मुद्रा लोन योजना का लाभ उठाने के लिए इन कागजातों की होती है जरूरत

मुद्रा लोन योजना के लिए डोक्युमेन्ट्स

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (एमएसएमई) सेक्टर का योगदान देश की विकास बेहद महत्वपूर्ण है। भारत में 2019 के तिमाही में अथिक मंदी का दौर चल रहा था जिससे सभी उद्योग सेक्टर प्रभावित थे। बड़े उद्योगों से कर्मचारियों की छटनी करनी करने नौब्ब्त आ गई थी।

टाटा और महिंद्रा जैसी कंपनियों के यहां उत्पादन कुछ दिनों के लिए रोकना पड़ गया था।  लेकिन क्या आपको पता है कि आर्थिक मंदी का प्रभाव लघु उद्योग पर नही पड़ा। ऐसी कोई खबर नही आई जिसमे यह बताया गया हो कि किसी एमएसएमई सेक्टर से कर्मचारियों की छटनी हुई हो या उत्पादन रोका गया हो।

लघु और मध्यम उद्योग की विसेषता ही यही होती है कि ये कम संसाधन में भी कुशल तरीके से संचालित हो सकते हैं। दूसरी महत्वपूर्ण बात यह कि एमएसएमई सेक्टर का योगदान देश की जीडीपी ग्रोथ और देश रोजगार की संख्या बढ़ाने में अहम है।

लघु उद्योगों का देश के विकास में योगदान को देखते हुए और आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए कई तरह लोन योजना चलाई जा रही है। कारोबारियों के लिए लोन योजना में मुद्रा योजना (Mudra Yajana) प्रमुख है।

मुद्रा योजना क्या है (What is Mudra Loan Yojana)

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) सेक्टर को विश्व भर में विकास के इंजन के रूप में जाना जाता है। भारत के संदर्भ में एसएमई सेक्टर अर्थव्यवस्था का बैक बोन के रुप में जाना जाता है। एमएसएमई सेक्टर के आर्थिक सहायता के लिए मुद्रा योजना केन्द्र सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही है।

मुद्रा लोन यानी Micro Units Development and Refinance Agency Limited (MUDRA)। इस योजना के तहत पात्र आवेदकों को विभन्न बैंकों के माध्यम से 10 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे दिया जाता है।

आपको बता दें कि मुद्रा योजना के तहत देश में 27 सरकारी बैंक, प्राइवेट सेक्टर के 17 बैंक, 31 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, 4 सहकारी बैंक, 36 माइक्रो फाइनेंस संस्थान और 25 गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) को मुद्रा लोन बांटने के लिए अधिकृत किया गया है।

मुद्रा योजना के तहत बिजनेस लोन 

इस स्कीम के तहत दो तरह का बिजनेस लोन दिया जाता है। पहला है नया बिजनेस शुरु करने के लिए लोन और दूसरा है पहले से चल रहे बिजनेस का विस्तार करने के लिए बिजनेस लोन। आपको बता दें कि मूद्रा योजना के तहत 3 कैटेगरी में बिजनेस लोन दिया जाता है:

  • शिशु लोन – Shishu Loan
  • किशोर लोन – Kishor Loan
  • तरुण लोन – Tarun Loan

शिशु लोन योजना के तहत 50 हजार तक का बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है। किशोर लोन के तहत 50 हजार से 5 लाख तक का बिजनेस लोन मिलता है। तरुण लोन योजना के तहत 5 लाख से 10 लाख तक का बिजनेस लोन दिया जाता है।

मुद्रा योजना से लोन लेने के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स

Mudra स्कीम के तहत लोन लेने के लिए कुछ कागज़ी दस्तावेज की जरूरत पड़ती है। जिन डाक्यूमेंट्स

की जरूरत पड़ती है उनकी लिस्ट निम्न है:

