प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश में लॉकडाउन पार्ट 2 की घोषणा कर दी गई है। लॉकडाउन पार्ट 2 को 3 मई 2020 तक के लिए घोषित किया गया है। हालांकि इसके बीच कई तरह की सहूलियत देने की भी घोषणा पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा की गई है।

कोरोना का प्रकोप भारत में बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना के बारे में जितना यह खतरनाक है की कोविड-19 से पीड़ितों की संख्या दिनों – दिनों बढ़ रही है, इससे भी खतरनाक यह है कि कोरोना से निपटने के लिए अभी तक कोई मुकम्मल ईलाज या दवा की खोज नहीं हुई है।

अभी तक कोविड-19 से निपटने के लिए सबसे कारगर तरीका ‘सोशल डिस्टेंस’ ही सामने आया है। सामाजिक और शारीरिक दुरी से और साफ – सफाई ही वह हथियार है, जिससे कोरोना जैसी महामारी को दूर भगाया जा सकता है।

भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले देश में ‘सोशल डिस्टेंस’ का सामान्य रुप से पालन करना बहुत कठिन है। यह तब तक कठिन है, जब तक लोगों को घरों में न न बैठाया जाए। लोगों को घरों में बैठाने का एक ही तरीका है। वह तरीका है “लॉकडाउन”, जी हां, जब देश में लॉकडाउन होगा, तभी लोग बाहर नहीं निकलेंगे। जब जब घरो से बाहर नहीं निकलेंगे तो वह कोरोना से संक्रमित नहीं होंगे।

देश में लॉकडाउन सर्वप्रथम घोषणा पीएम मोदी द्वारा 25 मार्च 2020 को की गई थी। 25 मार्च 2020 को अगले तीन सप्ताह यानी 14 अप्रैल 2020 तक के लिए लॉकडाउन किया गया था। आज यानी 14 अप्रैल 2020 को जब प्रथम लॉकडाउन समाप्त होना था, तो पीएम मोदी ने देश को कोरोना के बढ़ते मामलों से अवगत कराया और इसके साथ ही अगले तीन सप्ताह यानी 3 मई 2020 तक के लिए फिर से लॉकडाउन की घोषणा की।

देश में कोरोना की क्या स्थिति है?

अन्य देशों के मुकाबले भारत में कोरोना से पीड़ितों की संख्या काफी कम है। यह हम नहीं बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का डाटा ऐसा कहता है। अभी तक विश्व के कुल 232 देशों में कोरोना से पीड़ितों की संख्या 1,920,918 है। इसमें कोरोना से हुई मृत्यु की संख्या 119,686 है। इसके साथ ही कोरोना महामारी से ठीक होने वालों की संख्या 453,289 है।

भारत में कोरोना का आंकड़ा कुछ इस प्रकार है। कोरोना से पीड़ितों की संख्या 10,363 है। कोरोना से मरने वालों की संख्या 339 है। कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 1,036 है। इस प्रकार हम देखें को जिस रफ़्तार से कोरोना से पीड़ितों की संख्या बढ़ है। उससे ऐसा लगता है कि अगर कोरोना से निपटने के लिए कारगर उपाय नहीं किया गया तो यह आंकड़ा बहुत ऊपर भी जा सकती है।

हालांकि इस स्थिति में एक अच्छी खबर यह भी है कि कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या भी एक हजार से ऊपर हो चुकी है। ऐसे में इस संख्या से हम फौरी तौर पर खुस हो सकते हैं। लेकिन, हमें कोरोना से निपटने की पूरी तैयारी करना हो होगा। आइये देखते हैं कि किस देश में कोरोना से पीड़ितों की संख्या कितनी है।

 

