अगर किसी व्यक्ति के पास कोई शानदार बिजनेस आइडिया है। लेकिन, वह किन्हीं कारणों से अपना बिजनेस शुरु नहीं कर पा रहे हैं या आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं तो यह आर्टिकल उन तमाम लोगों की मदद करेगा। इस आर्टिकल में हम बताने जा रहे हैं कि किसी शानदार बिजनेस आइडिया को सफल बिजनेस में कैसे तब्दील किया जाता है।

भारतीय स्टार्ट-अप्स को कैसे सफल बनाएं, इस विषय पर आयोजित एक सेमिनार में गूगल और अल्फाबेट्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) श्री सुंदर पिचाई ने कहां कि, “किसी भी बिजनेस आइडिया को जमीन पर उतारने के लिए और बिजनेस को सफल करने के लिए मुख्य तौर 5 बातों का पालन बहुत ईमानदारी के साथ करना चाहिए”।

सुंदर पिचाई ने बिजनेस आइडिया को सफल बिजनेस में तब्दील करने के लिए जो 5 अचूक मंत्र बताया वह कुछ इस प्रकार है:

  1. बिजनेस आइडिया को परखे
  2. अपने को कंफर्ट जोन से बाहर निकालिए
  3. जहां जरूरत हो, वहां रिस्क लीजिये
  4. लंबी अवधि की योजना बनाएं
  5. हर रोज कुछ सार्थक करने का प्रयास करें

बिजनेस आइडिया को परखे

फर्ज कीजिये कि आपने एक मिसाइल बना लिया। लेकिन, उस मिसाइल के बारें में यह भी नहीं जांचा है कि वह चलती है भी या नहीं चलती है। आपने उसी मिसाइल के आधार पर आपने अपने दुश्मन से लड़ाई लड़ने चले गये। लेकिन, जब मिसाइल चलाने की बारी आई तो पता चला कि आपनी मिसाइल चल ही नहीं रही है। अब आप क्या करेंगे? स्वाभाविक है कि आप रणक्षेत्र से बाहर निकल जायेंगे या अपने दुश्मन के आगे घुटने टेक देंगे।

ठीक यही स्थिति आप बिजनेस पर ऊपर लेकर देखिये। आपने एक बिजनेस आइडिया सोचा और उस बिजनेस आइडिया को बिना परखें उस आइडिया को इम्प्लीमेंट करने की तरफ बढ़ने लगे। आगे चलकर पता चलता है कि यह बिजनेस आइडिया तो फ्लाप है। इसकी मार्केट में कोई जरूरत ही नहीं है। इस स्थिति में स्वाभाविक तौर पर आप निरास हो जायेंगे।

इसे भी जानिए:Cash Flow क्या होता है? जानिए बिजनेस में इसका महत्व

इसीलिए, बिजनेस आइडिया को परखना सबसे महत्वपूर्ण होता है। बिजनेस आइडिया को परखने का मतलब है कि आप मार्केट सर्वे करें और अपने आइडिया को उस सर्वे पर रखें और देखें कि आपका आइडिया कितना कारगर होता है। अगर आपका आइडिया कारगर होता है तो आप पूरे जोर – शोर के साथ बिजनेस स्थापित करने की तरफ आगे बढ़ें। आपका बिजनेस सफल जरुर होगा।

अपने को कंफर्ट जोन से बाहर निकालिए

कंफर्ट जोन का अर्थ है कि आप जो कर रहे हैं उससे आगे बढ़ने का साहस जुटाना। अगर आपके पास कोई शानदार बिजनेस आइडिया है और इसके साथ ही आप कोई नौकरी कर रहे हैं। तो ऐसी स्थिति में आप यह सोचेंगे कि क्यों आराम से चल रही नौकरी छोड़कर बिजनेस में घुसने जाऊं? यही होता है अपना कंफर्ट जोन। अक्सर ऐसा देखा गया है कि इस स्थिति में रहते हुए व्यक्ति खुद का बिजनेस कभी स्थापित नहीं कर पाता है।

इसे भी जानिए: बिजनेस बढ़ाने के लिए कहाँ से मिलेगा पैसा? जानिए 5 तरीके

लेकिन, अगर आप वाकई बिजनेस करना चाहते हैं और आपके पास कोई बढ़िया बिजनेस आइडिया है तो आपको अपना कंफर्ट जोन छोड़कर बाहर आना पड़ेगा। तभी बिजनेस में सफलता प्राप्त होगी। हालंकि ऐसा नहीं मानकर चलना चाहिए कि बिजनेस शुरु करते ही आपके पास मुनाफा आना शुरु हो जायेगा। मुनाफा कमाने के लिए आपको बहुत मेहनत तो करना ही होगा। मेहनत के साथ धैर्य भी रखना होगा। एक समय बाद आप मुनाफा कमाना शुरु कर देंगे।

