आपको इस आर्टिकल में जानकारी देते हैं कि Credit Card Kya Hota Hai. Credit Card एक तरह का उधार कार्ड होता है। जिसके आधार पर आप खरीददारी कर सकते हैं और बिल का भुगतान कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड की बिल का भुगतान नियत तारीख तक किया जा सकता है।

Credit Card क्या होता है? विस्तार से जानिए

क्रेडिट कार्ड यानी उधारी खाता। सोचिए जब आपके पास कैश न हो लेकिन आपको खरीदारी करना हो तो आप क्या करेंगे? जवाब सभी का अलग हो सकता है। लेकिन, जिनके पास Credit Card होता है वह बोलेंगे टेंशन नहीं बिल का भुगतान Credit Card से कर देंगे। Credit Card से बिना कैश खरीददारी कर सकते हैं।

यह उधारी खाता की तरह है। इससे आप खरीददारी की बिलों का भुगतान करते रहिए और महीने के अंतिम में एक बार अपने Credit Card की बिल का भुगतान कर दीजिए। 

आज आप को इस लेख में बताऐंगे की क्रेडिट कार्ड क्या होता है (Credit Card Kya Hota Hai) और इसके क्या-२ फायदे है?

क्रेडिट कार्ड क्या है? (What is Credit Card in Hindi)

Credit Card Kya Hai? क्रेडिट कार्ड फाइनेंशियल संस्थानों द्वारा जारी किया जाने वाला एक पतला प्लास्टिक कार्ड है, जो आपको अपनी खरीद के लिए भुगतान करने के लिए प्री-अप्रूव्ड लिमिट से पैसे उधार लेने की सुविधा देता है

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में अंतर

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में मुख्य अंतर ‌यह है कि जब आप डेबिट कार्ड स्वाइप करते हैं, तो पैसे सीधे आपके बैंक अकाउंट से कटते हैं; वहीं दूसरी तरफ, क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करने पर पैसे आपकी प्री-अप्रूव्ड लिमिट से काटे जाते हैं

Credit Card ka Matlab क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को एक ब्याज शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता होती है, अगर वे समय पर अपने बिलों का भुगतान नहीं करते हैं, जबकि डेबिट कार्ड उपयोगकर्ता के लिए, कोई ब्याज दर नहीं ली जाती है क्योंकि बैंक द्वारा कोई राशि उधार नहीं ली जाती है।

अभी बिजनेस लोन पाए

क्रेडिट कार्ड का फायदा (Credit Card Benefits in Hindi)

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का समझदारी से किया गया इस्तेमाल आपके वित्तीय जीवन को बहुत आसान बना देता है

  • नियमित खर्च का प्रबंधन – आप क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की मदद से अपने नियमित खर्च कर सकते हैं| नियमित खर्च के लिए क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का उपयोग करने से आपको इनका हिसाब रखने में भी मदद मिलती है
  • धोखाधड़ी और गलतियों की गुंजाईश कम – डेबिट कार्ड (Debit Card) से ऑनलाइन पेमेंट करना खतरनाक साबित हो सकता है. डेबिट कार्ड से पेमेंट का खतरा इसलिए बड़ा है, क्योंकि इससे कोई एक बार में आपके बैंक खाते से जुड़ी पूरी रकम उड़ा सकता है. इसे वापस आने में काफी समय लग सकता है. क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के मामले में गलती सुधारने के लिए समय मिलता है
  • इमरजेंसी में मददगार  – आपातकालीन स्थिति में क्रेडिट कार्ड काफी मददगार है| बैंक अकाउंट से अधिक पैसे निकालने या लोन प्रोसेस करने में लगने वाले समय की तुलना में क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पैसे का सबसे आसान विकल्प है|
  • बढ़िया क्रेडिट स्कोर – अगर आप क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से पैसे खर्च करें और समय पर उसका पेमेंट करें तो आप बेहतर क्रेडिट स्कोर (Credit Score) बना सकते हैं. यह लंबी अवधि में आपकी काफी मदद करता है खासकर जब आप बिज़नेस लोन या पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करते है | 
See also  बजट 2020 हाइलाइट्स

