भारत देश के विकास में उद्योग जगत का काफी महत्वपूर्ण योगदान है। यही कारण है कि उद्योगों को सुविधा और उनके विस्तार के लिए भारत सरकार विभिन्न सरकारी योजनाएं बना रही है। भारत सरकार की इन्हीं योजनाओं में से एक है- उद्योग आधार. इसे आधार उद्योग लोन के नाम से भी जाना जाता है. इस योजना के अंतर्गत आप लघु उद्योगों से लेकर मध्यम उद्योगों का उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन (udyog aadhar registration) करा कर के सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। उद्योग आधार योजना (udhyogaadhar) सरकार की ओर से नए Entrepreneurs के लिए एक नया सकारात्मक कदम है जिसके विषय में आज हम आपको पूरी जानकारी देंगे।

यह भी पढ़ें:- Excise Duty क्या होती है और ये कितने प्रकार की होती है, जानिए

उद्योग आधार

उद्योग आधार योजना क्या है?

आज के समय में आप कोई भी बिजनेस करें आपको यह जानना ही चाहिए कि उद्योग आधार योजना (udhyogaadhar)क्या है? पहले किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए Registration Process बहुत ही मुश्किल हुआ करता था। पहले बिजनेस को शुरू करने के लिए दो फॉर्म भरे जाता थे- EM-1(Entrepreneurs Memorandum 1) और EM-2(Entrepreneurs Memorandum 2) इन दोनों तरीके के फॉर्म्स के साथ 11-12 प्रकार के अन्य forms भी भरे जाते थे।

यह भी पढ़ें:- One Person Company क्या है और इसके लिए कैसे रजिस्टर करें?

लेकिन अब सरकार ने MSME (Ministry of Micro, Small & Medium Enterprises) की मदद से Udyog Aadhaar, इसे आधार उद्योग लोन योजना के नाम भी जानते हैं, को लोगों के लिए ऑनलाइन ला कर इसको बेहद आसान कर दिया है। इसकी मदद से आप अपने छोटे से लेकर मध्यम लागत के व्यापार को ऑनालाइन कुछ ही मिनटों में udyog aadhar registration करके अपना Registration Acknowledgement पा सकते हैं।

उद्योग आधार

यह भी पढ़ें:- छोटे कारोबारियों की चांदी, पीएम मोदी करेंगें विशेष सुविधा पैकेज का ऐलान

बिना कोलैटरल बिजनेस लोन्स

उद्योग आधार(Udhyog Aadhar)योजना की पृष्ठभूमि-

सन 2006 में देश की तात्कालिक सरकार ने संसद में एक अधिनियम पास करा कर इस अधिनियम को अमल में लाया था। इस अधिनियम के तहत सरकार ने MSME उद्योगों को वैश्विक स्तर पर लाने और उनमें प्रतियोगिता की भावना लाने की कोशिश की थी। जिसकी मदद से उद्योगों का विस्तार हुआ था और देश की जीडीपी में भी वृद्धि हुई थी।

उद्योग आधार

यह भी पढ़ें:- MSME कारोबारियों को 59 मिनटों में मिलेगा 1 करोड़ रुपए तक का लोन

कैसे करें रजिस्ट्रेशन(How to Do Udyog Aadhar Registration)

उद्योग आधार (Udhyog Aadhar) एक ऐसा ऑनलाइन पोर्टल है, जो सरकार ने Small & Medium Business Owners की मदद के लिए शुरु किया है। जिसकी मदद से आप अपने आधार कार्ड नंबर की मदद से अपने बिजनेस को Register कर सकते हैं। यानी udyog aadhar registration ऑनलाइन कर सकते हैं. आप कैसे उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन के लिए register कर सकते हैं उसका पूरा process हमने नीचे दिया हुआ है. इसी साइट से आप अधिक udyog aadhaar acknowledgement भी प्राप्त कर सकते हैं. –

