पिछले कई वर्षों में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग क्षेत्र में व्यापक विकास हुआ है. लघु उद्योग क्षेत्र में पिछले कुछ समय से काफी बदलाव भी आया है. ग्लोबलाइजेशन के इस दौर में तमाम चुनौतियोंयों का सामना करते हुए भी भारतीय अर्थव्यवस्था में लघु उद्योगों की भूमिका महत्वपूर्ण है.

लघु उद्योगों की चुनौतियों में शामिल – है धन की कमी और नवीनतम तकनीकी का उपयोग न होना. इस तरह की तमाम चुनौतियों के बावजूद एमएसएमई सेक्टर तेजी से आगे बढ़ रहा है. बिजनेस लोन के लघु कारोबारी के लिए ऑक्सीजन का काम करता है.

बिजनेस लोन मुख्य रुप से 2 तरह के होते हैं. पहला सिक्योर्ड यानी लोन के लिए कोई प्रॉपर्टी गिरवी रखना. बिजनेस लोन का दूसरा प्रकार है – अनसिक्योर्ड बिजनेस यानी जिस बिजनेस लोन के लिए कोई प्रॉपर्टी गिरवी नहीं रखना होता है उसे बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन कहते हैं.

वर्तमान समय में कई ऐसे बैंक और नॉन बैंकिंग फाइनेंसियल कंपनी हैं जहां से बिजनेस लोन दिया जाता है. ZipLoan फिनटेक सेक्टर की प्रमुख एनबीएफसी है जहां से लघु उद्यमियों को 5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन में प्रदान किया जाता है.

लघु उद्योग के लिए बिजनेस लोन

केंद्र सरकार द्वारा भारतीय अर्थव्यवस्था में लघु उद्योग और जीडीपी ग्रोथ में योगदान को देखते हुए उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए कई योजना चलाई जा रही हैं. सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं में लघु उद्योगों को बिजनेस लोन देने का प्रावधान किया गया है.

मुद्रा योजना, आधार उद्योग योजना (उद्योग आधार योजना) इत्यादि उद्योगों को बिजनेस लोन प्रदान करने के लिए चलाई जा रही योजना हैं. इन योजनाओं के जरिए कारोबारियों को बिना प्रॉपर्टी गिरवी रखे, कम ब्याज दर पर बेहद आसानी से बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है.

एनबीएफसी और सरकारी बैंक से बिजनेस लोन लेने की पात्रता

आधार उद्योग (उद्योग आधार) और मुद्रा योजना के अतिरिक्त नॉन बैंकिंग फाइनेसियल कंपनी और बैंक से बिजनेस लोन लेने की पात्रता कुछ इस प्रकार होती है:

  • उद्योग यानी कारोबार कम से कम 2 साल पुराना होना चाहिए
  • कारोबार में 5 लाख तक का टर्नओवर होना चाहिए
  • पिछले साल भरी गई ITR न्यूनतम 1 लाख 50 हजार होनी चाहिए
  • बिजनेस की जगह या घर की जगह में से कोई एक खुद कारोबारी के नाम पर होना चाहिए या ब्लड रिलेशन से संबंधित किसी के नाम पर होनी चाहिए

बिजनेस लोन से उद्योग का विस्तार करने में कैसे मदद मिलती है?

लघु उद्योगों में अक्सर देखा जाता है कि वर्किंग कैपिटल यानी दैनिक जरूरत में लगने वाले धन की कमी से जूझते रहते हैं. कई उद्योगों के मालिक जरूरत के मुताबिक धन न होने के चलते एम्प्लाई यानी कर्मचारी नहीं रख पाते हैं जिसका सीधे तौर कारोबार के मुनाफा पर असर पड़ता है.

ऐसे में कारोबारियों की सबसे बड़ी चिंता होती है कि कारोबार बढ़ाने के लिए पैसों का इंतजाम कैसे किया जाए? कारोबारी इस समस्या का समाधान बिजनेस लोन लेकर कर सकते हैं. कारोबार बढ़ाने के लिए बिजनेस लोन लेना बेहतर विकल्प साबित होता है.