क्रेडिट कार्ड का लाभ जानिए

क्रेडिट कार्ड के लाभ निम्नलिखित हैं-

  1. पेमेंट में सुविधा हो जाती है
  2. रिकरिंग पेमेंट्स में आसानी होता है
  3. रिचार्ज और टिकट बुकिंग में आसान हो जाता है
  4. इंटरेस्‍ट फ्री क्रेडिट का फायदा मिलता है
  5. रिवॉर्ड्स का फायदा मिलता है
  6. कैशबैक एंड डिस्‍काउंट्स मिलता है
  7. खर्च कर रख सकते हैं हिसाब
  8. क्रेडिट कार्ड रखना है ज्‍यादा सेफ
  9. क्रेडिट स्‍कोर होता है मजबूत
  10. एक्‍स्‍ट्रा बेनेफिट मिलता है

Also Read: सिबिल स्कोर ठीक करने के लिए क्या क्रेडिट कार्ड का उपयोग कैसे करें?

कारोबारियों के लिए क्रेडिट कार्ड की जरूरत

क्रेडिट कार्ड आज के दौर में दैनिक आवश्यकता बन गया है। खरीदारी से लेकर कई जरूरी कार्यों में लोग Credit Card का प्रयोग करते हैं। क्या आप जानते है की Credit Card का कारोबार बढ़ाने में भी उपयोग किया जा सकता है।

आपका सवाल होगा कैसे? तो इसे इस तरह भी समझ सकते है- Credit Card भी एक तरह का लोन ही होता है। यह बात अलग है की यह लोन अग्रिम मिलता है यानी जब आपको जरूरत हो तब आप खरीददारी कर सकते हैं।

कारोबार में भी कुछ ऐसी जरूरतें अचानक आ जाती है, जैसे कोई किसी उपकरण की जरूरत या किसी सामान की जरूरत जिससे कारोबार की उत्पादकता प्रभावित हो रही हो तो इसे किसी भी कीमत पर पूरा करना ही होता है। ऐसी किसी भी जरूरत के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया जा सकता है। सबसे बड़ी बात अगर आप समय से अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान कर रहे है तो आप को बिज़नेस लोन या पर्सनल लोन लेने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

msme loan

Also Read: बिजनेस लोन और क्रेडिट कार्ड: बेहतर कौन?

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Credit Card in Hindi)

शॉपिंग से बिजली के बिल भरने तक हर तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है जरुरत है तो बस उनके बारे में जानने की| आइये जानते है भारत में कितनी तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है और उनकी क्या विशेषताएं है:

भारत में क्रेडिट कार्ड के प्रकार और उनकी विशेषताएं:

  • ट्रैवल क्रेडिट कार्ड – ट्रैवल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप सभी एयरलाइन टिकट बुकिंग, बस और रेल टिकट बुकिंग, कैब बुकिंग और भी बहुत कुछ पर छूट का लाभ उठा सकते हैं. जब भी आप टिकट बुकिंग करते है तो आपको कुछ न कुछ पॉइंट्स मिलते है जो की आप बाद में रिडीम कर सकते है
  • फ्यूल क्रेडिट कार्ड – फ्यूल क्रेडिट कार्ड की मदद से फ्यूल सरचार्ज छूट का लाभ उठाकर आप पेट्रोल पंप के द्वारा चलाये गए ऑफर्स का लाभ उठा सकते है इसके अलावा आप अतिरिक्त रिवॉर्ड प्वॉइंट्स अर्जित कर पुरे वर्ष में काफी पैसे बचा सकते है
  • रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड – इस तरह के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर निश्चित रूप से कोई न कोई रिवॉर्ड (पुरस्कार) मिलता है। कुछ कार्ड पर कैशबैक का ऑफर भी मिलता है। आप कार्ड से कहीं पेमेंट करते हैं, तो आपको एक या दो प्रतिशत का कैशबैक मिलेगा।
  • शॉपिंग क्रेडिट कार्ड – शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से खरीदारी या ट्रांज़ैक्शन पर छूट का लाभ उठाने के लिए पार्टनर स्टोर पर ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीदारी करें. इस कार्ड का उपयोग कर के आप पार्टनर स्टोर के साल भर कैशबैक, डिस्काउंट वाउचर और अधिक का लाभ उठा सकते है
  • सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड – जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर यानी सिबिल स्कोर बहुत खराब हो उनको सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहिए। ख़राब क्रेडिट स्कोर वालों के लिए यह कार्ड बहुत उपयोगी साबित होता है। आप कोई नया खाता खोलते हैं या लोन के लिए अप्लाई करते हैं, तो सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के जरिए अपना क्रेडिट स्कोर सही कर सकते हैं।
  • बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड – जब बहुत ज़्यादा ब्याज या पेनाल्टी से बचने के लिए आप बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। यह आपके मौजूदा क्रेडिट कार्ड के बकाए को कम करने में मददगार होता है। ऐसे कार्ड्स में आपको बकाया चुकाने के लिए 6 से 21 महीने तक मिल जाते हैं। हां, इसके इस्तेमाल में आपको एक बार बैलेंस ट्रांसफर फीस देनी होती है, जो कुल रकम की 5% तक हो सकती है।
See also  Ease of doing business में भारत को शीर्ष 50 देशों में पहुंचाने के लिए PM मोदी ने रखा लक्ष्य