    1. सबसे पहले Udhyog Aadhaar (MSME) के Official Website पर जाएँ। उसके लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें- http://udyogaadhaar.gov.in/UA/UAM_Registration.aspx

    2. जिसके बाद आपको बाएँ तरफ दो बॉक्स मिलेंगे – 1. आधार संख्या – इसमें आप अपना आधार कार्ड का नंबर दर्ज करें और 2. उद्यमी का नाम – अपना नाम जो आधार कार्ड में लिखा है उसे दर्ज करें। यह दोनों बॉक्स भरने के बाद Validate & Generate OTP button पर क्लिक करें।उद्योग आधार

    3. उसके कुछ सेकंड के बाद आपके आधार कार्ड से लिंक हुए मोबाइल नंबर पर आपको एक OTP प्राप्त होगा और Browser के display पर एक नया Tab खुलेगा वहां पर आपको प्राप्त हुए OTP को डालना है। उसके बाद आपको उसी पेज पर एक नया फॉर्म दिखेगा जिसे आपको पूरा ध्यान से भरना होगा। आपको कैसे ये फॉर्म कैसे भरना हैं चलिए आपको बताते हैं।उद्योग आधार

    4. इसके बाद आपको नंबर 3 पर सामाजिक वर्ग जैसे आप General, SC, ST, OBC में से अपना वर्ग Select कर लें। नंबर 4 में आपको Gender चुनना है। नंबर 5 में आपको शारीरिक रूप से विकलांगता की जानकारी में हाँ या ना को चुनना होगा। नंबर 6 में उद्यम का नाम – यहाँ आपको अपनी कंपनी या व्यापार का नाम लिखनागा जिसके नाम पर Registration करवाना चाहते हों।

    5. अगले 7वें नंबर पर संगठन का प्रकार में आपको आपका Organisation किसी प्रकार है ऊपर दिए हुए List में से चुनना होगा।

      अभी बिजनेस लोन पाए

    6. उसके बाद नंबर 8 में पैन संख्या की जगह पर आपको अपना PAN CARD का नंबर दर्ज करना होगा और उसके नीचे 9 नंबर पर संयंत्र के स्थान में आपको अपने कंपनी के फैक्ट्री या उत्पादन  का पता लिखना होगा।

    7. अगले स्टेप में आपको नंबर 10 में अधिकारिक पता में जहाँ आपके कंपनी का ऑफिस है वहां का पता डालिए। उसके बाद मोबाइल नंबर दर्ज करें और 11वें नंबर पर उद्यम के प्रारंभ की तिथि में जिस आपने अपना कारोबार शुरू किया उसका तारीख Calendar के button पर क्लिक करके दर्ज कर दें।

    8. उसके बाद बरी आती है 12. EM1/EM2/SSI/UAM में से अगर आपने किसी भी प्रकार का FORM अगरहले से ही अपने व्यापार के लिए आवेदन किया है, तो चुनें या अगर आप पहली बार apply कर रहे हो तो N/A को चुनें। 13वें नंबर पर IFSC Code अपने बैंक का दर्ज करें और उसके नीचे अपने बैंक खता की संख्या अच्छे से दर्ज़ करें। नंबर 14 में इकाई का प्रमुख गतिविधि में आप को अपनेअपार का मुख्य कार्य चुनना होगा जैसे अगर आप कुछ बनाते हैं तो Manufacturing को चुनें अगर आप कुछ नहीं बनाते हैं और कुछ सेवा प्रदान करते हैं तो Services को चुनें। नंबर 15 में NIC Code को Skip कर दें क्योंकि नीचे के Steps को चुनने के यह फॉर्म अपने आप NIC Code प्रदान कर देता है। उसके बाद नीचे के दिए हुए 3 Boxes में अपने कारोबार को सही तरीके सेर आप NIC Code पा सकते हैं।

