फ्लेक्सी लोन एक नये तरह का लोन है। लोन के नाम में ही फ्लेसी लगा हुआ है। यह सिर्फ नाम से ही फ्लेक्सी नहीं है बल्कि वास्तव में ही बहुत फ्लेक्सिबल नियमों के साथ मिलता है फ्लेक्सी लो’। हालांकि फ्लेक्सी लोन सिर्फ पर्सनल लोन के तौर ही मिलता है। बिजनेस लोन ZipLoan से मिलता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

फ्लेक्सी लोन की अहमियत समझिये

अगर किसी कारोबारी को तत्काल धन की आवश्यकता हो लेकिन उक्त कारोबारी के पास तत्काल में धन उपलब्ध न हो तो कारोबारी क्या करेगा? संभव है कि अपने किसी संबंधी से पैसा उधार मांगे। लेकिन किन्हीं कारणों से संबंधी के पास भी तत्काल में धन की उपलब्धता न हो तो क्या होगा? वही होगा जो मंजुरे खुदा होगा।

इसे भी जानिए: फ्लेक्सी लोन Vs टर्म लोन: कौन सा है बेहतर?

क्या आप जानते हैं कि इस तरह की किसी भी परिस्थिति से निपटने में फ्लेक्सी लोन भरपूर मदद कर सकता है। जी हां, यह बिल्कुल सत्य है कि फ्लेक्सी लोन के जरिये कारोबारी किसी भी आर्थिक चुनौती का सामना कर सकते हैं और धन की जरूरत को पूरा कर सकते हैं।

फ्लेक्सी लोन के फायदे

दरअसल फ्लेक्सी लोन इस तरह से बनाया गया है कि लोगों को तत्काल में हुई धन समस्या का समाधान हो सके। फ्लेक्सी लोन के फायदे निम्नलिखित हैं:

  1. पैसा निकालने के लिए धन की तय की गई लिमिट मिलना।
  2. धन की उपलब्धता हर वक्त बनी रहती है।
  3. अन्य लोन के अपेक्षा ब्याज दर कम होती है।
  4. लोन चुकाने की प्रक्रिया लचीली है।
  5. न्यूनतम कागजातों की आवश्यकता होती है।
  6. जरूरत के अनुसार कैश निकालना संभव।
  7. सिर्फ निकाली गई धनराशि पर ब्याज।
  8. प्री पेमेंट करने की सुविधा।

पैसा निकालने के लिए तय लिमिट मिलना

फ्लेक्सी लोन के तौर पर ग्राहक को धन की तय की गई लिमिट मिलती है। धन की तय लिमिट ही लोन की धनराशि होती है। ग्राहक अपनी जरूरत के अनुसार तय की गई लिमिट में से धन निकालता है और अपने जरूरी कार्यो को करता है। ग्राहक चाहे तो अपनी जरूरत के मुताबिक ही लोन की रकम निकाले बाकी बैंक अकाउंट में ही छोड़ दे। इससे फायदा यह होगा कि सिर्फ ग्राहक द्वारा निकाली गई धनराशि पर ही ब्याज देना होगा।

धन की उपलब्धता हर वक्त बनी रहती है

किसी भी कारोबारी को अपना बिजनेस चलाने के लिए समय – समय पर धन की आवश्यकता होती रहती है। कई बार ऐसा भी होता है कि कारोबारी का पैसा मार्केट में फंस जाने की वजह से कारोबारी के पास पर्याप्त धन उपलब्ध नहीं होता है। इस तरह की परिस्थियों में फ्लेक्सी लोन बहुत कारगर होता है।

इसे भी जानिए: बिजनेस बढ़ाने में बिजनेस लोन का योगदान क्या है? जानिए

क्योंकि जब कोई कारोबारी फ्लेक्सी लोन ले लेता है तो उसके बैंक खाते में फ्लेक्सी लोन की रकम जमा हो जाती है और ब्याज तब तक नहीं देना होता है, जब तक कि कारोबारी द्वारा धन की निकासी नहीं हो जाती है। तो किसी भी स्थिति में कारोबारी के पास हर वक्त धन मौजूद रहेगा।

अन्य लोन के अपेक्षा ब्याज दर कम होती है

चूंकि बैंकों और वित्तीय संस्थाओं द्वारा फ्लेक्सी लोन अपने ही पुराने ग्राहकों को प्रदान किया जाता है। इसलिए फ्लेक्सी लोन पर ब्याज दर कम लागू होती है।

