कभी – कभार ऐसा होता है की जाने – अनजाने में बिजनेस लोन एप्लीकेशन देते समय कुछ गलतियां हो जाती है। गलतियां होने से लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट होने की संभावना बढ़ जाती है। अधिकतर लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट होने के बहुत छोटे – छोटे कारण होते है। लोन का आवेदन ख़ारिज होने से कोई बिजनेसमैन अपने बिजनेस के विस्तार होने से तो नहीं रोक सकता। वह फिर से लोन के अप्लाई करता है क्योंकि बिना पैसे के बिजनेस को आगे बढ़ाना मुश्किल कार्य होता है। तो क्यों न लोन के लिए अप्लाई करते समय ही कुछ सावधानियां अपना कर बिजनेस लोन एप्लीकेशन को रिजेक्ट होने से बचा लिया जाए और बिजनेस को आगे बढ़ा लिया जाए। आइए जानते है उन सावधानियों के बारे में जिनका पालन लोन एप्लेइकेशन में अनिवार्य रूप से करना चाहिए।

turant business loan

उम्र लिखते समय रखे ध्यान

सामान्य रूप से यह कहा जाता है कि उम्र सिर्फ एक नंबर है। लेकिन यही नंबर लोन लेते समय बाधक बन सकता है। लोन देने वाली कंपनियां और बैंक अपने पैसों को उन लोगों/संस्थाओं को देना चाहते है, जहां से पैसा वापस आ सके, ब्याज के साथ। पिछले कुछ वर्षों में बैंकों का हजारों करोड़ रूपये NPA हो गया है। NPA यानी Non-Performing Asset मतलब वह लोन जिसके वपस आने की संभावना न हो। इस कारण लोन देने वाली कंपनियां और बैंक लोन आवेदन करने वालों के उम्र को लेकर जरा सतर्क होते है। अगर लोन आवेदन करने वाले की उम्र 55 साल से अधिक होती है लोन पास यानी अप्रूव होने में दिक्कत हो सकती है। इसका आसान तरीका यह हो सकता है कि जब आप बिजनेस लोन अप्लाई करें तो अगर आपकी उम्र 60 के करीब की है तो किसी ऐसे व्यक्ति का नाम दे जिनकी उम्र 25 से 40 साल के बीच की हो। यह तरीका अपना कर आप अपना लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट होने से बचा सकते है।

यह भी पढ़ें:- छोटे बिजनेस के लिए बिजनेस लोन कितना सहायक होता है?

बेहतर हो क्रेडिट स्कोर

बिजनेस लोन वाले का सबसे बड़ा सर्टिफिकेट क्रेडिट स्कोर होता है। इसे सिबिल स्कोर भी कहते है। यह स्कोर टोटल 1000 का होता है। लोन पाने के लिए सबसे अच्छा 750 क्रेडिट स्कोर माना जाता है। क्रेडिट स्कोर आपका फाइनेंसियल रिपोर्ट होती है। इससे आपके लोन चुकाने और क्रेडिट बिलों का भुगतान के बारे में पता चलता है। लोन एप्लीकेशन देने से पहले यह सुनिश्चित कर लीजिए की आपके सभी बकाए वापस हो चुके हो। अगर पहले से कोई लोन चल रहा हो तो उसकी मंथली EMI तय समय से जमा हो रही हो। आप को यह प्रयास करना होना चाहिए आपका क्रेडिट स्कोर 600 से कम किसी भी हालत में न हो। 600 से कम स्कोर होने पर लोन मिलने में समस्या हो सकती है।

यह भी पढ़ें:-  बिजनेस लोन के लिए कैसे करें अप्लाई – चरण दर चरण प्रक्रिया

कागज पूरे होने चाहिए

लोन के लिए अप्लाई करने से पहले यह देख ले कि जिस संस्था से आप लोन लेने जा रहे है, वहां पर किन – किन कागजों की मांग की जा रही है। जो भी कागज मांगे गए हो उन्हें आपको लोन अप्लाई करने से पहले ही इकठ्ठा कर लेना चाहिए। बिजनेस लोन के लिए अधिकतर कंपनियां, आधार कार्ड, पैन कार्ड बिजनेस प्रमाण पत्र, आरटीआर, GST नंबर प्रापर्टी कागज इत्यादि की जरुरत पड़ती है। इन सभी कागजों को अप्लाई करने से पहले जुटा लेना चाहिए। इससे आपकी बिजनेस लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट नही होगी।

यह भी पढ़ें:- बिजनेस लोन लेते समय हमेशा याद रखे यह 5 महत्वपूर्ण बातें!

बिजनेस की सेहत

बिजनेस की सेहत का अर्थ है कि बिजनेस की आर्थिक स्थिति। लोन अप्लाई करने समय आपको अपने बिजनेस की आर्थिक स्थिति भी बताना पड़ता है। यहां आपको ऐसे दिखाना होगा कि आपके यहां धन लगातार बना रहता है। इससे लोन देने की संस्था को यह विश्वास हो पायेगा की उसका पैसा वापस आ सकता है, और आपको लोन मिल सकता है।

लोन की रकम 

किसी के भी लोन मंजूर करने से पहले लोन कंपनियां यह देखती है कि व्यक्ति/संस्था द्वारा कितने रकम की मांग की गई है, फिर यह जांच करती है आर्थिक हालत कैसी है? कुछ और लोन तो नहीं चल रहा। अगर इसको देखते हुए अधिक रकम की मांग की गई हो तो लोन मिलने में समस्या हो सकती है। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि आप उतने ही लोन की मांग करें दने में कंपनियां दे सके।