बिजनेस में कामयाबी कौन नही पाना चाहता है? लेकिन क्या आप जानते हैं बिजनेस में सफल होने के लिए कुछ आदतों को भी छोड़ना जरूरी होता है। हमारी आदतों का हमारे कारोबार पर भी प्रभाव पड़ता है। अगर आदतें अच्छी हैं तो बिजनेस फायदा होता है लेकिन जब आदतें ठीक नहीं होती है तो कारोबार में घाटा उठाना पड़ सकता है।

आज से करीब 20 साल पहले 1995 में शाहरुख़ खान और काजोल अभिनीत फिल्म “दिलवाले दुल्हनियां ले जायेंगे” आई थी। बिजनेस के इस ब्लॉग में इस फिल्म का जिक्र करना इस लिए जरूरी हो जाता है, क्योंकि कभी- कभी हमें फिल्मों से कुछ ऐसे संवाद यानी डायलॉग सुनने को मिलते हैं जिनकी कारोबारी में और निजी जिन्दगी में बहुत अहमियत होती है।

अभी बिजनेस लोन पाए

फिल्म डीडीएलजे में संवाद है- “अगर, ‘आदतों को वक़्त पर न बदलो तो वे जरूरतें बन जाती हैं।’ यह बिल्कुल सत्य है। अब यह व्यक्ति के ऊपर निर्धारित होता है की वह किस तरह की आदतों को अपनी जरूरत बनाता है।

बिजनेस में कामयाबी: ‘आदतों’ का योगदान

आदत और संगत दो ऐसी चीजें हैं जिनका इंसान पर गहरा प्रभाव होता है। व्यक्तिगत जिन्दगी में सोने और जगने की आदत की बात करें तो पाएंगे की जिन लोगों को जल्दी सोने और जल्दी जागने की आदत होती है वह लोग अधिक काम कर पाते हैं (हालांकि यह जरूरी नहीं है लेकिन अधिकतर ऐसे मामलों में यह देखने को मिलता है)। पुरानी कहावत भी है कि- ‘जो सोवत है वह खोवत है’। आदतों का हमारे जीवन में गहरा प्रभाव होता है। अच्छी आदतों से कारोबार में तरक्की होती है और बुरी आदतों से नुकसान।

See also  श्रीकृष्ण से सीखें बिजनेस में सफल होने की ये बातें, होगा करोड़ों का मुनाफा

खुशखबरी: बिजनेस लोन संबंधी नियम में हुआ बदलाव! 3 सेक्टर को होगा फायदा

बिजनेस रणनीतिकार कौशल कुमार कहते है, “कारोबार में अच्छी आदतों होना बिजनेस के लिए अतिरिक्त कौशल होता है। किसी इंसान में समय से कार्यालय आने और समय से अपना काम पूरा करने की आदत है तो यह उसके व्यक्तिगत उपलब्धि के साथ ही साथ उसके व्यावसायिक जरूरतों के लिए भी बेहतर होता है।”

बिजनेस में कामयाबी: इन आदतों को छोड़ना होता है फायदेमंद

कारोबारियों के साथ ऐसी भी स्थिति देखने को मिलती है। जब कभी उन्हें कारोबार में वित्तीय नुकसान हो जाता है या मनमुताबिक तरक्की नहीं होती तो वह शराब पीने लगते हैं। कुछ ऐसे नशा करने लगने हैं जिससे सिर्फ और सिर्फ तबाही ही होनी होती है। यह शुरुवात में सिर्फ दिखावा होता है लेकिन कुछ समय बाद यह धीरे- धीरे आदत बन जाता है। और भी बहुत सी ऐसी आदतें हैं जिनको छोड़कर सफल कारोबारी बना जा सकता है। उन आदतों को जानने से पहले इस बात को समझ लीजिए की सफलता का मतलब सिर्फ व्यापार में अधिक पैसा या मुनाफा कमाना नहीं होता है बल्कि घर- परिवार और मित्रों में संतुष्टि का भाव आना चाहिए।

सफल होने के लिए छोड़िये इन आदतों को

आज का काम कल करेंगे

ऐसा अकसर होता है की लोग यह बोलते है- इसे कल कर लेंगे। यह हर बार ठीक नहीं होता है। क्योंकि कल किसने देखा है? कबीर दास जी बहुत प्रचलित दोहा है-

काल करें सो आज कर। आज करें सो अब।।

पल में प्रलय हो जाएगी,बहुरि करेगा कब॥

इस दोहे से प्रेरणा लेने वाली बात यह है की किसी भी काम को किसी और दिन के लिए टाँगना नहीं चाहिए। जितना जल्दी हो सके काम को खत्म कर लेना चाहिए।

बिजनेस के लिए मदद मांगने में शर्म छोड़िये

शर्म एक ऐसी चीज है जो कोई भी नया काम करने से रोकती है। अगर आपको अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए किसी से कुछ मदद चाहिए तो बिना किसी संकोच के मांग लेना चाहिए। एक चीज हमेशा ध्यान में रखना चाहिए कि मदद मांगने से कोई कभी छोटा नहीं होता है। दूसरी चीज यह ध्यान में रखना चाहिए की जहां से मदद न मिले तो वहां गुस्सा भी नहीं होना चाहिए। हो सकता है जहां से आपने मदद की मांग को वह व्यक्ति या संस्थान मदद करने की स्थिति में न हो।