  • 2 फोटो
  • पहचान पत्र की फोटोकॉपी – कोई भी आईडी प्रूफ जिसे सरकार ने जारी किया हो, जैसे – आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, पासपोर्ट, बैंक पासबुक, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि। यहां इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जो भी पहचान पत्र की फोटोकॉपी दे रहे हैं उसपर खुद का हस्ताक्षर करके ही देना होता है।
  • पता प्रमाण पत्र की फोटोकॉपी – कोई भी सरकार द्वारा जारी पता प्रमाण पत्र जिससे यह साबित होता है कि आप उस पते पर रहते हैं, जैसे- आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, बिजली बिल, पानी की बिल इत्यादि। इस कॉपी पर भी खुद का हस्ताक्षर करना होगा।
  • बैंक स्टेटमेंट की कॉपी – यह कम से कम 3 महीने की होनी चाहिए
  • जाति प्रमाण पत्र की कॉपी (अगर आप आरक्षित जाति से हैं और उसका लाभ उठाना चाहते हैं तब इसकी जरूरत पड़ेगी)
  • कारोबार के पता का प्रमाण पत्र – कारोबार का पहचान व पते का प्रमाण अपने कारोबार से संबंधित लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट या अन्य कोई दस्तावेज जमा करना होगा। यह इस बात का प्रमाण है कि आप उस बिजनेस के मालिक हैं।

अगर आप कारोबार में मशीनरी खरीदने के लिए लोन लेना चाहते हैं तो उस मशीनरी का जितना मूल्य हो उसकी कॉपी लगा सकते हैं। अगर आप मशीनरी की बिल की कॉपी लगा रहे हैं तो आपको मशीनरी देने वाले का नाम, मशीन आने से आपके बिजनेस में क्या सकारात्मक पड़ेगा उसकी रिपोर्ट और कितनी कच्चे माल की जरूरत पड़ेगी, इसका भी विवरण देना होगा।

ZipLoan से मिलता है सिर्फ 3 दिन* में बिजनेस लोन

छोटे और मध्यम स्तर के कारोबारियों को बिना किसी दिक्कत के आर्थिक मदद करने के लिए फिनटेक क्षेत्र की प्रमुख एनबीएफसी कंपनी ZipLoan के तरफ से कारोबारियों को 1 से 5 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे सिर्फ 3 दिन में प्रदान किया जाता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

ZipLoan से कारोबारियों को बिजनेस लोन क्यों लेना चाहिए?

कई ऐसे कारण हैं जिनकी वजह से कारोबारियों को अपने बिजनेस में पैसों की जरूरत पड़ने पर ZipLoan से बिजनेस लोन लेना चाहिए।

  • लोन लेने के लिए कहीं भागदौड़ नही करना होता है – घर बैठे ऑनलाइन अप्ल्लाई कर सकते हैं।
  • पैसों के लिए अधिक इंतजार नही करना होता है। अप्लाई करने के बाद सिर्फ 3 दिन के भीतर 5 लाख तक का लोन मिल जाता है।
  • बिजनेस लोन पाने के लिए कुछ गिरवी नही रखना होता है यानी बिना कुछ सेक्योरिटी लोन मिल जाता है।
  • ZipLoan कंपनी भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा रजिस्टर्ड है।
  • 6 महीने बाद प्री पेमेंट फ्री की सुविधा उपलब्ध है।

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स

फिनटेक कंपनी ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के लिए बहुत कम कागज़ी दस्तावेज की जरूरत पड़ती है। जरूरी डाक्यूमेंट्स की लिस्ट निम्न है:

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • बिजनेस या घर का पता प्रमाण पत्र
  • 9 महीने की बैंक स्टेटमेंट
  • पिछले साल फाइल की गई ITR की कॉपी
  • घर या बिजनेस में से किसी एक के मालिकाना हक़ का प्रूफ

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की शर्तें क्या?

एनबीएफसी कंपनी ZipLoan कारोबारियों की आर्थिक सहायता करने के लिए बेहद मामूली शर्तों पर १ से 5 लाख तक का बिजनेस प्रदान करती है। शर्ते निम्न हैं:

  • बिजनेस कम से कम 2 साल पुराना होना चाहिए।
  • कारोबार में सालाना टर्नओवर 5 लाख से अधिक होना चाहिए।
  • बिजनेस के नाम से पिछले साल या इस साल न्यूनतम 1 लाख 50 हजार की ITR फाइल होना चाहिए।

घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक खुद कारोबारी के नाम पर होना चाहिए (घर या बिजनेस की जगह किसी ब्लड रिलेशन रिलेटिव जैसे – माता – पिता, भाई – बहन, पत्नी, पति  – बच्चों के नाम हो तो भी मान्य किया जायेगा)

क्या आपको यह लेख पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

 

flexi loan
Previous article फ्लेक्सी लोन क्या होता है और इसका लाभ क्या है?
बिजनेस लोन पाने के लिए कितना सिबिल स्कोर होना चाहिए? जानिए
Next article बिजनेस लोन के लिए कितना सिबिल स्कोर होना चाहिए? जानिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close