प्रधानमंत्री आवास योजना भारत सरकार की एक योजना है जिसके माध्यम से नगरों में रहने वाले गरीब लोगों को उनके आय के अनुसार घर दिए जाएंगे. आइए जानते हैं प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभआरंभ कैसे हुआ! भारत में एक अच्छा जीवन जीने के लिए आवश्यक तीन जरूरी चीजें क्या हैं? इसका जवाब पुरानी क्लासिक हिंदी फिल्मों में छिपा है, “रोटी कपड़ा और मकान”. इन उद्देश्यों में से एक को पूरा करने के लिए 2015 में हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारंभ किया. प्रधानमंत्री आवास योजना के पीछे क्या उद्देश्य है!

Source: current affairs adda

प्रधानमंत्री आवास योजना के पीछे का उद्देश्य

प्रधान मंत्री आवास योजना की शुरूआत के पीछे का मकसद भारत के हर एक नागरिक को घर को प्रदान करना है. प्रधानमंत्री आवास योजना का लक्ष्य है कि वर्ष 2022 तक कोई भारतीय बेघर नहीं होना चाहिए. इसका उद्देश्य ये है कि तकरीबन 20 लाख गरीब लोगों के सिर के ऊपर एक छत प्रदान करना है. सरकार के पास प्रधान मंत्री आवास योजना के लिए एक बहुत स्पष्ट योजना है.

See also  जानिए उद्योग आधार के फायदे

 प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए योग्यता पात्रता

यह सुनिश्चित करने के लिए कि इस योजना से समाज का कोई भी वर्ग छोड़ा न जाए, प्रधान मंत्रीआवास योजना आवेदकों को छह श्रेणियों में विभाजित करती है.

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग- जिनकी घरेलू आय 3 लाख से कम है उन्हें उन्हें अपनी आय का ठोस सबूत प्रस्तुत करना होगा.

कम आय पाने वाला वर्ग- इस वर्ग में वो लोग आते हैं जिनकी सलाना आय 3 लाख से 6 लाख रुपए तक होती है.

मध्यम वर्गीय समूह-1  इस वर्ग में वो लोग आते हैं जिनकी सलाना आय 12 लाख रुपए से कम होती है. ऐसे व्यक्ति 9 लाख रुपये तक के ऋण का लाभ उठा सकते हैं.

मध्यम वर्गीय समूह-2 इस वर्ग में वो व्यक्ति आते हैं जिनकी सलाना आय 18 लाख होती है. इस प्रकार वो व्यक्ति जिनका सलाना आय 12 से 18 लाख तक के बीच हो वो 12 लाख रुपए तक का लोन ले सकते हैं.

अल्पसंख्यक– अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग के लोग अल्पसंख्यकों में आते हैं ये भी प्रधान मंत्री आवास योजना का भी लाभ उठा सकते हैं.

महिलाएं- प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उठाने के लिए महिलाओं को या तो ईडब्ल्यूएस या एलआईजी श्रेणी से संबंधित होना चाहिए.

See also  दुकान के लिए लोन लेने का आसान तरीका

लाभार्थियों को ये लोन कौन देता है

बड़े स्तर के राष्ट्रीयकृत और निजी बैंक प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभार्थियों को लोन देते हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए जब आवेदक फॉर्म भरता है तो लोन देने और बाकी औपचारिकतओं के लिए आगे बढ़ने से पहले संबंधित बैंक केवाईसी की जांच करता है. तब जाकर व्यक्ति को लोन मिल सकता है.

प्रधान मंत्री आवास योजना- सब्सिडी का दावा

सब्सिडी के दावे के लिए  प्रधान मंत्री आवास योजना का प्रमुख आकर्षण सब्सिडी राशि है. निम्नलिखित तालिका प्रधान मंत्री आवास योजना सब्सिडी के बारे में मामलों को स्पष्ट करेगी.

Category Maximum Eligible Loan Amount Eligible amount of loan for interest subsidy Interest Subsidy (Maximum)
Economically Weaker Section and Light Income Group (EWS/LIG) 300000 300000 133640
600000 600000 267280
1000000 600000 267280
Medium Income Group 1 (MIG1) 1200000 900000 4% per year with maximum 235000
Medium Income Group 2 (MIG2) 1800000 1200000 3% per year with maximum 230000

 निष्कर्ष

प्रधान मंत्री आवास योजना बेघर लोगों की मदद करने के लिए एक अद्भुत योजना है. इसका उद्देश्य यह है कि प्रत्येक भारतीय नागरिक के पास खुद का घर हो. अन्य विकासशील देश इस योजना से प्रेरणा ले सकते हैं और अपने नागरिकों के लिए इसे तैयार भी कर सकते हैं.

See also  टैक्स ई-रिफंड पाने का क्या होता है तरीका? जानिए डिटेल

नोट

1.इस पोस्ट को इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

2.सोशल मीडिया पर हमसे जुड़कर आप और भी जानकारियां ले सकते हैं, जुड़ने के लिए हमें फॉलो कीजिए  FacebookTwitter, और LinkedIn!

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number