कोरोना से पीड़ित देश और राज्य पीड़ितों की संख्या मृत्यु की संख्या ठीक होने वालों की संख्या  
संक्युक्त राज्य अमेरिका 586,057 23,604 43,637
स्पेन 170,099 17,756 64,727
इटली 159,516 20,465 35,435
जर्मनी 130,072 3,194 57,259
फ़्रांस 98,076 14,967 27,718
इंग्लैण्ड 88,621 11,329
चीन 82,249 3,341 77,738
ईरान 73,303 4,585 45,983
तुर्की 61,049 1,296 3,957
बेल्जियम 30,589 3,903 6,707
नीदरलैंड 26,551 2,823
स्विटरलैंड 25,688 1,138 13,700
कनाडा 25,680 780 7,758
ब्राजील 23,753 1,355
रसिया 18,328 148 1,470
पुतर्गाल 16,934 535 277
आस्ट्रिया 14,043 368 7,343
इसरायल 11,586 116 1,855
स्वीडन 10,948 919
आयरलैंड 10,647 365
साउथ कोरिया 10,564 222 7,534
भारत 10,363 339 1,036
पेरू 9,784 216 2,642
जापान 7,618 143 799
इक्वेडोर 7,529 355 597
चिली 7,525 82 2,367
पोलैंड 6,934 245 487
रोमानिया 6,633 318 914
नार्वे 6,603 134
ऑस्ट्रेलिया 6,359 61 3,496
डेनमार्क 6,318 285 2,235
चेक रिपब्लिक 6,059 143 519
पाकिस्तान 5,496 93 1,097
साउथ अरबिया 4,934 65 805
फिलीपींस 4,932 315 242
मलेशिया 4,817 77 2,276
मेक्सिको 4,661 296 1,843
इंडोनेशिया 4,557 399 380
संयुक्त अरब अमीरात 4,521 25 852
सर्बिया 4,054 85 400
पनामा 3,472 94 61
लक्समबर्ग 3,292 69 467
क़तर 3,231 7 334
डोमिनिकन गणराज्य 3,167 176 152
उक्रेन 3,102 93 97
फिनलैंड 3,064 59
बेलोरूस 2,919 29 203
सिंगापुर 2,918 9 586
कोलम्बिया 2,852 112 319
थाईलैंड 2,579 40 1,288
अर्जेंटीना 2,277 98 515
दक्षिण अफ्रीका 2,272 27 410
मिस्र 2,190 164 589
यूनान 2,145 100 269
एलजीरिया 1,983 313 601
मोरक्को 1,763 126 203
माल्डोवा 1,712 36 107
आइसलैंड 1,711 9 933
आइसलैंड 1,650 25 400
हंगरी 1,458 109 120
इराक 1,375 78 717
बहरीन 1,361 6 591
एस्तोनिया 1,332 28 102
कुवैत 1,300 2 150
स्लोवाकिया 1,212 55 152
अज़रबैजान 1,148 12 289
कजाखस्तान 1,091 12 138
न्यूजीलैंड 1,072 9 628
लिथुआनिया 1,062 24 101
उज़्बेकिस्तान 1,054 4 85
बोस्निया और हर्ज़ेगोविना 1,046 39 206
आर्मीनिया 1,039 14 211
हॉगकॉग 1,010 4 397
प्यूर्टो रिको 903 45
उत्तर मैसेडोनिया 854 38 44
कैमरून 848 14 130
बांग्लादेश 803 39 42
स्लोवाकिया 769 2 107
ओमान 727 4 124
क्यूबा 726 21 121
ट्यूनीशिया 726 34 43
डायमंड प्रिसेंस 712 12 619
बुल्गारिया 685 32 71
अफ़ग़ानिस्तान 665 21 32
लातविया 655 5 16
साइप्रस 652 12 65
अंडोरा 646 29 139
लेबनान 632 20 80
ल्वोरी कोस्ट 626 6 89
कोस्टा रिका 612 3 62
यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट 585 1
घाना 566 8 4
नाइजर 548 13 86
बुर्किना फासो 515 28 170
उरुग्वे 483 8 248
अल्बानिया 467 23 232