Also Read: क्रेडिट स्‍कोर और सिबिल के बीच क्‍या फर्क होता है? जानिए

किस तरह काम करता है आपका क्रेडिट कार्ड?

क्या आप जानते हैं कैसे काम करता है आपका क्रेडिट कार्ड? आइए इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं

  1. बैंक किस आधार पर देते हैं क्रेडिट कार्ड? – अगर आप बैंक से उधार रकम लेने के बाद उसे चुकाने योग्य हैं, तभी बैंक आपको क्रेडिट कार्ड जारी करते हैं. आप क्रेडिट कार्ड से रकम खर्च कर वास्तव में कार्ड जारी करने वाले बैंक से रकम उधार लेते हैं, जिसे आपको तय समय में चुकाना पड़ता है.
  2. पैसे चुकाने के लिए 60 दिन का समय – अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुकाते तो आपको उस पर जुर्माना भरना पड़ता है| क्रेडिट कार्ड का बिल जेनरेट होने और खरीदारी करने के बीच आपको 50-60 दिन की कर्जमुक्त अवधि मिलती है|

पाए बिजनेस लोन

क्रेडिट कार्ड की शर्तें व नियम

क्रेडिट कार्ड लेते समय बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिये, जो आप के लिए लाभदायक हो सकती है| 

  • शुरुआती और सालाना शुल्क – कुछ ऊंचे रकम वाले क्रेडिट कार्ड को छोड़कर कई आजीवन क्रेडिट कार्ड निःशुल्क दिए जाते हैं। अतः ऐसे क्रेडिट कार्ड ही लेना चाहिए जिसमें कोई भी शुरुआती शुल्क न हो।
  • बकाया राशि हस्तांतरण सुविधा – कुछ ग्राहक क्रेडिट कार्ड को अल्पकाल के लिए ऋण की सुविधा के तौर पर लेते हैं। जब ग्राहक एक क्रेडिट कार्ड से ऋण का बोझ नहीं संभाल पाता, तो वह अपने ऋण अन्य कार्ड में हस्तांतरित कर देता है।
  • ब्याज दर – यदि अल्पकालिक ऋण के तौर पर क्रेडिट ले रहे हैं तो ब्याज दर का अवश्य ध्यान रखना चाहिये। प्रायः यह दर १.३३ से ३.१५ प्रतिशत प्रति महीने की दर से बदलती रहती है और यह विभिन्न क्रेडिट कार्ड पर निर्भर करता है।
  • ऋणावधि – सामान्यतया बैंक २१-५२ दिनों की ऋण अवधि प्रदान करते हैं। यह क्रेडिट कार्ड के प्रकार और लेने-देने की तारीख पर निर्भर करता है। यदि ब्याज दर के बिना ऋण अवधि रहेगी तो उतना ही ज्यादा दिनों तक बिना ब्याज भरे राशि का भुगतान करना पड़ेगा।
  • ऋण सीमा – ऋण सीमा क्रेडिट कार्ड से खर्च की जाने वाली यह अधिकतम राशि होती है।
    ग्राहक सेवा – बेहतर रिश्ते वाले बैंक से क्रेडिट कार्ड लेना ज्यादा फायदेमंद होगा।
  • इनामी अंक और नकदी वापसी – सभी बैंक ग्राहकों को इनामी अंक (क्रेडिट पाइंट) या नकद वापसी (कैश बैक) देकर आकर्षित करने का प्रयास करते हैं। इसलिए जो ग्राहक नियमित तौर पर क्रेडिट कार्ड प्रयोग करते हैं उन्हें इस योजना में शामिल होना चाहिए।
  • खरीदारी की सुविधा – एक अच्छा क्रेडिट वहीं है जिसे देश के साथ-साथ विदेशों में भी दुकानदारों द्वारा स्वीकार्य हो। अधिकांश आउटलेट से संबंधित, छूट की सुविधा और खरीदारी की सुविधाओं से युक्त क्रेडिट कार्ड बेहद फायदेमंद रहता है।

