प्रधानमंत्री उज्जवला योजना भारत के गरीब परिवारों की महिलाओं के चेहरों पर खुशी लाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा 1 मई 2016 को शुरू की गई एक योजना है। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण और शहरी गरीब महिलाओं को मुफ्त एलपीजी गैस सेट कनेक्शन सरकार की तरफ से दिया जाता है।

नरेंद्र मोदी जी 2014 में भारत के प्रधानमंत्री बने। प्रधानमंत्री बनने से पहले वह गुजरात जैसे राज्य के तीन बार मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। गुजरात राज्य को विकसित बनाने में नरेंद्र मोदी जी का अहम योगदान है। जब नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री बने तब देश में कई ऐसे मुद्दे और समस्याएं थीं जो सुरसा की भांति मुंह बाएं खड़ी थीं।

तत्कालीन समय में जो प्रमुख समस्या थी उनमें छोटे और मध्यम श्रेणी के उद्योग का बंद होना, नया कारोबार शुरु करने के लिए कारोबारियों का सामना लाल फीताशाही से होना और कारोबारियों के लिए बैंकों से लोन न मिलना और गरीब परिवार की महिलाओं का चूल्हे पर धुएं में खाना बनाने की समस्या जैसी समस्या प्रमुख चुनौती थी।

नरेंद्र मोदी ने इन सभी समस्याओं के बारें में समझा और इन सभी समस्याओं को जड़ से खत्म करने का निर्णय लिया। मोदी सरकार द्वारा समस्याओं का समाधान योजना बनाकर किया जाना तय किया गया।

इसी कड़ी में नया कारोबार शुरु करने के लिए अफसरों की लाला फीताशाही समाप्त हुई। बिजनेस शुरु करने के लिए ई-अप्रूवल सिस्टम लाया गया। जो लघु एवं मध्यम कारोबार फंड की कमी से जूझ रहे थे उनकों फिर से जीवित करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना शुरु की गई, और गरीब परिवार की महिलाओं को धुएं से बचाने के लिए उज्ज्वला योजना शुरु की गई।

See also  PAN कार्ड का स्टेटस कैसे चेक करते हैं?

अभी बिजनेस लोन पाए

उज्ज्वला योजना क्या है ?

यह योजना गरीब महिलाओं के लिए एक वरदान की तरह है। उज्ज्वला योजना के तहत उन सभी महिलाओं को एक गैस कनेक्शन के साथ गैस सेट दिया जाता है जो महिलाएं खुद से गैस कनेक्शन नहीं करा सकती हैं और गैस चूल्हा नही खरीद सकती हैं।

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई उज्ज्वला योजना से गरीब महिलाओं को मिट्टी के चूल्‍हे से आजादी दी जाती है। उज्ज्वला योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में खाना पकाने के लिए उपयोग में आने वाले जीवाश्म ईंधन की जगह एलपीजी के उपयोग को बढ़ावा देना है। योजना का एक मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना और उनकी सेहत की सुरक्षा करना भी है।

इस योजना को लागू करने के लिए और गरीब परिवार की महिला सदस्यों को मुफ्त रसोई गैस (एलपीजी) कनेक्शन मुहैया कराने के लिए केन्द्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 8,000 करोड़ रुपये की योजना को मंजूरी दी गई है।

उज्ज्वला योजना की आवेदन प्रक्रिया

मोदी सरकार द्वारा योजना लागू करते हुए इस बात का ध्यान रखा गया है कि योजना के तहत लाभ लेने के लिए गरीब महिलाओं को अधिक समस्या का सामना नहीं करना पड़े, इसीलिए उज्ज्वला योजना की आवेदन प्रक्रिया काफी आसान बनाई गई है।

उज्ज्वला योजना में रसोई गैस प्राप्त करने के लिए आवेदन करना बहुत ही आसान है। हालांकि इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए कुछ पात्रता मानदंड भी निर्धारित किया गया है। उज्ज्वला योजना की पात्रता कुछ इस तरह की है:

See also  घर बैठे कैसे प्राप्त करें बिजनेस लोन?

