क्रेडिट कार्ड यानी उधारी खाता। सोचिए जब आपके पास कैश न हो लेकिन आपको खरीदारी करना हो तो आप क्या करेंगे? जवाब सभी का अलग हो सकता है। लेकिन, जिनके पास Credit Card होता है वह बोलेंगे टेंशन नहीं बिल का भुगतान Credit Card से कर देंगे। Credit Card से बिना कैश खरीददारी कर सकते हैं। यह उधारी खाता की तरह है। इससे आप खरीददारी की बिलों का भुगतान करते रहिए और महीने के अंतिम में एक बार अपने Credit Card की बिल का भुगतान कर दीजिए। यह उधार पत्रक एक छोटा प्लास्टिक कार्ड होता है।

क्या होता है क्रेडिट कार्ड

इसे हम मोबाइल पोस्टपेड कनेक्शन की तरह भी समझ सकते हैं। जैसे पोस्टपेड मोबाइल कनेक्शन में महीने भर बात करने की छूट मिल जाती है और महीने के अंतिम में आपको बिल भरना होता है, ठीक उसी प्रकार Credit Card से महीने भर खरीददारी की जा सकती है और महीने के अंतिम में Credit Card की बिलों को भर सकते हैं।

कैसा होता है क्रेडिट कार्ड?

क्रेडिट कार्ड या उधार पत्रक यह एक छोटा प्लास्टिक कार्ड होता है। ठीक एटीएम कार्ड की तरह होता है। यह सरकारी या प्राइवेट बैंक के द्वारा बनाया जाता है। उधार पत्रक बनवाने के लिए बैंक में एप्लीकेशन देना होता है। एप्लिएक्शन के बाद कागज़ी दस्तावेज़ों का वेरिफिकेशन होने के बाद Credit Card बन जाता है।

इस कार्ड के द्वारा व्यक्ति इस वादे के साथ समान खरीद सकते है और सर्विस का लाभ उठा सकते हैं। बाद में वो इन खरीद की गई सामान या ली गई सर्विस का भुगतान करना होता है। उधार पत्रक से खर्च करने के लिए एक लिमिट होती है। यह लिमिट कार्ड लेने वाले व्यक्ति की इनकम के ऊपर निर्भर होती है।

क्रेडिट कार्ड क्यों जरूरी है? बटवे में रखते हैं क्रेडिट कार्ड तो न करें ये गलतियां

क्रेडिट कार्ड के बारे में कुछ रोचक बातें

  • जरूरत पड़ने पर Credit Card से कैश भी निकाला जा सकता है।
  • उधार पत्रक होने से अधिक कैश रखने की जरूरत नहीं पड़ती।
  • Credit Card पर बैंक से कूपन कोड और कैश-बैक ऑफर मिलते रहते है, इससे काफी पैसों की बचत होती है।
  • उधार कार्ड यानी उधार पत्रक होने से किसी भी इमरजेंसी के समय पैसों की दिक्कत नहीं होती है

कारोबारियों के लिए क्रेडिट कार्ड की जरूरत

क्रेडिट कार्ड आज के दौर में दैनिक आवश्यकता बन गया है। खरीदारी से लेकर कई जरूरी कार्यों में लोग Credit Card का प्रयोग करते हैं। क्या आप जानते है की Credit Card का कारोबार बढ़ाने में भी उपयोग किया जा सकता है। आपका सवाल होगा कैसे? तो इसे इस तरह भी समझ सकते है- Credit Card भी एक तरह का लोन ही होता है। यह बात अलग है की यह लोन अग्रिम मिलता है यानी जब आपको जरूरत हो तब आप खरीददारी कर सकते हैं।

कारोबार में भी कुछ ऐसी जरूरतें अचानक आ जाती है, जैसे कोई किसी उपकरण की जरूरत या किसी सामान की जरूरत जिससे कारोबार की उत्पादकता प्रभावित हो रही हो तो इसे किसी भी कीमत पर पूरा करना ही होता है। ऐसी किसी भी जरूरत के लिए उधार पत्रक का उपयोग किया जा सकता है।

https://blog.ziploan.in/hi/sme-sector-ke-liye-sarkar-ki-yojna/

कितने तरह का क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है?- Types of Credit Cards