    9. उसके बाद अंत में आपको नंबर 16. व्यक्ति नियोजित में जितने भी लोग आपके कंपनी या व्यापार में जुड़े हुए हैं उनकी संख्या दर्ज करना होगा। उसके बाद नंबर 17 में निवेश में जितना भी आपने अपने व्यापार में लगाया है उसी राशी लाखों की गणना में लिखना होगा। सोचिये आपने अपने व्यापार में 2 लाख रूपये निवेश किया है तो 2 लिख दें। नंबर 18 में उसके बाद इस स्टेप में आपको DIC (District Industry Center) का नाम दिखेगा। अंत में आपको SUBMIT पर Click करने होगा। फॉर्म कम्पलीट भर दिए जाने के बाद और उसके अप्रूव हो जाने के बाद आपको एक udyog aadhar card मिलेगा. इस udyog aadhar card के लिए आप किसी भी बैंक में बिजनेस लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं | उसके बाद आपको दोबारा आपका OTP पूछेगा उसे दर्ज करने के बाद आपको नीचे दिए FORM के जैसा एक UDYOG AADHAAR ACKNOWLEDGEMENT FORM प्राप्त होगा, इसे प्रिंट कर अपने पास रख लीजिए. इस udyog aadhaar acknowledgement फॉर्म में उद्योग आधार योजना से संबंधित सभी जरूरी जानकारियां दी गई होती है.

उद्योग आधार FAQs

उद्योग आधार क्या है?

उद्योग आधार. इसे आधार उद्योग लोन के नाम से भी जाना जाता है. इस योजना के अंतर्गत आप लघु उद्योगों से लेकर मध्यम उद्योगों का उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन (udyog aadhar registration) करा कर के सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

उद्योग आधार से क्या लाभ है?

उद्योग आधार के फायदें निम्न हैं:
1. योजना का रजिस्ट्रेशन ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन भी होता है।
2. किसी भी सरकारी योजना का लाभ सबसे पहले मितला है।
3. एक व्यक्ति/एक कारोबार को एक ही बार उद्योग आधार नंबर मिलता है।
4. प्रक्रिया काफी लचीली है।
5. रजिस्ट्रेशन बिना कोई शुल्क दिए होता है।

उद्योग आधार कैसे चेक करें?

उद्योग आधार नंबर के लिए व्यापारियों को MSME मंत्रालय की वेबसाइट www.msme.gov.in पर “उद्योग आधार ऑप्शन” में जाकर अपनी आवश्यक दर्ज करनी होगी, जिसके बाद ऑनलाइन ही उद्योग आधार क्रमांक मिल जाएगा।

उद्योग आधार नंबर क्या होता है?

उद्योग आधार मेमोरेंडम (यूएएम) एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत आप अपने उद्योग का पंजीकरण सिर्फ एक पेज फॉर्म भरकर करवा सकते हैं, जिसको भारत के एमएसएमई विभाग द्वारा चलाया गया है|

लघु उद्योग में कौन कौन से उद्योग आते हैं?

लघु उद्योग की लिस्ट (Laghu Udyog List in Hindi)
1- हर्बल सामान जैसे साबुन, तेल आदि बनाना
2- हाथ से बने चॉकलेट बनाना
3- कुकी व बिस्कुट बनाना (Parle कंपनी की शुरुआत भी ऐसे ही हुई थी)
4- देशी माखन, घी व पनीर बनाना और डिब्बा बंद कर बेचना
5- मोमबत्ती व अगरबत्ती बनाना
6- टॉफ़ी व चीनी की मिठाई बनाना
7- सोडा व अलग फ्लेवर्ड ड्रिंक बनाना

लघु उद्योग के लिए लोन कैसे ले?

भारत सरकार और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI ) ने सूक्ष्म और लघु उद्यमों ( CGTMSE ) के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट की स्थापना की है। इस योजना के तहत प्लांट या मशीन आदि के लिए 25 लाख रुपये से लेकर 5 करोड़ रुपये तक का लोन ले सकते हैं। लघु उद्योग की सबसे खास बात है कि इसके लिए आपको बहुत कम निवेश करना पड़ता है।