यह सर्वविदित है कि कोई भी बिजनेस शुरु करने के लिए एक बिजनेस आइडिया और आवश्यक धन की जरूरत होती है।

बिजनेस आइडिया से जहां से कारोबार स्थापित होने में मदद मिलती है, वही आवश्यक धन से बिजनेस के संचालन में मदद मिलती है।

भारत में ऐसे लोगों की बहुत अधिक संख्या है, जो खुद का बिजनेस तो चलाना चाहते हैं, लेकिन उनके पास इतना पर्याप्त धन नहीं होता है, जिससे वह बिजनेस स्टार्ट कर सकें।

वही ऐसे भी लोगों की संख्या भी बहुत अधिक है, जो बिजनेस तो कम धन में शुरु कर देते हैं, लेकिन एक समय बाद उन्हें बिजनेस बढ़ाने की आवश्यकता महसूस होती है।

बिजनेस बढ़ाने के लिए धन की जरूरत होती है। कई बार ऐसी परिस्थितियां खड़ी हो जाती हैं, कारोबारी का पैसा मार्केट में फंस जाता है, जिसके चलते कारोबारी के पास पैसा होते हुए भी, पैसा हाथ में नहीं होता है। ऐसी परिस्थिति में कारोबारी के लिए बिजनेस लोन सबसे बेहतरीन विकल्प साबित होता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

वर्तमान में लगभग सभी सरकारी – प्राइवेट बैंकों के साथ एनबीएफसी कंपनियों से बिजनेस लोन बहुत आसानी से, बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoan द्वारा एमएसएमई कारोबारियों का 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में मिलता है।

बिज़नेस लोन कैसे काम करता है?

किसी भी कारोबारी के लिए बिजनेस लोन एक तरह से फायदे का सौदा होता है। क्योंकि कारोबारी बिजनेस लोन की मदद से अपने बिजनेस का संचालन बेहतर तरीके के कर सकते हैं और आपने बिजनेस का विस्तार कर सकते हैं। आईये जानते हैं कि बिजनेस लोन कैसे काम करता है

वर्किंग कैपिटल मैनेज करने में सहायक होना

बिजनेस बड़ा हो या छोटा, सभी तरह के बिजनेस को चलाने में हर रोज के कुछ दैनिक खर्चे होते हैं। दैनिक खर्चो ट्रांसपोर्ट का खर्च, कर्मचारियों के चाय नाश्ते का खर्च, कच्चे माल खरीदने का खर्च, कोई जरूरी उपकरण खरीदने का खर्च इत्यादि शामिल होता है। जब बिजनेस में वर्किंग कैपिटल की कमी हो तो बिजनेस लोन की सहायता से वर्किंग कैपिटल की जरूरत को पूरा किया जा सकता है।

नई मशीनरी खरीदने में सहायक

कारोबार सर्विस सेक्टर का हो या मैनुफैक्चरिंग सेक्टर का, सभी में नई मशीनरी की आवश्यता बनी रहती है। सर्विस सेक्टर के बिजनेस मे कोई उपकरण खरीदना पड़ सकता है, वहीं मैनुफैक्चरिंग बिजनेस मे कोई कल पुर्जा या कोई मशीन खरीदना पड़ सकता है।

ऐसे में तत्काल पैसों की जरूरत होती है। अब कारोबारी के पास तत्काल में पैसों का इंतजाम नहीं हो पाता है, तो बिजनेस में बिछड़ने का चांस रहता है। यहां पर बिजनेस लोन की सहायता से नई मशीन या कोई नया उपकरण खरीद करके जरूरत को पूरा किया जा सकता है।

नये कर्मचारी काम पर रखने में सहायक

बहुत बार ऐसा होता है की कारोबार में कुछ ऐसे ट्रेंड लोगों को नौकरी पर रखना होता है, जो लोग कोई खास काम को बेहतरीन तरीके से कर सके। इससे मुनाफा बढ़ता है। अब ऐसी स्थिति में बिजनेसमैन के पास अगर उस कर्मचारी को सैलरी देने के लिए पैसा नहीं रहेगा तो, कैसे मुनाफा बढ़ सकता है?

यहां पर काम आता है– बिजनेस लोन। बिजनेस लोन लेकर उस ट्रेंड कर्मचारी को नौकरी पर रखा जा सकता है। जब बिजनेस का मुनाफा बढ़ने लगे तो, बिजनेस लोन को आसानी से चुकाया जा सकता है।

बिजनेस की नई ब्रांच खोलने में सहायक 

अक्सर ऐसा देखा गया है कि कोई एक दुकान बहुत फेमस हो जाती है। लोगों को किसी भी चीज की जरूरत होती है, वह उसी दुकान पर पहुंचते हैं। इनफैक्ट लोग दूर – दूर से उस दुकान पर आना शुरु कर देते हैं।

यह मौका होता है, बिजनेस की नई ब्रांच किसी और लोकेशन पर शुरु करने के लिए। अब कारोबारी के पास खुद पर्याप्त धन होता है, तो दिक्कत की कोई बात नहीं होती है।

बिना कोलैटरल बिजनेस लोन्स

लेकिन, कारोबारियों के पास इतना धन नहीं होता है, की वह अपनी दुकान की नई ब्रांच किसी और लोकेशन पर खोले तो, यहां बिजनेस लोन बहुत शानदार तरीके से मदद कर सकता है।

बिजनेस लोन की सहायता से बिजनेस की नई ब्रांच खोला जा सकता है। इस तरह हम देखते हैं कि बिजनेस लोन की सहायता से बिजनेस बढ़ाने में बहुत आसानी होती है।

बिजनेस का विस्तार कैसे किया जा सकता है?

