भारतीय लोग अब अपनी शारीरिक हेल्थ को लेकर तो जागरुक हो गए हैं। लेकिन एक और ‘हेल्थ कंडीशन’ है, जिस पर देशवासियों का ध्यान नहीं गया है और वो है ‘क्रेडिट हेल्थ’। क्रेडिट स्कोर वह हेल्थ है, जो वित्तीय संस्थानों को यह बताता है कि व्यक्ति कर्ज चुकाने योग्य है या नहीं। इसलिए यदि वह लोन मांगता है तो उसे आसानी से लोन मुहैया कराया जाए।

यह भी पढ़ें:- बिटाना देवी: 5वीं पास उस महिला व्यवसायी की कहानी, जिसे राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

क्या है क्रेडिट स्कोर-

क्रेडिट हेल्थ को तीन अंकों से मापा जाता है, जिन अंकों को क्रेडिट स्कोर कहते हैं। यह स्कोर विभिन्न कारकों पर निर्भर होता है। ये कारक वक्त के साथ बदलते रहते हैं। इसीलिए यह अहम हो जाता है कि उन पर निगाह रखी जाए। आज हम आपको वे कारण बताने जा रहे हैं, जिनके लिए आपको अपनी क्रेडिट हेल्‍थ की नियमित पड़ताल करते रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें:- अमेरिकी एक्सपोर्ट घटाकर भारत ने चीन को एक्सपोर्ट के लिए 40 वस्तुओं की सूची बनाई

क्रेडिट प्रोफाइल की नियमित रूप से करें जांच-

किसी भी बिजनेस के विकास के लिए बिजनेस लोन का एक महत्वपूर्ण स्थान होता है। ऐसे में बिजनेस लोन मिलना क्रेडिट प्रोफाइल पर निर्भर करता है। इसलिए समझदारी इसी में है कि इस पर निगाह रखी जाए। अच्छी खबर यह है कि ऐसी बहुत सी वेबसाइट हैं, जिनसे आप फ्री में अपना क्रेडिट स्कोर चेक कर सकते हैं।

रिपोर्ट में गलतियां-

ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें लोगों के व्यक्तिगत विवरण गलत पाए गए हैं, जिनकी वजह से लोगों का क्रेडिट स्कोर काफी खराब हो जाता है। फिर उन्हें बिजनेस लोन पाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। समय-समय पर क्रेडिट स्कोर की जांच से आप क्रेडिट रिपोर्ट में होने वाली किसी भी गलती को समय रहते ठीक कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:- श्रीकृष्ण से सीखें बिजनेस में सफल होने की ये बातें, होगा करोड़ों का मुनाफा

पहचान चोरी से सुरक्षा-

हम भारतीय इस बात से अंजान है, लेकिन यह एक सच है कि हम सभी पर पहचान चोरी होने का खतरा है। यह ऐसी स्थिति है जिसमें कोई धोखेबाज़ हमारे ब्यौरे का इस्तेमाल कर के लोन व अन्य वित्तीय इंस्ट्रूमेंट तक पहुंच हासिल कर लेता है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक एक मिनट के हर सेकेंड में भारत में एक व्यक्ति साइबर अपराध का शिकार बनता है। ऐसे में रिपोर्ट को नियमित रूप से जांचना ही एकमात्र तरीका है, ताकि अगर हमें किसी ऐसे मसले से दोचार होना पड़े तो इससे हमें वक्त पर कार्यवाही करने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें:- तत्काल बिजनेस लोन पाने के लिए यहां क्लिक करें

आसानी से मिलेगा बिजनेस लोन-

किसी भी कारोबारी के लोन के आवेदन को नकार दिया जाए, तो वह कारोबारी तनाव में आ जाता है। यदि वह कारोबारी अपने बिजनेस के लिए धन जुटाने की कोशिश में हैं. तो लोन ना मिलने की स्थिति में उसके कारोबार के तरक्की का मौका और पैसा बनाने की संभावना की हानि होगी। अच्छा क्रेडिट स्कोर होने से बैंकों में आपके लोन आवेदन प्रक्रिया तेज हो जाएगी और जरूरत के वक्त पैसे भी आसानी से प्राप्त कर सकेगें।