भारत की जनसँख्या वर्तमान में सवा सौ करोड़ से भी अधिक है। इतनी बड़ी जनसँख्या को जीविकापार्जन के लिए रोजगार चाहिए ही चाहिए। किसी भी स्थिति में यह संभव नहीं है कि सरकार की तरफ से सभी नागरिकों को नौकरी का अवसर उपलब्ध हो सके।

लेकिन, लोगों को जिंदगी जीने के लिए रोजगार तो चाहिए ही होगा। ऐसे में जीविकापार्जन का साधन बनता स्वरोजगार और प्राइवेट सेक्टर की नौकरियां। बहुत से लोग खुद का बिजनेस करने को प्राथमिकता देते हैं। ऐसे लोगों का यह मानना होता है कि किसी और की नौकरी करने से बेहतर है – अपना खुद का बिजनेस करना।

इसे भी जानिए: ऑनलाइन बिजनेस शुरु करना चाहते हैं? जानिए 5 महत्वपूर्ण जानकारियां

भारत में बिजनेस तो बहुत से लोग करते हैं लेकिन बिजनेस में सफलता बहुत कम लोगों को प्राप्त होती है। बाकी लोग एक सामान्य बिजनेसमैन बनकर रह जाते हैं। जो लोग सामान्य बिजनेसमैन बनकर रह जाते हैं, वह लोग चाहें तो एक सफल कारोबारी बन सकते हैं।

सफल बिजनेसमैन बनने के लिए बहुत कुछ अलग या यूनिक नहीं करना होता है, बल्कि सही समय पर सही फैसला लेकर आगे बढ़ना होता है। आज हम इस आर्टिकल में सफल बिजनेसमैन बनने के लिए 5 ऐसे अचूक तरीकों के बारें में बताने जा रहे हैं, जिसका पालन करके कोई भी सामान्य बिजनेसमैन एक सफल कारोबारी बन सकता है।

टेक्नोलॉजी को साथी बनाइए

आज का समय टेक क्रांति का समय है। आज के दौर में जो कारोबारी टेक्नोलॉजी से दूर भागेगा तो समझिये कि उसका ग्राहक भी उससे दूर भागेगा। बिजनेस में टेक्नोलॉजी अपनाने से तात्पर्य है कि जो भी मार्केट में नई टेक्नोलॉजी आये उसे अपनाना चाहिए।

डिजिटल पेमेंट सिस्टम अपनाइए

बड़े शहरों में अब अधिकतर डिजिटल पेमेंट ही करना चाहते हैं। लोग अब अपने बटुए में उतना ही कैश लेकर चलना चाहते हैं, जितने में उनका काम चल जाए। इसके अतिरिक्त जब लोग कोई खरीददारी करते हैं तो उसका पेमेंट अपने मोबाइल फोन या कार्ड द्वारा ही करना चाहते हैं।

इसे भी जानिए: बिजनेस बढ़ाने के लिए कहाँ से मिलेगा पैसा? जानिए 5 तरीके

अब जो बिजनेसमैन अपने यहां डिजिटल पेमेंट सिस्टम नहीं रखेगा उसके यहां वह ग्राहक कम ही खरीददारी करना पसंद करेंगे, जो डिजिटल पेमेंट करते हैं। ऐसे में उस कारोबारी के यहां ग्राहक संख्या कम हो सकती है। आपको बता दें कि अब डिजिटल पेमेंट सिर्फ शहरों के लिए एक लक्जरी नहीं रह गया है बल्कि यह ग्रामीण इलाकों में भी बहुत तेजी से लोगों की जरूरत बनता जा रहा है।

डिजिटल पेमेंट का चलन इसलिए भी बढ़ रहा है क्योंकि समय – समय पर डिजिटल पेमेंट कम्पनियां बोनस, गिफ्ट कार्ड और कैश बैक की सुविधा भी प्रदान करती रहती हैं। इससे ग्राहकों का फायदा होता है। इसलिए हर कारोबारी को अपने यहां डिजिटल पेमेंट की सुविधा रखना चाहिए।

डिजिटल वाटमाप सिस्टम लगाना

कोई भी बिजनेसमैन तभी बड़ा होता है और सफल कहलाता है जब उसपर उसके ग्राहकों का विश्वास स्थापित हो। ग्राहक यह मानकर चले कि उनको सही वजन की सामान मिल रही है। इसमें कहीं किसी तरह की कोई दिक्कत वाली बात नहीं है।

डिजिटल वाटमाप की जरूरत अधिकतर किराना की दुकानों पर और जनरल स्टोर के लिए होती है। किराना स्टोर पर जब ग्राहक जाता है तो वह चाहता है कि जो भी वस्तु उसे दी जाए, उस वस्तु का वजन सही हो। ऐसे में अगर दुकानदार अंदर से कोई वस्तु तौलकर लाता है तो ग्राहक उसपर संदेश करते हैं।