लोन चुकाने की प्रक्रिया लचीली है

फ्लेक्सी लोन को खास बनाने में एक अहम भूमिका निभाता है लोन चुकाने का आसान और सहज सुविधा का मिलना। फ्लेक्सी लोन को चुकाने के लिए कई तरह की सुविधा दी जाती है। इसमें ग्राहक चाहें तो शुरुवाती EMI सिर्फ ब्याज की चुका सकते है और मूल रकम बाद में चुकाई जा सकती है।

इसे भी जानिए: लोन EMI कैलकुलेटर क्या होता है (EMI Calculator in Hindi)

ग्राहकों से समाने यह भी विकल्प होता है कि वह चाहें तो उनके पास जैसे – जैसे रकम आती जाए, वह वैसे – वैसे लोन की रकम को चुकाते रहें। इससे सबसे बड़ा लाभ होता है कि लोन पर लगने वाला ब्याज की दर कम हो जाती है।

न्यूनतम कागजातों की आवश्यकता होती है

फ्लेक्सी लोन लेने के लिए ग्राहकों को कुछ भी अलग से कागजात नहीं देना होता है, क्योंकि ग्राहक द्वारा बैंक खाता खुलवाते समय सभी जरूरी कागजात जमा ही किया जाता है। तो इससे पेपर वर्क का प्रोसेस नहीं करना होता है। और न ही कोई अलग से कागजात जमा करना होता है।

जरूरत के अनुसार कैश निकालना संभव

फ्लेक्सी लोन में यह सुविधा मिलती है कि जितने धन की जरूरत, उतना ही धन निकाल सकते है। और ब्याज सिर्फ निकाले गये धन पर देना होता है। इस तरह देखा जाए तो कारोबारियों के लिए वित्तीय सहायता के तौर पर बेहतरीन विकल्प है।

प्री पेमेंट करने की सुविधा

फ्लेक्सी लोन लेने पर यह सुविधा मिलती है, कि ग्राहक लोन के टेन्योर से पहले भी लोन की कुल रकम का भुगतान वित्तीय संस्था को करके अपना लोन समाप्त कर सकता है।

ZipLoan से पाइए बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन

नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी (एनबीएफसी) ZipLoan द्वारा एमएसएमई कारोबारियों को 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में प्रदान किया जाता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि ZipLoan भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा पंजीकृत कंपनी है। बिजनेस लोन की पात्रता निम्नलिखित है:

बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करें

  • कारोबार 2 साल से अधिक का पुराना होना चाहिए।
  • बिजनेस का सालाना टर्नओवर 5 लाख रुपये से अधिक होना चाहिए।
  • कारोबार के लिए आईटीआर फाइल होना चाहिए। पिछले फाइनेंशियल ईयर में डेढ़ लाख रुपये से अधिक की आईटीआर फाइल होना चाहिए।
  • घर और बिजनेस की जगह दोनों अलग – अलग होना चाहिए।
  • घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक खुद के कारोबारी के नाम पर या कारोबारी के किसी ब्लड रिलेटिव के नाम होना चाहिए।

बिजनेस लोन के लिए जरूरी कागजात

ZipLoan द्वारा इस बात का खास ध्यान रखा जाता है कि कारोबारी को बिजनेस लोन लेने के लिए बहुत अधिक कागजातों को इक्कठा करने के लिए भागदौड़ न करना पड़े, इसलिए बहुत बेसिक कागजातों पर बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है। निम्नलिखित कागजातों की आवश्यकता होती है:

  • आधार कार्ड।
  • पैन कार्ड।
  • 9 महीने का बैंक स्टेटमेंट (करेंट अकाउंट)।
  • पिछले वित्तीय वर्ष में फाइल किये गये आईटीआर की कॉपी ।
  • घर या बिजनेस की जगह में से किसी एक का मालिकाना हक का प्रूफ। मालिकाना प्रूफ खुद। कारोबारी के नाम हो या कारोबारी के किसी ब्लड रिलेटिव के नाम पर होगा तो भी मान्य होता है।

इसे भी जानिए: ZipLoan से लोन लेने का फायदा क्या है? जानिए