आज के इस टेक्नोलॉजी के दौर में हर रोज नई – नई तकनीक आ रही है। एडवांस टेक्नोलॉजी के जरिये कई तरह के नवीन रोजगार का सृजन हो रहा है। नवीन रोजगार में ही ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस है। ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस मूलतः टेक्नोलॉजी पर आधारित है। इसी के साथ आपको बता दें कि ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस बहुत मुनाफ़े वाला भी बिजनेस है। इस बिजनेस को कम इन्वेस्टमेंट में शुरु किया जा सकता है और बेहतर मुनाफा कमाया जा सकता है। आइये आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ड्रॉपशिपिंग बिजनेस के बारें में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं।

क्या है ड्रॉपशिपिंग बिजनेस?

ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस एक नवीन आइडिया का का बिजनेस है। इसे कम नवीन बिजनेस का एक मॉडल भी कह सकते हैं। इस बिजनेस को चलाने वाले व्यक्ति को अपना धन बहुत अधिक खर्च नहीं करना होता है। बल्कि ग्राहकों से अधिक से अधिक ऑर्डर प्राप्त करना होता है और प्राप्त ऑर्डर को संबंधित कारोबारी के यहां पहुंचाना होता है।

ड्रॉपशिपिंग बिजनेस मॉडल मूलतः ऑनलाइन बिजनेस है। इस बिजनेस में ड्रॉपशिपिंग बिजनेस चलाने वाला व्यक्ति विभिन्न प्रोडक्ट की लीड जेनरेट करता है। जब लीड जेनरेट हो जाती है तो प्राप्त लीड को संबंधित प्रोडक्ट सप्लायर के यहां ट्रांसफर कर दिया जाता है।

यह भी जानिए: ऑनलाइन शॉपिंग से जुडी दिक्कते होगी समाप्त, नई सरकार लाएगी गाइडलाइन

सप्लायर ऑर्डर के अनुसार प्रोडक्ट पैक करता है और ग्राहक के पते पर प्रोडक्ट को भेज देता है। इस प्रकार इस बिजनेस को एक आंतरिक कोलाब्रेशन और इकोसिस्टम के तहत चलाया जाता है। इस तरह के बिजनेस में ग्राहक, सप्लायर और ड्रॉपशिपिंग कारोबारी, तीनों को ही समय में लाभ मिल जाता है। तीनों को लाभ निम्न प्रकार से मिलता है।

ड्रॉपशिपिंग कारोबारी का लाभ: ड्रॉपशिपिंग कारोबारी ग्राहक से लीड जेनरेट करता है। लीड को संबंधित सप्लायर के यहां भेजता है। सप्लायर ग्राहक को प्रोडक्ट भेजता है। जब ग्राहक प्रोडक्ट के मूल्य का भुगतान करता है तो उस भुगतान में से कुछ हिस्सा ड्रॉपशिपिंग कारोबारी को भी प्राप्त होता है।

इसे भी जानिए: ऑनलाइन बिजनेस शुरु करना चाहते हैं? जानिए 5 महत्वपूर्ण जानकारियां

ग्राहक का लाभ: आज के समय में हर कोई चाहता है कि उसे उसकी जरूरत की सामान घर बैठे मिल जाए। ग्राहक अपना फोन स्क्राल करते हुए अपनी जरूरत की चीज का ऑर्डर ऑनलाइन कर देता है। और उसे एक से दो दिन के भीतर घर बैठे उसके जरूरत की चीज बहुत आसानी से मिल जाती है। इस तरह ग्राहक को कहीं बाहर भाग-दौड़ नहीं करता पड़ता है।

ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस कैसे शुरु हो सकता है?

इस नवीन बिजनेस को शुरु करना बहुत आसान है। इसके लिए बहुत अधिक सेटअप या बहुत अधिक धन की आवश्यकता नहीं होती है। ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस शुरु करने के लिए चाहिए एक अदद लैपटॉप/कम्पूटर, इंटरनेट कनेक्शन। यह दो चीजें ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस शुरु करने के लिए बेसिक जरूरतें हैं।

ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस किसी अन्य रिटेलर्स की वेबसाइट के साथ जुड़कर शुरु किया जा सकता है। इसके साथ ही खुद की वेबसाइट बनाकर भी यह बिजनेस शुरु किया जा सकता है। इस बिजनेस का मूल- ग्राहक को खोजकर लाना। और ग्राहक को उसके मनमुताबिक सामान दिलवाना।