उधार पत्रक के प्रकार की बात करें तो यह मुख्य रूप से चार प्रकार के होते हैं। कोई स्टूडेंट उधार पटक होता है, कोई गोल्ड Credit Card होता है, कोई Credit Card होता है। क्रेडिट कार्ड के 4 प्रकार निम्न हैं:

  1. रिवॉर्ड Credit Card
  2. लो इंटरेस्ट Credit Card
  3. बैलेंस ट्रांसफर Credit Card
  4. सिक्योर्ड Credit Card

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड

इस तरह के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर निश्चित रूप से कोई न कोई रिवॉर्ड (पुरस्कार) मिलता है। कुछ कार्ड पर कैशबैक का ऑफर भी मिलता है। आप कार्ड से कहीं पेमेंट करते हैं, तो आपको एक या दो प्रतिशत का कैशबैक मिलेगा। कुछ कार्ड पेमेंट करने पर बोनस पॉइंट देते हैं, इन पॉइंट्स से आप भविष्य में कुछ और भी खरीददारी कर सकते हैं। वैसे ज़रूरी नहीं होता कि कार्ड से मिलने वाले ये रिवॉर्ड कैश या कैशबैक के रूप में हों। कई कार्ड्स चेक, गिफ्ट वाउचर, प्लेन टिकट या होटल में फ्री रुकने जैसे रिवॉर्ड भी देते हैं।

लो इंटरेस्ट क्रेडिट कार्ड

जैसा की नाम से लो इंटरेस्ट रेट है यानी कम ब्याज दर। ये ऐसे क्रेडिट कार्ड्स होते हैं, जिन पर यूजर को अधिक ब्याज नहीं चुकाना पड़ता है या प्रोसेसिंग फीस कम देनी पड़ती है। लगभग सभी क्रेडिट कार्ड इसी सिद्धांत पर काम करते हैं कि आपको कार्ड से पेमेंट करने के बाद एक निश्चित समय के भीतर पेमेंट करना होता है। अगर कोई यूजर तय समय में बकाया पैसों का भुगतान नहीं करता है तो उसे उस बकाया रकम पर ब्याज भी भरना होता है। अगर आप अतिरिक्त ब्याज से बचना चाहते हैं तो आपको लो इंटरेस्ट क्रेडिट कार्ड लेना चाहिए इसमें आपको कम से कम एक निश्चित समय तक कम ब्याज दर या कम चार्जेस की सुविधा मिलती है।

बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड

जब बहुत ज़्यादा ब्याज या पेनाल्टी से बचने के लिए आप बैलेंस ट्रांसफर उधार पत्रक ले सकते हैं। यह आपके मौजूदा उधार पत्रक के बकाए को कम करने में मददगार होता है। ऐसे कार्ड्स में आपको बकाया चुकाने के लिए 6 से 21 महीने तक मिल जाते हैं। हां, इसके इस्तेमाल में आपको एक बार बैलेंस ट्रांसफर फीस देनी होती है, जो कुल रकम की 5% तक हो सकती है।

सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड

जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर यानी सिबिल स्कोर बहुत खराब हो उनको सिक्योर्ड उधार पत्रक के लिए अप्लाई करना चाहिए। ख़राब क्रेडिट स्कोर वालों के लिए यह कार्ड बहुत उपयोगी साबित होता है। आप कोई नया खाता खोलते हैं या लोन के लिए अप्लाई करते हैं, तो सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के जरिए अपना क्रेडिट स्कोर सही कर सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना

जिस प्रकार नौकरीपेशा लोगों के लिए Credit Card अपनी जरूरतों को EMI में पूरी करने का माध्यम Credit Card है उसी तरह किसानों के लिए खेती की जरूरतों को पूरा करने के लिए किसान उधार पत्रक। किसान Credit Card योजना का उद्देश्य बैंकिंग व्यवस्था से किसानों को समुचित और यथासमय सरल एवं आसान तरीके से आर्थिक सहायता दिलाना है ताकि खेती एवं जरूरी उपकरणों की खरीद के लिए उनके वित्तीय आवश्यकताओं की पूर्ति हो सके।

इसे अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर करें और  अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। बिजनेस से जुड़ी कोई भी नई अपडेट या जानकारी पाने के लिए हमसे फेसबुकट्वीटर और लिंक्डन पर भी जुड़े।