जानिए कैसे मिलती है व्यापार में सफलता

बिजनेस में अहंकार करना होता है बहुत खतरनाक

कहते हैं न कि अहंकार व्यक्ति को खा जाता है। निगल जाता है। महान ज्ञानी रावण को उसका अहंकार ही उसका समूल नाश करा दिया। ठीक ऐसा ही कुछ बिजनेस में होता है। कारोबार में अहंकार करने का मतलब होता है अपने आपको पीछे की तरफ ले जाना। तो इस चीज से बचना चाहिए।

See also  बैंक vs एनबीएफसी: आपके लिए बेहतर कौन है?

बिजनेस में सीखने से न करें कभी परहेज

लर्निंग एक ऐसी चीज होती है जिससे व्यक्ति चाहे तो शून्य से शिखर पर पहुंच सकता है। बिजनेस में हमेशा कुछ न कुछ नया आता रहता है। आपकी उम्र चाहें कितनी भी हो सीख आप हर उम्र में सकते हैं। तो कारोबारियों को सलाह है की कभी भी सीखने से परहेज नहीं करना चाहिए।

बिजनेस में कामयाबी पाने के लिए बात- बात में नाराज होना छोड़िये

ऐसे भी होता है की कारोबारी ग्राहकों की किसी बात पर नाराज हो जाते हैं। ग्राहक जब किसी चीज के बारे में कई बर पूछ लेता है तो उसे नाराज हो जाते हैं। कारोबारी को ऐसा कभी नहीं करना चाहिए। हमेशा इतना धैर्य रखना ही चाहिए जिससे वह ग्राहकों की बातों का उत्तर दे सके और ग्राहक को बुरा न लगे।

turant business loan

बिजनेस में कामयाबी पाना है तो किसी की भी बेइज्जती न करें

अगर आपके बिजनेस में आपके साथ कुछ सहकर्मी भी हैं जो आपके लिए काम करते हैं। अगर आपके सहकर्मियों से जाने- अनजाने में कोई गलती हो जाती है तो किसी भी हालत में उनकी बेइज्जती नहीं होनी चाहिए। कितनी भी बड़ी गलती हो उसपर आराम से बैठकर बात की जा सकती है।

व्यापारी को कभी नेगेटिव नहीं सोचना चाहिए

सकारात्मक सोच से काम के क्षेत्र में जरूर सफलता मिलती है। कारोबारी को जोखिम से घबराना नहीं चाहिए बल्कि उसका डटकर सामना करना चाहिए। कारोबारी को अपने काम की पूरी जानकारी होनी चाहिए और उससे जुड़ी बेहतर रणनीति भी होनी चाहिए। बिजनेस में अकेले चलकर सफलता हासिल करने से बेहतर है कि कुछ सहयोगियों को साथ लेकर काम किया जाए।

See also  कम पूँजी में लघु उद्योग लगाए - कम पैसों में शुरु होने वाले बिजनेस

बिजनेस में लाभ और हानि दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं। जब व्यापार में लाभ होता है तो व्यापारी खुश होते हैं लेकिन व्यापार में हानि होने पर व्यापारी नकारात्मक सोचना लगते हैं। लेकिन यह नहीं होना चाहिए। इससे हीन भावना मन में घर कर लेती हैं। इसलिए किसी भी व्यापारी को कभी भी नेगेटिव नहीं सोचना चाहिए।

बिजनेस में सफलता के लिए बिजनेसमैन में होने चाहिए ये गुण और क्षमताए

ZipLoan से लीजिए बिजनेस लोन 

ZipLoan’ फिनटेक क्षेत्र की प्रमुख NBFC यानी नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी है। ‘कंपनी द्वारा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम कारोबारियों को लोन दिया जाता है। कारोबार बढ़ाने के लिए बेहद कम शर्तों पर से 7.5 लाख तक का बिजनेस लोन सिर्फ 3 दिन* में प्रदान किया जाता है।

ZipLoan से बिजनेस लोन पाने की शर्ते बहुत कम हैं 

  • बिजनेस कम से कम 2 साल पुराना हो।
  • बिजनेस का सालाना टर्नओवर कम से कम 10 लाख से अधिक का होना चाहिए।
  • पिछले साल भरी गई ITR डेढ़ लाख रुपये की हो या इससे अधिक की होनी चाहिए।
  • घर या बिजनेस की जगह में से कोई एक खुद के नाम पर होना चाहिए।

ZipLoan से बिजनेस लोन लेने के कई फायदे हैं 

  • बिजनेस लोन की रकम अप्लाई करने के सिर्फ 3 दिन* के भीतर मिल जाती है। (यह सुविधा जरुरी कागजी दस्तावेजों को उपलब्ध रहने पर मिलती है)
  • लोन घर बैठे ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है।
  • बिजनेस लोन की रकम 6 महीने बाद प्री पेमेंट फ्री है।
  • लोन की रकम 12 से लेकर 36 महीने के बीच वापस कर सकते है।
working capital loan

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number