अगर आप किसी भी क्षेत्र में कुछ अच्छा करना चाहते हैं तो किसी भी संसाधन की कमी या उम्र आपको अपना काम करने में बाधा नहीं डाल सकती। बात अगर युवाओं की करें तो इन दिनों  लगभग हर एक युवा अपना स्टार्टअप शुरू कर कुछ अच्छा करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन हम आपको एक ऐसे शख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी उम्र मात्र 14 साल है और वो 2 स्टार्टअप चला रहे हैं। कुनाल चंडीरमानी, 5वीं क्लास में पढ़ने वाला बच्चा बड़े-बड़े बिजनेसमैन्स को मात देकर अपना सफल स्टार्टअप चला रहा है, और वह भी ‘वन मैन आर्मी’ बनकर। है न हैरान होने वाली बात!

कुनाल चंडीरमानी, 14 की उम्र में चला रहे हैं 2 स्टार्टअप्स

मध्य प्रदेश की राजधानी, भोपाल शहर के रहने वाले कुनाल चंडीरमानी, कॉम्पैक एकेडमी (compacademy.in) और के-स्टार (kstar.in) नाम के दो स्टार्टअप्स चला रहे हैं। कुछ सालों पहले की बातें याद करते हुए कुनाल ने मीडिया के सामने बताया कि जब वह 5वीं कक्षा में थे, तब उनकी क्लास में अधिकतर बच्चे पढ़ाई में रुचि नहीं लिया करते थे, जबकि स्कूल में पढ़ाई जाने वाली चीज़ों की तरफ़ उनका ख़ास रुझान था।कुनाल चंडीरमानी

See also  इस दीवाली चमकेगा भारतीय लाइट बाजार, BIS ने चाइनीज लाइट पर चलाया डंडा

Credit- the optimist citizen

कुनाल चंडीरमानी कहते हैं कि उन्हें महसूस हुआ कि कमी, कोर्स या सिलेबस में नहीं बल्कि पढ़ाने के तरीक़े में है और इसलिए उन्होंने एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म विकसित करने के बारे में सोचा, जहां पर बच्चों को पढ़ाई करने के पॉइंट्स मिल सकें और उन पॉइंट्स की मदद से वह कोई ऑनलाइन गेम खेल सकें। इतना ही नहीं, उन्होंने सोचा कि इन गेम्स के ज़रिए भी किसी न किसी तरीक़े से कुछ पढ़ाया या सिखाया जा सकता है।

10 साल की उम्र में शुरू की ‘कॉम्पैक एकेडमी’

इसके बाद उन्होंने ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स की मदद से ख़ुद ही कोडिंग सीखी और अपने आइडिया को साकार करते हुए ‘कॉम्पैक एकेडमी’ नाम से ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म की शुरूआत की। उन्होंने रिसर्च करके डेटा और कंटेंट तैयार किया और अपने प्लेटफ़ॉर्म पर अलग-अलग विषयों और विशेष रूप से आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस जैसी तकनीकी के विषयों पर कोर्स शुरू किया। कुनाल ने 2014 में कॉम्पैक एकेडमी की शुरूआत की और इस दौरान उनकी उम्र महज़ 10 साल थी। आमतौर पर छोटी-छोटी सफलताओं के बाद बड़े लोग भी उपलब्धियों की सराहना तक ही सिमट कर रह जाते हैं, लेकिन कच्ची उम्र के इस मासूम दिमाग ने यह गलती नहीं की। कुनाल चंडीरमानी कहते हैं कि उन्हें रुकना पसंद नहीं है और इसलिए उन्होंने अपने पहले आइडिया को एक स्तर तक पहुंचाने के बाद दूसरे आइडिया पर काम करना शुरू किया।

See also  भारत के फेमस यूट्यूबर, जिन्हें यूट्यूब से मिला नाम, पैसा और शौहरत!

17 प्रतियोगिताओं में सफलता

अपने इस स्टार्टअप का नाम के-स्टार रखने के बारे में जानकारी देते हुए कुनाल ने बताया कि उन्हें इस ऑनलाइन वेंचर का कोई नाम समझ नहीं आ रहा था, इसलिए उन्होंने अपने नाम के पहले अक्षर को चुना और स्टार्टअप का नाम के-स्टार रख दिया। कुनाल चंडीरमानी बताते हैं कि वह पिछले एक साल में 17 प्रतियोगिताएं जीत चुके हैं। अपनी बड़ी उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने जानकारी दी कि 2017 में उन्होंने आईआईटी बॉम्बे में आयोजित हुए एथिकल हैकिंग कॉम्पिटिशन में पहला पुरस्कार जीता। इतना ही नहीं, कुनाल गूगल डेवलपर कम्युनिटी के मेंबर भी हैं।

टेड एक्स (TED X) में भी दिखी झलक

हर महीने गूगल के ज़रिए वह 200 डॉलर की कमाई करते हैं। कुनाल ने इस साल जनवरी में इंदौर के प्रेस्टीज इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट ऐंड रिसर्च द्वारा आयोजित टेड एक्स (TED X) इवेंट में अपने स्टार्टअप्स का प्रेजेंटेशन दिया। कुनाल बताते हैं कि वह फ़्रीलांस काम करके अपने स्टार्टअप्स की रनिंग कॉस्ट निकालते हैं।

फ़्रीलांस प्रोजेक्ट्स के बारे में जानकारी देते हुए कुनाल ने बताया कि वह मूलरूप से वेबसाइट और ऐप डिवेलपिंग के प्रोजेक्ट्स पर काम करते हैं। कुनाल ने 12 साल की उम्र में पहला फ़्रीलांस प्रोजेक्ट किया था।

उन्होंने अपने दम पर ‘के-स्टार’ नाम से ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म शुरू किया, जहां पर आप बिना किसी चार्ज या सब्सक्रिप्शन के अपनी वेबसाइट बना सकते हैं। इतना ही नहीं यूज़र्स, अपने हिसाब से वेबसाइट को कस्टमाइज़ भी कर सकते हैं। कुनाल ने नवंबर 2016 में के-स्टार की शुरूआत की।

See also  बिजनेस लोन के लिए कितना सिबिल स्कोर होना चाहिए? जानिए

समाज के लिए करना चाहते हैं कुछ बेहतर

एक 10 साल के बच्चे के हिसाब से कुनाल अपने इस स्टार्टअप से अच्छी कमाई कर रहे थे, लेकिन उनका इरादा पैसे कमाने का नहीं बल्कि पढ़ाई के तरीक़ों को बेहतर करने की अपनी मुहिम को आगे बढ़ाना था। कुनाल कहते हैं कि अभी उनकी उम्र पैसा कमाने की नहीं है बल्कि वह समाज के लिए कुछ बेहतर करना चाहते हैं।

कुनाल ने बताया कि कॉम्प एकेडमी के लिए रेवेन्यू मॉडल, उन्होंने सिर्फ़ अपने प्रोडक्ट को बेहतर बनाने के लिए किया, न कि पैसा कमाने के लिए।

Story credit-  the optimist citizen

नोट- सोशल मीडिया पर हमसे जुड़ने के लिए हमें फॉलो करें-  FacebookTwitter,  LinkedIn!

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number