फॉर्च्यून पत्र‍िका ने बुधवार को बिजनेस की दुनिया में 40 साल व उससे कम उम्र वाले प्रभावशाली व्यक्तियों की लिस्ट जारी की। इस लिस्ट में जिन चार भारतीय मूल के  लोगों को जगह मिली है, उनेमें से 3 महिलाएं हैं। लिस्ट में शामिल चारों भारतीयों के नाम हैं- दिव्या सूर्यदेवरा, अंजलि सूद, बैजू भट्‌ट और अनु दुग्गल। इस लिस्ट में इंस्टाग्राम के को-फाउंडर केविन सिस्ट्रॉम (34) और फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग (34) दोनों को पहले स्थान पर रखा गया है।

फॉर्च्यून 40 में इन 4 भारतीय मूल के लोगों ने बनाई जगह-

अमेरिका की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी जनरल मोटर्स की भारतीय मूल की चीफ फाइनेंस ऑफिसर दिव्या सूर्यदेवरा ने लिस्ट में टॉप 5 में जगह बनाई। दिव्या को इस लिस्ट में चौथे नंबर पर जगह दी गई। फॉर्च्यून ने कहा कि 39 वर्षीय सूर्यदेवरा ने उस वक्त इतिहास बनाया जब यह घोषणा की गई कि वह इस वर्ष के अंत में जनरल मोटर्स की पहली महिला सीएफओ बनेंगी।

फॉर्च्यून पत्र‍िका ने बुधवार को बिजनेस की दुनिया में 40 साल व उससे कम उम्र वाले प्रभावशाली व्यक्तियों की लिस्ट जारी की।

दिव्या के बाद इस लिस्ट में वीडियो शेयरिंग वेबसाइट वीमियो की चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर अंजलि सूद 14वें नंबर पर हैं। अंजलि 2014 में वीमियो से मार्केटिंग हेड के रूप में जुड़ी थीं। जिसके बाद पिछले साल अंजली को वीमियो का CEO बनाया गया। उन पर विमेयो को क्लाउड बेस्ड प्लेटफॉर्म बनाने की जिम्मेदारी है।

अंजलि के बाद इस लिस्ट में जो तीसरे भारतीय हैं उनका नाम है- बैजू भट्ट। रॉबिनहुड के को-फाउंडर और को-सीईओ बैजू भट्‌ट 24वें नंबर पर हैं। बैजू भट्‌ट जब 28 साल के थे, तब उन्होंने फाइनेंशियल सर्विसेज देने वाली कंपनी रॉबिनहुड की स्थापना की थी। बैजू अब 33 साल हैं और 5 साल बाद उनकी कंपनी की कीमत 5.6 बिलियन डॉलर आंकी गई।

बैजू के बाद इस लिस्ट में 32वें स्थान पर फीमेल फाउंडर्स फंड की फाउंडिंग पार्टनर अनु दुग्गल हैं। 39 साल की अनु ने महिलाओं के नेतृत्व वाली टेक कंपनियों में निवेश करने के लिए 2014 में यह फंड शुरू किया था। 50 लाख डॉलर से शुरुआत करने वाली अनु ने इस साल मई तक उन्होंने 2.7 करोड़ डॉलर इकट्‌ठे कर लिए। उन्हें फंड देने वालों में मिलिंडा गेट्स भी शामिल हैं।