ठंडा मतलब कोका कोला। आपने यह वाक्य अनेको बार सुना होगा। इसके बाद जब भी ठंडा से संबंधित बात होती होगी, तो आपके मन में कोका कोला का ख्याल जरुर आया होगा। यही होता है टैगलाइन। टैगलाइन (अथवा टैग लाइन) वस्तुतः एक संक्षिप्त पाठ होता है जोकि एक सोच को प्रदर्शित करता है या जिस हेतु इसे बनाया गया होता है उसे यह नाटकीय प्रभाव के रूप में दर्शाता है। जानिए टैगलाइन के बारे में विस्तारपूर्वक।

टैगलाइन का अर्थ जानिए

टैग का अर्थ पहचान से है। लाइन का अर्थ पंक्ति से है। इस प्रकार टैगलाइन का अर्थ पहचान पंक्ति हो जाता है। अब सवाल उठता है कि किस चीज का पहचान? पहचान किसी भी चीज की हो सकता है। जैसे किसी प्रोडक्ट की अलग पहचान करना हो या किसी कंपनी की अलग पहचान स्थापित करना हो। इसके लिए टैग लाइन एक कारगर उपाय है।

इसे भी जानिएः विज्ञापन के इन 5 शानदार तरीकों को अपनाकर कीजिए ऑनलाइन बिजनेस

टैगलाइन बहुत ही स्पष्ट बताती है कि अमुक प्रोडक्ट या कंपनी कैसे अन्य से अलग है। टैगलाइन का उपयोग मार्केटिंग करने के लिए किया जाता है। मार्केटिंग ही वह जरिया होता है, जिसके जरिए यह साबित किया जा सकता है कि प्रोडक्ट यूनिक और शानदार है।

टैगलाइन क्या होता है? जानिए

सीधे शब्दों में कहा जाय तो टैगलाइन किसी प्रोडक्ट या कंपनी को परिभाषित करने वाला शब्द या वाक्य होता है। इसे पंचलाइन भी कह सकते हैं। जिसका इस्तेमाल विज्ञापन, मार्केटिंग और खुद को यूनिक साबित करने में किया जाता है।

टैगलाइन का उद्देश्य एक सकारात्मक और यादगार पंचलाइन बनाना है। जो आपके ग्राहक के मन में बैठ जाय। ग्राहक उस टैगलाइन को इस कदर याद कर लें, कि जब भी उससे मिलता – जुलता कुछ दिखे तो, उन्हें उस विशेष प्रोडक्ट की ही याद आए।

इसे भी जानिएः कोरोना काल में इस प्रकार से बिजनेस का वर्किंग कैपिटल मैनेज करें

इसके अतिरिक्त टैगलाइन एक ब्रांडिंग स्लोगन का एक प्रकार है। जो आमतौर पर मार्केटिंग कंटेंट और विज्ञापन में उपयोग किया जाता है। टैगलाइन की अवधारणा के पीछे का विचार एक यादगार पंचलाइन बनाना है जो किसी ब्रांड या प्रोडक्ट को अपने भीतर समेटेगा या किसी प्रोडक्ट के दर्शकों की स्मृति को सुदृढ़ करेगा। यहां पर बैंकिंग सेक्टर की टैगलाइन बताया जा रहा है, जिन्हें आपने अक्सर देखा या सुना होगा।