तो अब तक आप यह समझ चुके होंगे कि Credit Card Kya Hota Hai और क्रेडिट कार्ड का उपयोग किस कार्य के लिए और कैसे होता है। क्रेडिट कार्ड से संबंधित अपने प्रश्नों का उत्तर जानिए।

संबंधित प्रश्न और उत्तर 

बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करें

क्रेडिट कार्ड का उपयोग कैसे करें?

1) क्रेडिट कार्ड का उपयोग कैसे करें?
2) रियायती अवधि का लाभ उठाएं
3) सही खरीदारी के लिए सही कार्ड का उपयोग करें
4) एमरज़ेंसी के दौरान पर्सनल लोन का विकल्प चुनें
5) अपनी खरीद को EMI में बदलें
6) सबसे अधिक रिवॉर्ड प्वॉइंट अर्जित करने के लिए ऑनलाइन खरीदारी करें
7) अपने रिवॉर्ड पॉइंट रिडीम करें

क्रेडिट कार्ड कौन जारी करता है?

क्रेडिट कार्ड बैंकों और वित्तीय संस्थानों (बैंक और एनबीएफसी) द्वारा जारी किए जाते हैं। क्रेडिट कार्डधारक इन संस्थाओं से क्रेडिट (पैसे) उधार लेकर खरीदारी या विभिन्न सेवाओं के लिए भुगतान कर सकते हैं। इसके अलावा क्रेडिट कार्ड रिवॉर्ड, कैशबेक, ब्याजमुक्त अवधि पर लोन जैसे आदि लाभ देता है।

See also  PMVVY Vs SCSS: सीनियर सिटीजन के लिए क्या है अच्छा विकल्प, कहां मिलेगा ज्यादा फायदा?
क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे है?

क्रेडिट कार्ड के द्वारा आप खरीदारी यानी ऑनलाइन शोपिंग कर सकते है इसके आलवा आप अपने घर के, फ़ोन के और बिजली के बिल भी क्रेडिट कार्ड से जमा कर सकते है | 

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

1. ट्रैवल क्रेडिट कार्ड – ट्रैवल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप सभी एयरलाइन टिकट बुकिंग, बस और रेल टिकट बुकिंग, कैब बुकिंग और भी बहुत कुछ पर छूट का लाभ उठा सकते हैं.
2. फ्यूल क्रेडिट कार्ड – फ्यूल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप पेट्रोल और डीजल भरवा सकते है जिस पर आप को कुछ रिवॉर्ड पॉइंट्स मिलते है
3. रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड – इस तरह के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर निश्चित रूप से कोई न कोई रिवॉर्ड (पुरस्कार) मिलता है।
4. शॉपिंग क्रेडिट कार्ड – शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से खरीदारी या ट्रांज़ैक्शन पर आपको छूट का लाभ मिलता है
5. सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड – इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड की मदद से यूज़र उचित उपयोग करते हुए अपना क्रेडिट स्कोर बढ़ा सकते हैं
6. किसान क्रेडिट कार्ड – इस क्रेडिट कार्ड से किसान खाद, बीज और कृषि कार्य में काम आने वाली मशीनरी खरीद सकते है साथ ही किसान बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन भी ले सकता है 

क्रेडिट कार्ड में न्यूनतम भुगतान क्या है?