उज्ज्वला योजना की पात्रता

  • आवेदक का गरीबी रेखा से नीचे का यानी बीपीएल श्रेणी का होना अनिवार्य है।
  • आवेदक की उम्र 18 साल या इससे अधिक होनी चाहिए।
  • आवेदक के घर में किसी के नाम से पहले से ही कोई भी एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए।
  • आवेदक के पास बीपीएल प्रमाण पत्र अथवा बीपीएल  राशन कार्ड का होना अनिवार्य है।
  • आवेदक द्वारा आवेदन फॉर्म में दी गयी सभी जानकारी ठीक होनी चाहिए।

जो लोग उज्ज्वला योजना के लिए बनाए गये पात्रता सूची में होते हैं उन्हें उज्ज्वला योजना का फॉर्म भरने के से पहले कुछ कागजी दस्तावेज भी इक्कठा करना होता है, क्योंकि उज्ज्वला फॉर्म के साथ कुछ जरूरी कागजात भी जमा करना करना होता है। उज्ज्वला योजना का लाभ लेने के लिए इन कागजातों की जरूरत पड़ती है:

उज्ज्वला योजना के लिए जरूरी कागजात

  1. पंचायत अधिकारी या नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा अधिकृत बीपीएल प्रमाणपत्र
  2. बीपीएल राशन कार्ड
  3. एक पासपोर्ट साइज फोटो
  4. एक फोटो आई डी जैसे की आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र / ड्राइविंग लाइसेंस / लीज करार / टेलीफोन / बिजली या पानी का बिल / पासपोर्ट में से किसी एक की फोटोकॉपी
  5. राजपत्रित अधिकारी द्वारा सत्यापित स्व-घोषणा पत्र
  6. पता प्रमाण पत्र: फ्लैट आवंटन / कब्ज़ा पत्र / आवास पंजीकरण दस्तावेज / एलआईसी पालिसी में से किसी एक की फोटोकॉपी
  7. बैंक / क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट

इस तरह करें उज्ज्वला योजना के लिए आवेदन

इच्छुक उम्मीदवार जो इस योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन चाहते हैं उन्हें उज्ज्वला योजना का आवेदन पत्र एलपीजी वितरण केंद्र से मुफ्त में लेकर या ऑनलाइन डाउनलोड करके भरकर जमा करना होता है।

See also  सब्सिडी की पूरी जानकारी: क्या है और किसको मिलता है?

आपको जानकारी के लिए बता दें कि उज्ज्वला योजना का फॉर्म 2 पन्नें का होता है। इस दो पन्नें के आवेदन पत्र में मांगी गयी सभी जानकारी जैसे कि नाम, पता, आधार कार्ड नंबर, जन धन/बैंक खाता संख्या इत्यादि भरकर अपने नजदीकी एलपीजी वितरण केंद्र में जमा कर देना होता है।

इस तरह देखा जाए तो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश के हर नागरिक के लिए खास योजना बनाकर उनका उद्धार करने का काम किया जा रहा है। मुद्रा योजना के तहत जहां कारोबारियों को तीन कैटेगरी में 10 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे दिया जाता हैं।

यहां पर आपको जानकारी देना चाहेंगे कि देश के कारोबारियों को आर्थिक सहायता के रुप में देश की प्रमुख नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी – एनबीएफसी ZipLoan द्वारा 5 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे सिर्फ 3 दिन* में दिया जाता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

स्टैंड अप योजना के तहत 1 करोड़ तक का बिजनेस लोन एससी – एसटी कैटेगरी के लोगों के साथ साथ महिलाओं को नया कारोबार शुरु करने के लिए दिया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत देश की बेटियों का भविष्य सुरक्षित करने का प्रयास कोय जा रहा है।

श्रमयोगी मानधन योजना के तहत देश के असंगठित कामगारों के लिए पेंशन का इंतजाम किया जा रहा है। किसान विकास पत्र के जरिये देश के किसानों को आर्थिक रुप से सक्षम करने का प्रयास किया जा रहा है।

इस तरह हम कह सकते हैं कि देश के प्रधानमंत्री जी द्वारा देश के सभी लोगों का विकास करने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number