इस दीवाली भारतीय लाइट के बाजार की किस्मत चमकने वाली है। इसका मुख्य कारण सरकार का नया नियम। हाल ही में सरकार ने एक नियम बनाया है जिसके मुताबिक इलेक्ट्रॉनिक सामान के आयात के लिए भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) के प्रमाण पत्र की जरूरत है। चाइनीज लाइट्स पर BIS की शर्त लगने के बाद मार्केट में चीनी लाइट्स महंगे दामों पर बिक रही हैं।

भारतीय लाइट बाजार

यह भी पढ़ें:- PAN Card में सुधार करने का यह है सबसे आसान तरीका

इस वजह से बढ़ी चाइनीज लाइटों की कीमत-

पहले बिना BIS सर्टिफिकेट के चीन से इलेक्ट्रॉनिक सामान का आयात कर लिया जाता था। लेकिन अब आयातित सामान की जांच के बाद बीआईएस से सर्टिफिकेट मिलने के बाद ही उसे भारत में बिक्री के लिए आने दिया जाएगा। जिसके कारण चीन से आने वाली लाइट की कीमत पिछले साल के मुकाबले 40 फीसदी तक बढ़ गई है।

मार्केट में बिक रहा पिछले साल का स्टॉक-

दिल्ली इलेक्ट्रिकल ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रधान भारत आहूजा ने मीडिया से बताया ‘इस साल चाइनीज लाइट्स पर BIS की शर्त लगने से भारत में चीनी लाइट के आयात में काफी कमी आई है। मार्केट में किसी के पास चाइनीज लाइट का नया स्टॉक नहीं हैं। दुकानदार पिछले साल के बचे हुए चाइनीज लाइट के स्टॉक को खत्म कर रहे हैं। इस वजह से चाइनीज लाइट की कीमत पिछले साल के मुकाबले 40% अधिक हो गई है।’

भारतीय लाइट बाजार

यह भी पढ़ें:- सावधान: SBI समेत इन 7 बैंकों के मोबाइल ऐप यूजर को खतरा

भारतीय लाइट बाजार पर असर-

चाइनीज लाइट के महंगे होने से लोगों का रुझान भारतीय लाइट की तरफ ज्यादा जाएगा। जिसके कारण इस दीवाली भारतीय लाइट बाजार की चांदी हो सकती है। अगर आपका भी लाइट का बिजनेस है, तो इस दीवाली आपके पास एक बेहतर मौका है। आप बिजनेस लोन लेकर अपना स्टॉक बढ़ा सकते हैं। जिससे कि आपकी सेल भी दुगनी हो सकती है।