अपने बिजनेस को बढ़ता हुआ या यूं कहें कि खुद के व्यापार का विस्तार होता हुआ देखना हर कारोबारी का सपना होता है।

जब कोई कारोबारी किसी व्यापार की नींव रखता है तो वह कारोबारी अपने दिमाग में अपने व्यापार की बहुत बड़ी छवि बनाता है।

बिजनेस लोन की मदद से कारोबार का विस्तार बहुत असानी के साथ किया जा सकता है। बिजनेस का विस्तार करने के लिए यह 5 तरीका अपनाना चाहिएः

मार्केट रिसर्च करना

बिजनेस बढ़ाने में अतिमहत्वपूर्ण होता है- मार्केट रिसर्च करना। मार्केट रिसर्च द्वारा ही कारोबारीयों को यह जानकारी प्राप्त हो पाती है कि ग्राहकों की जरूरतें क्या हैं और उन्हें किस चीज की आवश्यकता है मार्केट रिसर्च द्वारा आवश्यकता की पहचान होती है और आवश्यकता की पूर्ति करके कारोबारी अपना करोबार बढ़ा सकते हैं।

मल्टिपल प्रोडक्ट की बिक्री करना

आज की तारीख में लोगों की जरूरतें बदल गईहैं और बढ़ भी गई हैं। ऐसे में लोग चाहते हैं कि जब वह खरीददारी करने जाएं तो उन्हें एक जगह पर उनकी जरूरत की सभी चीजें उपलब्ध मिल जाये। जो कारोबारी अपने बिजनेस पर मल्टिपल प्रोडक्ट रखते हैं, उनकी बिक्री सहज ही बढ़ जाती है। इस देखा जाये तो बिजनेस बढ़ाने में मल्टिपल प्रोडक्ट रखना एक शानदार विकल्प साबित होता है।

बिजनेस की ब्रांच किसी अन्य जगह पर खोलना

बिजनेस बढ़ाने में बिजनेस की शाखाएं बहुत मददगार होती हैं। ऐसा तब हो सकता है जब बिजनेस की ब्रांच अलग – अलग जगहों पर स्थापित हो। कई बार ऐसा भी होता है की कारोबारी बिजनेस ब्रांच खोलने का प्रयास तो करते हैं कि पर्याप्त धन उपलब्ध न होने के कारण बिजनेस की ब्रांच शुरु नहीं कर पाते हैं।

इसे भा जानिएः बिजनेस में किस तरह की गलतियां नहीं करना चाहिए? जानिए

तो यहां पर हमारे ऐसे कारोबारियों को सुझाव है कि वह बिजनेस की ब्रांच किसी और लोकेशन पर शुरु करने के लिए बिजनेस लोन का उपयोग करें। बिजनेस लोन की सहायता से बिजनेस की नई ब्रांच शुरु किया जा सकता है और बिजनेस लोन को EMI के रुप चुकाया जा सकता है। वर्तमान समय में सभी बैंकों के साथ ही नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनीज (एनबीएफसी) के यहां से बिजनेस लोन बहुत आसानी से मिल जाता है।

बिजनेस की मार्केटिंग और प्रचार करना

बिजनेस तब तक नहीं बढ़ सकता है जब तक बिजनेस के बारें में अधिक से अधिक लोगों को पता नहीं चल जाता है। ऐसे में बिजनेस का प्रचार करना एक बेहतरीन तरीका हो सकता है। बिजनेस की मार्केटिंग प्रोडक्ट के आधार पर ऑफर के आधार पर हो सकती है।

बिजनेस का प्रचार करने में मार्केटिंग का इस्तेमाल करना होता है। मार्केटिंग के तौर पर ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही विकल्प खुला होता है। अपने बिजनेस के टार्गेट ऑडियंस के अनुसार मार्केटिंग के ऑनलाइन और ऑफलाइन विकल्प में से किसी एक विकल्प का चुनाव किया जा सकता है।

इसे भी जानिएः सिर्फ अपने शहर में बिजनेस का प्रचार कैसे करें ?

इस तरह से आपने देखा कि बिजनेस बढ़ाना कितना आसान है। अगर आप का भी कोई बिजनेस है, जिसका विस्तार करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो यहां बताएं गये उपरोक्त तरीके में से किसी एक का इस्तेमाल करके अपना व्यापार का विस्तार कर सकते हैं।

बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करें