इसे भी जानिए: नरेंद्र मोदी से सीखिए बिजनेस के ये 5 मंत्र

वहीं अगर दुकान के काउन्टर पर ही डिजिटल वाटमाप की मशीन लगी तो और ग्राहक के सामने ही सामान की तौल हो रही तो ग्राहक का विश्वास बढ़ता है। इस तरह ग्राहक के मन में ऐसी कोई भावना नहीं रह जाती है कि उसे सामान कम वजन का मिल रहा है। इस तरह दुकानदार की क्रेडिबिलिटी बढ़ती है और बिजनेस बढ़ता है। जब बिजनेस बढ़ता है तो बिजनेसमैन खुद ब खुद सफल घोषित कर दिया जाता है।

बिजनेस का प्रचार करना है बहुत जरूरी

सोचिये कि आप अपने इलाके के सबसे बेहतरीन बिजनेसमैन हैं और बिल्कुल सही दाम पर सामान बेचते हैं। लेकिन आपको कोई नहीं जानता तो क्या बिजनेस चलेगा और बिजनेस बढ़ेगा? इसका उत्तर होगा – नहीं। क्योंकि जब दिखेगा नहीं तो बिकेगा नहीं। ऐसे में क्या करना चाहिए?

ऐसे में बिजनेस का प्रचार करना चाहिए। जी हां, प्रचार ही वह माध्यम है, जिसके जरिये आप अपने अपने बिजनेस को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा सकते हैं। शुरुवात में प्रचार करने का सस्ता माध्यम चुनना चाहिए। जैसे पम्फलेट वितरित करवाना, स्थानीय अख़बारों में विज्ञापन देना, अपने इलाके में बैनर लगवाना और जरूरत पड़े तो फेसबुक पर कास्टिमाइज करके सिर्फ अपने इलाके में ऐड चलाना।

इसे भी जानिए: सिर्फ अपने शहर में बिजनेस का प्रचार कैसे करें ?

इस तरह की गतिविधि के द्वारा बिजनेस के के बारे में प्रचार किया जा सकता है। बिजनस का प्रचार करने से बड़ा फायदा यह होगा कि लोगों को आपके बिजनेस के बारे में पता चलेगा और वह आपके कारोबार पर आयेंगे जिससे आपकी बिक्री बढ़ेगी। जब बिक्री बढ़ेगी तो स्वाभविक तौर पर आप सफल कारोबारी बनने की दिशा में अग्रसर होंगे।

बिजनेस लोन लेकर बिजनेस को बढ़ाना है महत्वपूर्ण

कई बार ऐसा भी होता है कि  कारोबारी अपना बिजनेस को बढ़ाना चाहते हैं लेकिन उनके सामने धन की समस्या हो जाती है। जिसके चलते वह चाहते हुए भी अपना कारोबार बढ़ा नहीं पाते हैं। लेकिन यहां पर हम आपको सलाह देना चाहेंगे कि जब लगे कि अब बिजनेस का विस्तार करने का वक्त आ गया है, तुरंत बिजनेस का विस्तार कर लेना चाहिए। इससे फायदा मिलता है। हां अगर बिजनेस बढ़ाने में धन की कमी की समस्या आड़े आ रही हो तो उसका भी निराकरण है। धन की कमी को ‘बिजनेस लोन’ की सहायता से दूर करना चाहिए।

ZipLoan से मिलता है सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

देश की प्रमुख एनबीएफसी कंपनी ZipLoan द्वारा कारोबारियों को 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे सिर्फ 3 दिन* में प्रदान किया जाता है। ZipLoan द्वारा दिया जाने वाला बिजनेस लोन 6 महीने बाद प्री पेमेंट चार्जेस फ्री होता है।

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने की पात्रता

  • बिजनेस दो साल अधिक पुराना हो
  • बिजनेस का सलाना टर्नओवर 10 लाख से अधिक हो
  • पिछले साल डेढ़ लाख से अधिक की आईटीआर फाइल की गई हो
  • घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक खुद के नाम पर हो (यह पति – पत्नी, माता – पिता, भाई – बहन, पुत्र – पुत्री इत्यादि के नाम पर भी हो तो भी मान्य किया जाता है।)

बिजनेस लोन लेने के लिए जरूरी कागजात

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पिछले 9 महीने का बैंक स्टेटमेंट (करेंट बैंक खाता का)
  • पिछले साल फाइल की गई आईटीआर की कॉपी
  • घर या बिजनेस की जगह में से किसी एक का मालिकाना प्रूफ (यह पति – पत्नी, माता – पिता, भाई – बहन, पुत्र – पुत्री इत्यादि के नाम पर भी हो तो भी मान्य किया जाता है।)

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के फायदे

  • बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में।
  • बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन मिलता है।
  • 6 महीने बाद बिजनेस लोन प्री पेमेंट चार्जेस फ्री है।
  • 9 EMI ठीक तरह से जमा होने के बाद टॉप – अप लोन की भी सुविधा उपलब्ध है।

अभी बिजनेस लोन पाए