अब सरकारी मेडिकल स्टोर (जनऔषधि केंद्र) खोलना आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होगा। जी हां सरकारी मेडिकल स्टोर खोलने पर अब सबको 2.5 लाख रुपए की सहायता मिलेगी, जो मंथली इंसेंटिव बेस पर दी जाएगी। इंसेंटिव दवा बेचने पर मिलने वाले कमिशन से अलग होगा। इंसेंटिव तबतक दिया जाएगा, जबतक कि सराकरी मेडिकल स्टोर खोलने वालों को 2.5 लाख रुपए न मिल जाएं। यानी दोहरा फायदा, एक तो दुकान खोलने के लगभग पूरे पैसे सरकार इंसेंटिव के रूप में दे देगी। सरकार की योजना आगे 2000 जनऔषधि केंद्र और खोलने की है, ऐसे में आप भी इस योजना का पूरा लाभ ले सकते हैं।

सरकारी मेडिकल स्टोर खोलने पर मिलेंगे 2.5 लाख रुपए

सरकारी मेडिकल स्टोरcredit- money.bhaskar.com

दरअसल सरकारा ने बहुत पहले ही सरकारी मेडिकल स्टोर खोलने पर 2.5 लाख रुपए की सरकारी सहायता देने का ऐलान किया था। लेकिन यह हेल्प किसी को अबतक मिल नहीं पा रही है। जनवरी से मार्च के दौरान कुछ लोगों को इंसेंटिव जरूर मिला था, लेकिन यह जारी नहीं हो पा रहा है। ऐसे में सरकार ने अब यह तय किया है कि दवा बेचने पर मिलने वाले 20 फीसदी कमिशन के अलावा अलग से 10 फीसदी इंसेंटिव दिया जाए। इसके लिए अब देशभर में पीओएस मशीन बांटे जाएंगे। वहीं, नई योजना से जो जुड़ेंगे, उन्हें हाथों-हाथ यह मशीन दिया जाएगा। पीओएस मशीन के जरिए हर महीने सरकार दुकान खोलने वाले के बैंक अकाउंट में इंसेंटिव डाल देगी।

2.5 लाख पूरे होने तक मिलेगा इंसेंटिव

सरकारी मेडिकल स्टोर खोलने को लेकर सरकार की योजना है कि ये इंसेंटिव तब तक दिया जाए, जब तक कि 2.5 लाख रुपए पूरे न हो जाएं। बता दें कि दवा की दुकान खोलने में भी तकरीबन 2.5 लाख रुपए ही खर्च होता है, ऐसे में यह पूरा खर्च सरकार खुद उठा रही है। हालांकि यह 10 हजार रुपए अधिकतम मंथली बेसिस पर मिलता रहेगा। यह इंसेंटिव 25 महीने तक मिलेगा।

credit- patrika.com

ये भी पढ़ें- आपके पास है बिजनेस आइडिया? यहां 1500 रुपए किराए पर मिल रहा AC ऑफिस