कोरोना एक महामारी है। कोरोना महामारी के लक्षण फ्लू से मिलते-जुलते हैं। संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं।

यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। कुछ मामलों में कोरोना वायरस घातक भी हो सकता है।

खास तौर पर अधिक उम्र के लोग और जिन्हें पहले से अस्थमा, डायबिटीज़ और हार्ट की बीमारी है, उन्हें कोरोना से अधिक बचाव करना चाहिए। (साभार – इकोनामिक्स टाइम्स)

कोरोना के लक्षण निम्न हैं:

  • सिरदर्द होना
  • नाक का लगातार बहना
  • खांसी
  • गले में खरास होना
  • कई दिनों तक अस्वस्थ्य होना

बीबीसी हिन्दी के अनुसार कोरोना के लक्षण को परिभाषित करते हुए कुछ इस प्रकार बताया गया गया है:

कोरोना के शुरुवाती लक्षण

इंसान के शरीर में पहुंचने के बाद कोरोना वायरस उसके फेफड़ों में संक्रमण करता है। इस कारण सबसे पहले बुख़ार, उसके बाद सूखी खांसी आती है। बाद में सांस लेने में समस्या हो सकती है।

वायरस के संक्रमण के लक्षण दिखना शुरू होने में औसतन पाँच दिन लगते हैं। हालांकि वैज्ञानिकों का कहना है कि कुछ लोगों में इसके लक्षण बहुत बाद में भी देखने को मिल सकते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार वायरस के शरीर में पहुंचने और लक्षण दिखने के बीच 14 दिनों तक का समय हो सकता है। हालांकि कुछ शोधकर्ता मानते हैं कि ये समय 24 दिनों तक का भी हो सकता है।

कोरोना वायरस उन लोगों के शरीर से अधिक फैलता है जिनमें इसके संक्रमण के लक्षण दिखाई देते हैं। लेकिन कई जानकार मानते हैं कि व्यक्ति को बीमार करने से पहले भी ये वायरस फैल सकता है।

बीमारी के शुरुआती लक्षण सर्दी और फ्लू जैसे ही होते हैं जिससे कोई आसानी से भ्रमित हो सकता है। इस लिए इसे इस चार्ट के माध्यम से बहुत आसानी से समझा जा सकता है।

कोरोना के लक्षण और बचाव

कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या

  • यह वायरस दुनिया भर के 170 देशों में अपना पैर फैला दिया है।
  • कोरोना से दुनिया भर में अब तक 13,050 लोगों की मौत हो चुकी हैं।
  • ईरान में अब तक कोरोना से 853 और दक्षिण कोरिया में 81 लोगों की मौत हो चुकी है
  • सिर्फ इटली में ही अब तक कोरोना से 2,158 लोगों की मौत हो गयी है।
  • चीन में अब तक कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 80,824 हो गयी है।
  • चीन में अब तक कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या करीब 3200 हो गयी है।
  • दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 3,07,625 के पार चली गयी है।

साभार – इकोनामिक्स टाइम्स

भारत में कोरोना बहुत तेजी से फ़ैल रहा है। हालांकि भारत सरकार द्वारा हरसंभव उपाय किया जा रहा है। इसी संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 22 मार्च 2020 को जनता कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। जनता कर्फ्यू के दिन लोगों से अपील की गई है कि लोग 22 मार्च को अपने घरों से न निकले।

इसे भी पढ़े: कोरोना वायरस क्या है और इसका बिजनेस पर क्या असर पड़ा है?

भारत में अभी तक कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 300 से अधिक हो चुकी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार भारत में कोरोना के मामले कुछ इस प्रकार हैं:

राज्यकोरोना पॉजिटिव मामले कोरोना पॉजिटिव (विदेशी नागरिक) कोरोना से ठीक हुए लोगकोरोना से हुई मौत
दिल्ली26151
हरियाणा171400
केरल49700
राजस्थान23230
तेलंगना211110
उत्तर प्रदेश24390
लद्दाख13000
जम्मू कश्मीर4000
पंजाब13001
कर्नाटक20011
तमिलनाडु6010
महाराष्ट्र64301
आंध्र प्रदेश3000
उत्तराखंड3000
उड़ीसा2000
बंगाल3000
पांडिचेरी1000
चंडीगढ़5000
छत्तीसगढ़1000
गुजरात14000
हिमाचल प्रदेश2000
मध्य प्रदेश4000
बिहार2001
कुल मामले31541205

सोर्स- केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट

जनता कर्फ्यू क्या है और इसका असर क्या हुआ है?

जनता कर्फ्यू कोई सरकार का आदेश नहीं होता है। बल्कि इसमें पब्लिक खुद को घरों में बंद कर लेती है। कोई व्यक्ति बाहर नहीं निकलता है। जैसा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि, लोग जिस शहर में हैं, वहीं रहे। वहां से दूसरी जगह न जाए।

जनता कर्फ्यू का असर

अधिकांश शहरों सड़के सूनसान हैं। रेलवे स्ट्रेशन, बस स्ट्रेशन, मेट्रो स्टेशन पर आवागमन बंद हैं। लोग घरों में ही हैं। जनता कर्फ्यू सफल दिख रहा है।

कोरोना वायरस के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी किया गया है। हेल्प लाइन नंबर +91-11-23978046 है। इस हेल्प लाइन नंबर से कोई भी व्यक्ति कोरोना से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकता है।