किर्गिज़स्तान 419 5 67
होंडुरस 397 25 7
जॉर्डन 391 7 215
जॉर्डन 391 40
ताइवान 388 6 109
माल्टा 384 3 44
सैन मैरीनो 371 36 53
कोसोवो 362 8 59
नाइजीरिया 343 10 91
बोलीविया 330 27 6
मॉरीशस 324 9 42
गिन्नी 319 17
जिबूती 298 2 41
सेनेगल 291 2 178
मोंटेनेग्रो 273 2 5
फिलिस्तीन 273 2 58
जॉर्जिया 272 3 68
वियतनाम 265 146
आइल ऑफ मैन 242 2 132
डॉ कांगो 235 20 17
ग्वेर्नसे 219 6 53
श्री लंका 217 7 56
जर्सी 213 3
केन्या 208 9 40
मैयट 207 3 69
वेनेजुएला 189 9 110
वेनेजुएला 184 157
मार्टीनिक 157 8 50
ग्वाटेमाला 156 5 19
परागुआ 147 6 22
ग्वाडेलोप 145 8 67
  एल साल्वाडोर 137 6 22
ब्रुनेई 136 1 99
गुआम 133 5 58
जिब्राल्टर 129 84
ग्रेग मोर्टिमर 128
रवांडा 127 42
माली 123 10 26
कंबोडिया 122 91
ट्रिनिडाड और टोबैगो 113 8 12
ट्रिनिडाड और टोबैगो 106 20
उत्तरी साइप्रस 99 3 44
मोनाको 93 1 6
अरूबा 92 32
फ्रेंच गुयाना 88 53
लिकटेंस्टीन 79 1 55
टोगो 77 3 29
इथियोपिया 74 3 10
जमैका 73 4 17
जमैका 72 4 13
म्यांमार 62 4 2
कांगो गणराज्य 60 5
सोमालिया 60 2 2
बरमूडा 57 4 29
गैबॉन 57 1 1
फ्रेंच पॉलीनेशिया 55
केमैन टापू 54 1 6
युगांडा 54 4
सिंट मार्टेन 52 8 3
यूएस वर्जिन द्वीप 51 1 43
चार्ल्स डे 50
लाइबेरिया 50 5 3
बहामा 47 8 6
बहामा 47 6 8
बहामा 46 3 7
मकाउ 45 13
जाम्बिया 45 2 30
हैती 40 3
गिनी-बिसाऊ 39
बेनिन 35 1 5
बेनिन 34
सेंट मार्टिन 33 3 13
सूडान 29 4
लीबिया 26 1 9
सीरिया 25 2 5
एंटीगुआ और बारबुडा 23 2
चाड 23 2
गिनी 21 3
मोजाम्बिक 21 2
मालदीव 20 14
अंगोला 19 2 2
लाओस 19
बेलीज 18 2
डोनेट्स्क पीआ 18
न्यू कैलेडोनिया 18 1
मंगोलोया 17 11
जिम्बाब्वे 17 3
जिम्बाब्वे 16 5
फिजी 16
मलावी 16 2
नामीबिया 16 2
Eswatini 15 7
सेंट लूसिया 15
कुराकाओ 14 1 7
ग्रेनेडा 14
नेपाल 14 1
बोत्सवाना 13 1
एमएस ज़ंड 13 4
कार्ल प्रिंसेस 12 2
सेंट किट्स एंड नेविस 12
सेंट विंसेंट 12 1
सेंट्रल अफ्रीकन गणराज्य 11 3
ग्रीनलैंड 11 11
निकारागुआ 11 1 4
उत्तरी मरीयाना द्वीप समूह 11 2
मोंटेसेराट 11 1
सेशेल्स 11
अकरोटिरी एंड ढेकेलिया 10
एलैंड द्वीप समूह 10
केप वर्दे 10 1
सियरा लिओन 10
सूरीनाम 10 1 6
तुर्क और कैकोस द्वीप समूह 10 1
गाम्बिया 9 1 2
HNLMS Dolfijn 8
लुहानस्क पीआर 8 1
वेटिकन सिटी 8 2
मॉरिटानिया 7 1 2
सेंट बार्थेलेमी 6 1
Artsakh 5
बुस्र्न्दी 5 1
भूटान 5 2
फ़ॉकलैंड आइलैंड 5
पूर्वी तिमोर 4 1
साओ टोमे एंड प्रिंसिपे 4
साउथ सूडान 4
एंगुइला 3
ब्रिटिश वर्जिन आईलैन्ड्स 3
पापुआ न्यू गिनी 2
सबा 2
सेंट यूस्टेशियस 2
सोमालीलैंड 2
अब्खाज़िया 1
गुआंतानामो बे 1
लियोपोल्ड आई 1
सेंट पियरे और मिकेलॉन 1
यमन 1
See also  इस प्रकार लघु उद्योग लोन प्राप्त कर सकते हैं