बिजनेस बढ़ाने के लिए सरकार और एनबीएफसी दोनों से ही बिजनेस लोन दिया जाता है. बिजनेस लोन की शर्तें बहुत कड़ी नहीं होती है और बहुत अधिक कागज़ी दस्तावेजों की भी जरूरत नहीं पड़ती है. बिजनेस लोन लेने से पहले कुछ महत्वपूर्ण बातों का खासतौर से ध्यान रखना चाहिए.

बिजनेस लोन अप्लाई करने से पहले इन बातों का रखना चाहिए ध्यान

सिबिल स्कोर अच्छा हो: बिजनेस लोन या किसी भी तरह का लोन लेने के लिए यह बेहतर सिबिल की जरूरत होती है. बेहतर सिबिल की बात करें 700 से अधिक क्रेडिट स्कोर होने पर बेहतर सिबिल स्कोर माना जाता है.

सिबिल स्कोर क्या है और यह कैसे पता चलता है? जानिए

जरूरी कागज़ी दस्तावेजों को तैयार रखें

बिजनेस लोन के लिए जरूरी कागज़ी दस्तावेजों को तैयार रखना बेहद महत्वपूर्ण होता है. इसे अप्लाई करने के बाद समय बचता है और बिजनेस लोन जल्दी मिलता है. आइए समझते हैं कि बिजनेस लोन के लिए किन – किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है.

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • बिजनेस रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
  • बैंक स्टेटमेंट
  • ITR फाइल करने की कॉपी
  • बिजनेस या घर का मालिकाना हक का सर्टिफिकेट (प्रॉपर्टी आपके ब्लड रिलेशन में जैसे – माता – पिता, भाई, बहन, पुत्र या पुत्री के नाम रहेगा तो भी यह स्वीकार्य होगा)

बिजनेस लोन का उपयोग करने के लिए प्लान

सरकारी बैंक और कुछ एनबीएफसी कंपनियां बिजनेस लोन देने से पहले ही कारोबारी से उसका प्लान मांग लेती है. बैंक और एनबीएफसी यह समझने का प्रयास करते हैं कि कारोबारी बिजनेस लोन की रकम का उपयोग कैसे करेगा. बिजनेस लोन मिलने में यह फैक्टर कभी – कभी बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है.

ZipLoan से मिलता है सिर्फ 3 दिन में बिजनेस लोन

ZipLoan फिनटेक क्षेत्र की प्रमुख NBFC यानी नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी है। ‘ZipLoan’ कंपनी द्वारा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम कारोबारियों को कारोबार बढ़ाने के लिए बेहद कम शर्तों पर 1 से 5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन में प्रदान किया जाता है।

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की शर्ते बहुत कम हैं 

  • बिजनेस कम से कम 2 साल पुराना हो।
  • बिजनेस का सालाना टर्नओवर कम से कम 5 लाख से अधिक का होना चाहिए।
  • पिछले साल भरी गई ITR डेढ़ लाख रुपये की हो या इससे अधिक की होनी चाहिए।
  • घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक खुद के नाम पर होना चाहिए।
  • बिजनेस लोन की रकम अप्लाई करने के सिर्फ 3 दिन के भीतर मिल जाती है। (यह सुविधा जरुरी कागजी दस्तावेजों को उपलब्ध रहने पर मिलती है)
  • लोन घर बैठे ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है।
  • बिजनेस लोन की रकम 6 महीने बाद प्री पेमेंट फ्री है।
  • लोन की रकम 12 से लेकर 24 महीने के बीच वापस कर सकते है।

आपको यह लेख पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। बिजनेस से जुड़ी कोई भी नई अपडेट या जानकारी पाने के लिए हमसे फेसबुकट्विटर और लिंक्डन पर भी जुड़े।