आमतौर पर यह कुल बकाया देय राशि की एक छोटी राशि होती है। न्यूनतम भुगतान करने प, कार्डधारक लेट पेमेंट पेनल्टी से बच सकते हैं, जो क्रेडिट कार्ड पर लगाया जाएगा।

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में क्या अंतर होता है?

क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को एक ब्याज शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता होती है, अगर वे समय पर अपने बिलों का भुगतान नहीं करते हैं, जबकि डेबिट कार्ड उपयोगकर्ता के लिए, कोई ब्याज दर नहीं ली जाती है क्योंकि बैंक द्वारा कोई राशि उधार नहीं ली जाती है।

किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर क्या है?

किसान क्रेडिट कार्ड (kisan credit card) यानि फसल के लिए लिए जाने वाले लोन पर 7 फीसदी की ब्याज दर है लेकिन केंद्र सरकार समय से भुगतान करने वाले किसानों को 3 फीसदी की सब्सिडी देती है।

क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में बताये?

क्रेडिट कार्ड, फाइनेंशियल संस्थानों द्वारा जारी किया गया प्लास्टिक या मेटल कार्ड होता है, जो आपको अपनी खरीद हेतु भुगतान करने के लिए प्री-अप्रूव्ड लिमिट से फंड उधार लेने की सुविधा देता है

क्रेडिट कार्ड से नुकसान क्या है?

एक से अधिक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर भी कई बार आपके कर्ज के जाल में फंसने की संभावना बढ़ जाती है. एक से अधिक कार्ड का मतलब एक से अधिक ड्यू डेट. यदि आप एक बार फिर किसी कार्ड का बिल भरना भूलें, तो आपको भारी ब्याज देना पड़ेगा. इसके साथ ही आपका क्रेडिट स्कोर भी खराब होगा

सबसे बेस्ट क्रेडिट कार्ड कौन सा है?

1) एक्सिस बैंक ऐस क्रेडिट कार्ड
2) Amazon Pay आईसीआईसीआई बैंक क्रेडिट कार्ड
3) HDFC रेगलिया क्रेडिट कार्ड
4) SBI BPCL ऑक्टेन क्रेडिट कार्ड
5) सिम्पली क्लिक एसबीआई (SBI) कार्ड
6) सिटी प्रीमियर माइल्स क्रेडिट कार्ड
7) SBI कार्ड एलीट
8) यस फर्स्ट प्रेफर्ड क्रेडिट कार्ड

क्रेडिट कार्ड कौन ले सकता है?

आपको कम से कम 18 वर्ष का होना चाहिए। चाहे आपह वेतनभोगी या स्व-नियोजित हो, आपके पास अपने क्रेडिट कार्ड बिलों का भुगतान करने के लिए आय का नियमित स्रोत होना चाहिए (न्यूनतम आय सीमा विभिन्न कार्डों के लिए अलग अलग है)। आपकी बैड क्रेडिट हिस्ट्री नहीं होनी चाहिए।

एक्सिस बैंक का टोल फ्री नंबर क्या है?

एक्सिस बैंक का टोल फ्री नंबर 1860 419 5555 है

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

क्रेडिट कार्ड के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट
आधार कार्ड
ड्राइविंग लाइसेंस
मतदाता पहचान पत्र
पासपोर्ट

You May Also Like:

MSME LoanCGTMSEMSME Registration
Udyog AadharMSME Full FormGST Registration
PM SVAnidhi SchemeCIN NumberAmul Franchise
UPI Full FormSAC Code ListCancelled Cheque
UAN NumberManufacturing Business IdeasShop Loan

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number