मोदी सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण पर बहुत जोर दिया जा रहा है। महिलाओं को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के क्रम में कई तरह की योजनाए चलाई जा रही हैं (mahilaon ke liye loan)। कारोबार हो या नौकरी महिलाए आज हर क्षेत्र में आज आगे बढ़ रही हैं।

आज से तकरीबन 25- 30 साल पहले महिलाओं के बारे में यह सोच थी की यह तो सिर्फ घर संभाल सकती है इनके लिए इतना बहुत है। लेकिन अब हालात बदल गए हैं।

महिलाओं के लिए लोन की सुविधा

आज के दौर में महिलाए हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। बिजनेस हो या नौकरी महिलाओं का झंडा हर जगह बुलंद हो रहा है। महिला कारोबारियों की संख्या में व्यापक बढ़ोतरी हुई है।

सरकार का भी प्रयास है कि अधिक से अधिक महिलाएं स्वावलंबी बने। प्राइवेट लोन देने वाली कंपनियां भी महिलाओं के लिए विशेष लोन की स्कीम निकालती रहती हैं।

महिलाओं के लिए लोन

वर्तमान में मोदी सरकार द्वारा कुछ ऐसी योजनाएं चलाई जा रही हैं जिनमें महिला कारोबारियों को बिजनेस लोन -(government loans for women) बहुत आसानी से और बेहद कम शर्तों पर प्रदान किया जाता है। ये योजनाए कुछ इस तरह हैं:

  • मुद्रा योजना
  • वैभव लक्ष्मी योजना
  • सिंड महिला शक्ति योजना
  • वी शक्ति योजना
  • वीमेन सेविग स्कीम

महिलाओं के लिए मुद्रा योजना में बिजनेस लोन- (Mudra Loan Yojana- Mahilaon ke liye loan)

Mahilaon ke liye loan योजना (Business loan for women)

केंद्र सरकार के लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही इस योजना का लक्ष्य देश में अधिक से अधिक उद्योग शुरू करना और पुराने उद्योगों को बढ़ावा देना है।

See also  Union Budget 2019- किसको क्या मिला, जानिए डिटेल में

वर्तमान में मुद्रा योजना के तहत महिलाओं को 50 हजार से लेकर 10 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है। मुद्रा योजना में प्रदान की जा रही लोन की रकम को बढ़ाने पर विचार हो रहा है।

लोन की रकम बढ़ने पर 20 लाख तक बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे सकेंगे। मुद्रा योजना द्वारा 3 प्रकार का बिजनेस लोन प्रदान किया जाता हैं:

  • शिशु लोन योजना- इस योजना में लाभार्थी को 50 हजार तक का बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।
  • किशोर लोन योजना- किशोर लोन योजना में महिला कारोबारियों को 50 हजार से 5 लाख तक बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।
  • तरुण लोन योजना- तरुण लोन योजना में महिला कारोबारियों को 5 लाख से 10 लाख तक का बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि भारतीय रिजर्व बैंक की एक समिति ने सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी है जिसमें अभी तक इन योजनाओं के जरिए प्रदान किये जा रहे बिजनेस लोन की सीमा को दोगुना करने की बात कही जा रही है।

महिला स्व- सहायता समूह योजना- Mahilaon ke liye loan

महिला स्व- सहायता समूह योजना जिला स्तर की योजना है। योजना के तहत प्रत्येक स्व-सहायता समूह की एक महिला सदस्य को मुद्रा योजना के तहत 1,00,000 (एक लाख) रुपये तक का लोन प्राप्त कर सकेगी। सरकार इस योजना में जन – धन बैंक खाता धारक प्रत्येक महिला सदस्य को 5 हजार रुपये ओवर ड्राफ्ट की सुविधा मिलेगी।  इस योजना का लक्ष्य ग्रामीण अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भूमिका बढ़ाना और उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर करना है।

See also  इस दीवाली महंगे इंपोर्ट से बुझा चाइनीज लाइटिंग का बाजार, चमकेगी भारतीय लाइटिंग बाजार की किस्मत

महिलाओं के लिए वैभव लक्ष्मी योजना- Vaibhav lakshmi yojana- mahilaon ke liye loan

यह योजना बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा शुरू हुई है। इस योजना में व्यक्तिगत और बिजनेस के जरूरत के लिए लोन प्रदान किया जाता है। वैभव लक्ष्मी योजना से लोन लेने के लिए एक गारंटर की जरूरत पड़ती है।

