बदलते वक्त के साथ-साथ सरकारी कामकाज का तरीका भी बदल रहा है। सरकारी कामकाज में हर जगह अब आपको ज़रूरी कागज़ात दिखाने पड़ते हैं। इसमें सबसे ज़रूरी होता है Pan Card. ऐसे में अगर आपने अभी तक अपना Pan Card नहीं बनवाया है, तो बनवा लीजिए। आज हम आपको बताएंगें कि क्यों ज़रूरी है Pan Card और कैसे आप घर बैठे अपना Pan Card बनवा सकते हैं।

Pan Card

यह भी पढ़ें:- अब आपका PAN बताएगा कि आप Income tax act के नियमों का पालन कर रहे हैं या नहीं

क्या है Pan Card?

Pan यानि कि Permanent Account Number 10 डिजिट का अल्फ़ान्यूमेरिक कोड होता है, जिसे कि आयकर विभाग द्वारा जारी किया जाता है। नोटबंदी के पहले तक पैन कार्ड का उपयोग ज्यादातर बड़े लेन-देन जैसे की 50000 के ऊपर, इनकम टैक्स रिटर्न भरने में, व्यापारिक गतिविधियों, उद्योगों आदि में Tax भरने के लिए होता था। लेकिन नोटबंदी के बाद भारत सरकार की सलाह पर RBI ने इसे सभी खाता धारकों के लिए जरुरी कर दिया है।

कहां-कहां जरूरी है Pan Card?

  • 5 लाख रुपए या इससे अधिक की कोई स्थायी संपत्ति ख़रीदते या बेचते वक्त।
  • विदेशी मुद्रा का लेन-देन करते वक्त।
  • 50 हज़ार रुपए या उससे अधिक का बैंक ड्राफ्ट या पे आर्डर बनवाते वक्त।
  • ऐसा कोई वाहन ख़रीदते या बेचते समय, जिसमें रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता हो (दोपहिया वाहन सम्मिलित नहीं)
  • टेलिफ़ोन के लिए आवेदन करते समय. 50 हज़ार रुपए या उससे अधिक राशि का फ़िक्स्ड डिपॉज़िट, म्यूचुअल फंड, सरकारी बॉन्ड, शेयर, पोस्टल डिपॉज़िट लेते समय.
  • क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करते समय।
  • बिजनेस लोन के लिए आवेदन करते समय।
  • बैंक अकाउंट ओपन करवाते समय।
  • बैंक में 50 हज़ार रुपए या उससे अधिक राशि जमा करते समय।
  • इसके साथ ही पैन कार्ड पहचान पत्र का भी काम करता है।
See also  ITR फाइल करने के ये 6 नियम इस बार बदल गए हैं, फटाफट जानिए

तो देखा आपने कि Pan Card कितना जरूरी है। इसलिए यदि आपके पास Pan Card नहीं है, तो प्राथमिकता से पैन कार्ड बनवा लें और किसी भी प्रकार की असुविधा से बचने के लिए अपने बैंक खाता से लिंक करा लें।

कैसे बनवाएं Pan Card?

पैन कार्ड आवेदन की प्रक्रिया बेहद ही आसान है। आप Pan Card ऑनलाइन बनवा सकते हैं। इसके लिए सारे फॉर्म ऑनलाइन ही भर सकते हैं, लेकिन आपको सारे डॉक्यूमेंट को इनकम टैक्स ऑफिस के पास पोस्ट करना होगा। तभी आवेदन की प्रक्रिया पूरी होगी। वेबसाइट पर फॉर्म भरने के बाद आप अपने एप्लिकेशन को Pan Card ऑफिस भेज दें। इसके बाद आपके एप्लिकेशन को प्रोसेस किया जाता है और कार्ड को आपके घर के पते पर भेज दिया जाता है।

यह भी पढ़ें:- GST के कारण CA-कर सलाहकार हो गए BP और शुगर के मरीज, कुछ की गई जान

आइडेंटिटी प्रूफ़ के लिए ज़रूरी दस्तावेज़

  1. स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट
  2. दसवीं की मार्कशीट
  3. मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान की डिग्री.
  4. बैंक की पासबुक.
  5. पानी का बिल, जो आपके नाम पर हो
  6. संपत्ति कर का निर्धारण ऑर्डर
  7. पासपोर्ट
  8. वोटर आई.डी. कार्ड
  9. ड्राइविंग लाइसेंस
  10. सांसद, विधायक या राजपत्रित अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर किया हुआ पहचान पत्र
  11. राशन कार्ड

(ये सभी आइडेंटिटी प्रूफ़ अलग-अलग संस्थानों में समान रूप से मान्य नहीं हैं.)