इसे भी जानिए: सफल बिजनेसमैन कैसे बने? जानिए 5 टिप्स

उदाहारण के तौर देखिये। दिनेश एक ड्रॉपशिपिंग कारोबारी है। दिनेश ने अपनी वेबसाइट बनाया। दिनेश की वेबसाइट का नाम फैशन शॉप है। अब दिनेश अपनी फैशन शॉप वेबसाइट पर उन सभी सप्लायर्स को जोड़ेगा जो प्रोडक्ट ऑनलाइन बेचने में इंट्रेस्टेड होंगे। जब सभी रिटेलर्स दिनेश की वेबसाइट से जुड़ जायेंगे तो अब दिनेश उन सभी रिटेलर्स से उनके यहां मिलने वाले प्रोडक्ट की फोटो और उन प्रोडक्ट का मूल्य लेगा। प्रोडक्ट के फोटो और मूल्य की लिस्टिंग अपनी वेबसाइट फैशन शॉप पर करेगा। इस तरह दिनेश की दुकान प्रोडक्ट से सज गई। अब दुकान तो सज गई लेकिन ग्राहक कैसे आएंगे?

दिनेश के सामने अब बड़ी चुनौती होगी कि वह कैसे भी करके अपनी वेबसाइट पर ग्राहकों को लेकर आये। दिनेश को इसके लिए ऑनलाइन ऐड चलाना होगा। दिनेश अपने पैसों से ऐड चलाएगा। ऐड में प्रोडक्ट और प्रोडक्ट का मूल्य दर्ज होगा। इसके साथ उस प्रोडक्ट को खरीदने के लिए एक बटन भी होगी। खरीदनें वाली बटन पर क्लिक करते ही ग्राहक उस प्रोडक्ट का ऑर्डर कर सकेगा। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि प्रोडक्ट का ऑर्डर करने से ऑर्डर सप्लायर के पास नहीं जायेगा बल्कि दिनेश के यहां जायेगा।

इसे भी जानिए: छोटे बिजनेस के लिए कितना सहायक है बिजनेस लोन? जानिए

दिनेश उस ऑर्डर को सप्लायर के यहां भेजेगा। सप्लायर उस ऑर्डर को पूरा करने के लिए प्रोडक्ट को सीधे ग्राहक के पते पर भेज देगा। इस तरह ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस घर में बैठे बहुत आसानी से संचलित किया जाता है।

ड्रॉपशिपिंग बिजनेस का रेवेन्यु मॉडल क्या है/पैसा कैसे मिलता है?

किसी भी बिजनेस के बारें में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर लेने के बाद सभी लोगों की जिज्ञासा यह जानने में अधिक होती है कि इस बिजनेस में पैसा कैसे कमाया जाता है। ड्रॉपशिपिंग बिजनेस के रेवेन्यु मॉडल की बात करें तो इस बिजनेस का रेवेन्यु मॉडल बहुत शानदार है। इसमें किसी भी तरह की कोई झंझट वगैरह नहीं है।

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि ड्रॉपशिपिंग का बिजनेस ऑनलाइन से जुड़ा हुआ है। इसलिए इस बिजनेस का रेवेन्यु मॉडल भी ऑनलाइन ही है। ड्रॉपशिपिंग कारोबारी जब किसी प्रोडक्ट कीलीड जेनरेट करता है तो वह सप्लायर के द्वारा बताए गये मूल्य से अधिक मूल्य बताकर प्रोडक्ट की लीड जेनरेट करता है।

इसे भी जानिए: बिजनेस आइडिया को सफल बिजनेस में कैसे बदलें? जानिए

जब कोई ग्राहक प्रोडक्ट ऑर्डर करता है तो ग्राहक प्रोडक्ट का वही मूल्य चुकाता है, जो मूल्य ड्रॉपशिपिंग कारोबारी उसे ऐड में दिखाता है। अब ड्रॉपशिपिंग कारोबारी सप्लायर को प्रोडक्ट का वह मूल्य देता है, जो सप्लायर ने मांगा होता है। इस तरह यहां ड्रॉपशिपिंग कारोबारी को मनमुताबिक लाभ कमाने का भरपूर मौका उपलब्ध रहता है।

अभी बिजनेस लोन पाए