जहां जरूरत हो, वहां रिस्क लीजिये

बिना रिस्क उठाए तो व्यक्ति खाना भी नहीं खा सकता है। ऐसे में बिजनेस में सफलता प्राप्त करने के लिए या बिजनेस आइडिया को सफल बिजनेस में तब्दील करने के लिए जरूरत पड़ने पर रिक्स उठाना बहुत आवश्यक है।

रिक्स का अर्थ है कि माना, आपको लगता है कि आपका बिजनेस एक अन्य जगह पर होता तो और अधिक कमाई हो सकती है। लेकिन दूसरी जगह पर बिजनेस की ब्रांच शुरु करने के लिए आपके पास तत्काल में पर्याप्त धन नहीं है। तो आप बिना देर किये बिजनेस लोन के लिए किसी बैंक या एनबीएफसी में आवेदन दीजिये।

इसे भी जानिए: लाइन ऑफ़ क्रेडिट क्या है और यह बिजनेस लोन से कैसे अलग है? जानिए

बिजनेस लोन की सहायता से आप अपने बिजनेस की ब्रांच दूसरी पर बहुत आसानी से स्थापित कर सकते हैं। और किश्तों में बिजनेस लोन की रकम का भुगतान कर सकते हैं। आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoan कंपनी से एमएसएमई कारोबारियों को बिजनेस का विस्तार करने के लिए 7।5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में मिल जाता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

लंबी अवधि की योजना बनाएं

एक बात पर बहुत ध्यान से विचार करना चाहिए कि बिजनेस आइडिया को सफल बिजनेस बदलना को दोस्तों के साथ पार्टी करना नहीं होता है कि किसी होटल में गये और पार्टी कर के चले आये। किसी भी आइडिया को सफल बिजनेस तब्दील करना एक लंबा और प्रोसेस होता है। इसलिए जब भी बिजनेस शुरु तो लंबे समय की प्लानिंग करना अनिवार्य होता है। लंबे समय की प्लानिंग में निम्न चीजें आती हैं:

  • बिजनेस का स्वरूप कैसा होगा?
  • बिजनेस कितने लोकेशन पर खुलेगा?
  • बिजनेस को बढ़ाने के लिए धन कितना लगेगा और धन कहां से आएगा?
  • बिजनेस को कब कौन हैंडल करेगा?
  • बिजनेस का राजस्व ढांचा यानी रेवन्यू मॉडल कैसा होगा?

हर रोज कुछ सार्थक करने का प्रयास करें

क्या आपको जानकारी है कि इनफ़ोसिस शुरु होने से पहले श्री नारायाण मूर्ति जी क्या करते थे? इनफ़ोसिस शुरु करने से पूर्व श्री नारायण मूर्ति जी पटनी कम्प्यूटरस में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी करते थे। लेकिन उनका लक्ष्य बहुत क्लियर था। नौकरी के साथ – साथ वह हर रोज अपने बिजनेस के बारें में सोचा करते थे और जो सोचते थे, उसको कापी पर नोट करते रहते थे। इससे उन्हें अपने बिजनेस का स्ट्रक्चर खड़ा करने में मदद मिली।

इसे भी जानिए: नरेंद्र मोदी से सीखिए बिजनेस के ये 5 मंत्र

ठीक इसी तरह कोई भी बड़ा लक्ष्य सिर्फ एक दिन में पूरा नहीं हो जाता है बल्कि उसके लिए हर रोज ही कुछ न कुछ सार्थक और रचनात्मक कार्य करते रहना होता है। यह कुछ भी हो सकता है। इसमें बिजनेस का नाम सोचने से लेकर बिजनेस का रेवन्यू मॉडल सोचने तक या इससे भी अधिक छोटी – बड़ी बातें शामिल होती हैं।

इस तरह निष्कर्ष रुप में हम देखते हैं तो किसी भी बिजनेस आइडिया को सफल बिजनेस में तब्दील करने के लिए खुद के बिजनेस आइडिया को परखना, अपने कंफर्ट जोन से बाहर जाना, जरूरत पड़ने पर रिस्क उठाना, लंबे समय के लिए योजन बनाना, हर रोज कुछ सार्थक करते रहना, परिस्थिति चाहे जैसी भी हो, लगे रहना और खुद का आत्मविश्वाश बनाए रखना महत्वपूर्ण होता है।

इसे भी जानिए: छोटे बिजनेस के लिए कितना सहायक है बिजनेस लोन? जानिए