See also  HSN कोड क्या है और GST में HSN कोड क्यों जरुरी है? HSN Code List? What is HSN Code and Why It is Important for GST

Pan Card

एड्रेस प्रूफ़ के लिए ज़रूरी दस्तावेज़

  1. बिजली या टेलीफ़ोन का बिल
  2. नियोक्ता द्वारा प्रदत्त सर्टिफ़िकेट
  3. बैंक अकाउंट स्टेटमेंट
  4. राशन कार्ड
  5. पासपोर्ट, वोटर आई.डी. कार्ड
  6. प्रॉपर्टी टैक्स असेसमेंट ऑर्डर
  7. ड्राइविंग लाइसेंस
  8. रेन्ट रिसीप्ट
  9. सांसद, विधायक, नगरपालिका अध्यक्ष या राजपत्रित अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर किया हुआ एड्रेस सर्टिफिकेट।

नोट: अगर बच्चे का पैन बनवाना हो तो उसके माता-पिता या गार्जियन का आइडेंटिटी प्रूफ इस्तेमाल कर सकते हैं। एचयूएफ का पैन बनवाने के लिए कर्ता के डॉक्युमेंट्स इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें:- स्टील उद्योग के आने वाले हैं अच्छे दिन, मांग में तेजी से वृद्धि होने के आसार: रिपोर्ट

अप्लाई करने का तरीका

एक बार जब सारे डॉक्यूमेंट आपके पास उपलब्ध हो जाएं, उसके बाद ये करें:-

  1. NSDL की वेबसाइट पर इस पेज पर जाएं।
  2. बॉटम तक स्क्रॉल करें और Apply for a new PAN Card के ड्रॉप डाउन मेन्यू में Individual सेलेक्ट करें। फिर Select करें।

  3. अब आप फॉर्म भरना शुरू कर सकते हैं। अगर आपको कोई शंका है तो इस पेज पर जाकर फॉर्म भरने की गाइडलाइन को पढ़ सकते हैं।

  4. पहला फील्ड AO Code है जिसे आप यहां खोज सकते हैं। आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के हेल्पलाइन नंबर 18001801961 पर कॉल करके अपने AO code के बारे में जान सकते हैं।

  5. name, gender, address जैसे फील्ड को भरने में आपको परेशानी नहीं आनी चाहिए। हां, जिन-जिन डॉक्यूमेंट को आप सब्मिट करने वाले हैं उन्हें चुनते वक्त खास ख्याल रखें। आप प्वाइंट 15 पर बने ड्रॉप डाउन मेन्यू में फॉर्म चुन सकते हैं।

See also  TDS क्या है-TDS Kya Hai और क्यों कटता है? What is tds in hindi

यह भी पढ़ें:- छोटे कारोबारियों के लिए GST का नया संदेश, अगर नहीं जाना तो पड़ेगा पछताना

Pan Card बनवाने के फायदे-

  • आपको अपना पासपोर्ट बनवाना हो या कोई लाइसेंस, Pan Card उपयोगी है।
  • यह आईडी प्रूफ और सिग्नेचर प्रूफ के तौर पर स्वीकार किया जाता है।
  • बैंक में अकाउंट खुलवाने के साथ कहीं से लोन लेना है तो इनमें आपको Pan Card की बेहद जरूरत होगी।
  • 50 हजार रुपए से ज्यादा की रकम जमा या निकासी पर भी पैन नंबर देना होता है।
  • घर में बिजली, पानी, गैस का कनेक्शन लेने के लिए, वाहन खरीदने आदि में भी Pan Card की जरूरत पड़ती है।

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number