बैंकिंग सेक्टर की टैगलाइन

बैंकिंग सेक्टर की टैगलाइन निम्नलिखित हैं-

सरकारी बैंकों की टैगलाइन

  • इलाहाबाद बैंक का टैगलाइन है- भरोसे की एक परंपरा
  • आंध्र बैंक का टैगलाइन है- देशवासियों का बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा का टैगलाइन है- भारत का अंतर्राष्ट्रीय बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया का टैगलाइन है- रिश्तों की जमापूंजी
  • बैंक ऑफ महाराष्टट्र का टैगलाइन है- एक परिवार, एक बैंक
  • केनरा बैंक की टैगलाइन है- एकसाथ, हम कर सकते है
  • सेट्रल बैंक ऑफ इंडिया का टैगलाइन है- सर्व जहां सुखियो भवंतु
  • देना बैंका का टैगलाइन है- विश्वस्त पारिवारिक बैंक
  • आईडीबीआई बैंक का टैगलाइन है- आओ सोचे बड़ा
  • इंडियन बैंक का टैगलाइन है- आपका अपना बैंक
  • इंडियन ओवरसीज बैंक का टैगलाइन है – आपकी प्रगति का सच्चा साथी
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का टैगलाइन है- जहां प्रत्येक कर्मचारी प्रतिबध्द है
  • पंजाब और सिंध बैंक की टैगलाइन है- जहां सेवा ही जीवन ध्येय है
  • पंजाब नेशनल बैंक का टैगलाइन है – भरोसे का प्रतीक
  • सिंडिकेट बैंक का टैगलाइन है- विश्वसनीय, मैत्रीपूर्ण
  • भारतीय स्टेट बैंक का टैगलाइन है- सिर्फ बैंकिंग और कुछ नहीं
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का टैगलाइन है- अच्छे लोग, अच्छा बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का टैगलाइन है- वह बैंक जो आप से शुरु होता है
  • यूको बैंक का टैगलाइ है- सम्मान आपके विश्वास का
  • विजया बैंक का टैगलाइन है – आपका भरोसेमंद साथी

प्राइवेट बैंको का टैगलाइन

  • ऐक्सिस बैंक का टैगलाइन है- बढ़ती का नाम जिन्दगी
  • फेडरल बैंक का टैगलाइन है- आपका सच्चा बैंकिंग पार्टनर
  • एचडीएफसी बैंक का टैगलाइन है- बैंक आपकी मुठ्ठी में
  • आईसीआईसीआई बैंक का टैगलाइन है- हम हैं न
  • कोटक महिंद्रा बैंक का टैगलाइन है – अब कोना कोना कोटक

टैगलाइन की विशेषता जानिए

जैसा कि पहले बताया गया है कि टैगलाइन किसी प्रोडक्ट या कंपनी को अन्य से अलग करता है। उसी क्रम में जानिए टैगलाइन की विशेषता-

  • प्रोडक्ट की मार्केंटिंग करने के लिए या विज्ञापन करने के लिए टैगलाइन से बेहतर कुछ भी नहीं होता है।
  • ब्रांड, कंपनी या प्रोडक्ट का उद्देश्य या उसके महत्व को बताने के लिए टैगलाइन का उपयोग किया जाता है। यह एक शानदार माध्यम होता ह।
  • लोगों का ध्यान प्रोडक्ट की ओर आकर्षित करने और प्रोडक्ट को याद रखने के लिए टैगलाइन का उपयोग किया जाता है।
  • ग्राहकों को प्रोडक्ट की ओर खींचने के लिए टैगलाइन का उपयोग किया जाता है।
  • ब्रांड बनाने में टैगलाइन का महत्वपूर्ण योगदान होता है।

टैगलाइन कैसे बनता है? जानिए

टैगलाइन बनाना आसान भी है और बहुत कठिन भी है। कभी – कभी बहुत सोचने के बाद भी सही टैगलाइन नहीं बन पाता है। जबकि कई बार अपने आस – पास देखकर ही शानदार टैगलाइन का निर्णाण हो जाता है। टैगलाइन बनाने के लिए कुछ नियमों का पालन करना चाहिए, जैसे-

  • टैगलाइन 3 से 5 शब्दों के बीच होना चाहिए। 5 से अधिक तो कभी भी नहीं।
  • टैगलाइन सरल और संक्षिप्त होना चाहिए
  • टैगलाइन को वर्णनात्मक होना चाहिए
  • टैगलाइन को ऐसा होना चाहिए जिससे प्रोडक्ट या कंपनी की पहचान साबित होती हो।
  • टैगलाइन को आकर्षक होना चाहिए।
  • और टैगलाइन ऐसा होना चाहिए, जिसे हर कोई बहुत आसानी से याद कर ले।

इसे भी जानिए- ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्या है और आपके बिजनेस को कैसे सहयोग कर सकता है? जानिए