इस योजना के जरिए लोन चाहने वाली महिलाओं को अपने कारोबार की प्रोजेक्ट रिपोर्ट बैंक में जमा करना होता है। अगर बैंक महिला के प्रोजेक्ट से सहमत हुआ तो महिला कारोबारी को एक गारंटर पर लोन मिल सकता है। इस योजना खास बात यह कि इस योजना के जरिए महिलाएं घर के सामान भी ले सकती हैं।

वी शक्ति योजना- Shakti scheme- mahilaon ke liye loan

यह योजना भी बैंक द्वारा चलाई जा रही है। वी शक्ति योजना को विजय बैंक संचालित करता है। इस योजना के तहत बिजनेस लोन लेने के लिए महिलाओं का बैंक खाता विजया बैंक में होना चाहिए।

इस वी योजना में 18 साल या उससे अधिक उम्र की महिलाएं आसानी से बैंक में लोन के लिए अप्लाई कर सकती हैं। इस स्कीम के तहत लोन लेकर महिलाएं टेलरिंग, कैटरिंग, कैंटीन, अचार व मसाला बनाने जैसी उत्पादन का कारोबार शुरू कर सकती है।

सिंड महिला शक्ति योजना- mahilaon ke liye loan

यह बैंक द्वारा चलाई जा रही योजना है। इसे सिंडीकेट बैंक सिंड महिला शक्ति नाम से संचालित कर रहा है। इस योजना के तहत हर साल करीब 20 हजार महिलाओं को बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।

इसके तहत बैंक पांच करोड़ का लोन कम इंटरेस्ट रेट पर देता है। इतना ही नहीं महिला सशक्तिकरण को देखते हुए इस लोन के साथ ही बैंक क्रेडिट कार्ड की भी सुविधा देता है। यह लोन 7 से 10 साल के लिए लिया जा सकता है।

See also  डेयरी उद्योग और फार्मिंग कैसे शुरु किया जाता है, जानिए

वीमेन सेविंग योजना- mahilaon ke liye loan

यह योजना भी बैंक द्वारा ही संचालित होती है। वीमेन सेविंग योजना को एचडीएफसी बैंक संचालित करता है। महिलाओं के लिए यह योजना बहुत खास है क्योंकि इसमें ईजी शॉप एडवांटेज कार्ड मिलता है साथ ही  साथ यहां पर लॉकर की सुविधा भी मिलती है।

इस दौरान महिलाएं को 200 रुपये की खरीददारी पर एक रुपए का कैश बैक का फायदा मिलता है । इसके अलावा 150 रुपये की खरीददारी पर एक रिवॉर्ड प्वाइंट का लाभ मिलता है।

ZipLoan से मिलता है सिर्फ 3 दिन में mahilaon ke liye loan 

महिला कारोबारियों को प्रोत्साहित करने और उन्हें बिना कुछ गिरवी रखे लोन की सुविधा ZipLoan कंपनी से मिलती है। अगर कोई कारोबार कम से कम दो साल पुराना है, सालाना टर्नओवर 10 लाख से अधिक होता है, पिछले साल डेढ़ लाख की ITR भरी गई हो और घर या दुकान/कारोबार में से कोई एक खुद के नाम पर हो तो ZipLoan कंपनी से वह 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में प्राप्त कर सकती हैं।

आपको इन्हें भी जानना चाहिएः

मुद्रा लोन आवेदन के लिए  आधार कार्ड – योग्यता, स्टेटस & डाउनलोड  बिजनेस लोन एप्लीकेशन फॉर्म ट्रेडर्स के लिए बिज़नेस लोन
महिलाओं के लिए लोन स्किम जानने के लिए स्टैंड अप इंडिया स्कीम के लिए अप्लाई कैसे करें? प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना – योग्यता, डाक्यूमेंट्स, रजिस्ट्रेशन पैन कार्ड- ऑनलाइन/ऑफलाइन आवेदन कैसे करें और इसका उपयोग
क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम ट्रैवल एजेंसी के लिए लोन ग्रोसरी स्टोर के लिए लोन छोटे व्यापार के लिए लोन
जननी सुरक्षा योजना क्या है  मैन्युफैक्चरर्स के लिए लोन बुटीक लोन टेक्सटाइल्स इंडस्ट्री के लिए लोन