 

कुल पीड़ित देश की संख्या पीड़ितों की संख्या मरने वालों की संख्या ठीक होने वालों की संख्या
232 1,920,918 119,686 453,289

 

इस तरह हम देखते हैं कि कोरोना महामारी से विश्व में अभी तक दो लाख के करीब लोग पीड़ित हो चुके हैं। इन महामारी के विषय में सबसे खतरनाक है, इसके लिए कोई दवा न पाना। भारत में लॉकडाउन काफी कारगर सिद्ध हुआ है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को एक बार फिर संबोधित किया। आइये जानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से निकली प्रमुख बातें।

लॉकडाउन 3 मई 2020 तक आगे बढ़ाया गया

यह पहले से ही अशंका जताई जा रही थी कि लॉकडाउन की आगे बढ़ाया जायेगा। यह आशंका सत्य भी साबित हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई 2020 तक के लिए आगे बढ़ा दिया है। पहले जहां 14 अप्रैल 2020 को लॉकडाउन खुलने वाला था, वहीं अब लॉकडाउन 3 मई 2020 को खुलेगा।

See also  हरियाणा उद्यमियों के लिए सरकार एक नया ई-इंडस्ट्री पोर्टल तैयार करवा रही है: गोयल

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा यह भी कहा गया है कि लॉकडाउन की समय – समय पर समीक्षा की जाती रहेगी। जिन इलाकों में 20 अप्रैल तक कोई नया कोरोना पॉजिटिव नही पाया जाता है, तो उस इलाकों को सशर्त लॉकडाउन से छुट दी जाएगी। इसके आलावा नरेंद्र मोदी जी द्वारा कोरोना से निपटने के लिए 7 सूत्रीय मंत्र भी दिया गया। प्रधानमंत्री का 7 सूत्रीय मंत्र निम्न है:

प्रधानमंत्री का 7 सूत्र- PM Modi Speech Highlights

पीएम सूत्र एक – बुजुर्गों का खास ख्याल रखें

नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के समय में बुजुर्गों का खास ख्याल रखने की जरूत है। खासकर उन लोगों की जिनको पहले से ही कोई बीमारी है। लॉकडाउन के समय में बुजुर्गों की एक्स्ट्रा केयर करने की जरूरत है।

पीएम सूत्र दो – आयुष मंत्रालय के नियमों का पालन करें

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की हेल्थ मिनिस्ट्री दिन – रात काम कर रही है, ताकि लोगों की जान बचाई जा सके। इसलिए यह जरूरी है कि हेल्थ मिनिस्ट्री द्वारा जारी किये जा रहे निर्देशों का पालन किया जाए। लोग अपनी शरीर की रोग – प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए गर्म पानी और काढ़ा इत्यादि का सेवन करें।

पीएम सूत्र तीन- सामजिक दुरी (Social Distancing) का पालन करें

नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोग आपसी समन्वय और समझदारी दिखाकर ही कोरोना को हरा सकते हैं। इसके लिए जरूरी है लोग समाजिक दुरी यानी Social Distancing का कढ़ाई के पालन करें। एक दुसरे से 6 फीट यानी एक मीटर की दुरी पर रहें। घर में भी मास्क लगाये और सेनीटाईजार का प्रयोग करें।

See also  ईमानदारी से income tax भरने वालों को सरकार देगी ईनाम, जानिए मिलेगीं कौन-कौन सी सुविधाएं

पीएम सूत्र चार – आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप देश के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किया गया एक मोबाइल ऐप है। इस ऐप पर कोरोना से बचाव के लिए सभी तरह की जानकारी दी गई है। इस ऐप पर जानकारी के साथ – साथ क्या एह्तितियत बरतना है, उसके विषय में भी जानकारी दी गई है। आरोग्य मोबाइल ऐप लोग खुद डाउनलोड करें और अपने परिचितों को भी डाउनलोड करने के लिए कहें।

पीएम सूत्र पांच – गरीबों की सेवा करें – PM Modi Speech Highlights:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह कठिन समय है। इस समय को हमें मिलजुल कर काटना है। ऐसे में जो लोग समृद्ध हैं उन्हें गरीबों की मदद करना चाहिए।

अपने आसपास के उन लोगों के लिए भोजन इत्यादि की व्यवस्था करना चाहिए, जो लोग इस संकट के समय में खुद से भोजन की व्यवस्था नहीं कर सकते हैं। यह मानवता दिखाने का समय है। इस समय में आप से जितना हो सके उतना लोगों की मदद करें।

पीएम सूत्र छः – किसी को नौकरी से न निकाले

प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि इस संकट के समय में किसी भी व्यक्ति की नौकरी नहीं जानी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देकर कहा कि सभी कंपनी और फैक्ट्री के मालिकों के लिए यह संवेदना दिखाने का समय है। इस कठिन समय में किसी को नौकरी से न निकाले।

पीएम सूत्र सात – कोरोना योद्धाओं का सम्मान करें

नरेंद्र मोदी ने यह बात जोर देकर कहा कि इस संकट के समय में जो लोग फ्रंट पर आकर लोगों की जान बचाने का काम कर रहे हैं। उन सभी लोगों का सम्मान करना चाहिए। पीएम मोदी ने डॉक्टर, नर्स, पुलिस और सफाई कर्मियों का नाम लेते हुए कहा कि यह लोग इस समय कोरोना के खिलाफ इस युद्ध में एक योध्या का काम कर रहे हैं। इस लोगों का हमें सम्मान करना चाहिए।

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number