बिजनेस को चलाने में जो चीजें अतिआवश्यकत होती हैं उनमें लीडरशिप और मैनेजमेंट प्रमुख है। लीडरशिप से यह तय होता है कि बिजनेस कैसे चलेगा और बिजनेस को कितना बड़ा किया जाना है। मैनेजमेंट वह चीज होता है जिससे बिजनेस का संचालन करने में साहायता मिलती है।

बिजनेस लीडर का रुझान हर वक्त सकारात्मक होता है। वह अपने काम मे हमेशा आशावादी रहता है। व्यापार और व्यक्तिगत जीवन मे संतुलन बनाकर चलता है। अगर कोई कारोबारी बेहतरीन बिजनेस लीडर है तो वह स्वभाविक तौर से अपने बिजनेस का मैनेजमेंट शानदार तरीके से करेगा।

इसे भी जानिएः डेयरी उद्यमिता विकास योजना क्या है?

बिजनेस को कैसे चलाना है, यह उसे अच्छी तरह से पता होता है कि उसे बिजनेस के ग्रोथ के लिए कब क्या निर्णय लेना चाहिए। आज का यह आर्टिकल इसी विषय पर है कि बिजनेस में लीडरशिप और मैनेजमेंट कैसे किया जाता है? आइये जानते हैं।

बिजनेस में लीडरशिप

जिस प्रकार किसी सेना को चलाने के लिए तमाम अधिकारी और और एक सेना प्रमुख होता है, ठिक उसी प्रकार से बिजनेस को चलाने के लिए कई लोग मिलकर फैसला करते हैं। हालांकि कभी – कभी बिजनेस का मालिक ही बिजनेस को लीड करता है और बिजनेस से संबंधित फैसले खुद करता है। बिजनेस में लीडरशिप होने का अर्थ होता है कि बिजनेस सतत् गति से चलता रहेगा। कारोबार में सब कुछ एक तय फ्रेम में होगा।

इसे भी जानिएः MSME लोन के लिए आवेदन कैसे किया जाता है?

बिजनेस को चलाने के लिए धन कहां से आएगा, किस कार्य के लिए कितना धन लगेगा। यह सब बिजनेस का लीडरशिप ही तय करता है। कर्मचारियों को सिर्फ अपना काम करते रहना होता है। लीडरशिप सिर्फ बिजनेस में ही नहीं होता बल्कि सभी कंपनी में, सरकार के साथ ही हर उस जगह पर लीडरशिप होता है जहां पब्लिक से संबंधित कार्य किया जाता है।

बिजनेस में लीडरशिप की जरुरत क्यों है?

जिस प्रकार चालक को सिर्फ गाड़ी चलाना आता है, उसे यह नहीं पता होता है कि जाना है। ठीक उसी प्रकार बिजनेस में कार्यरत कर्मियों को सिर्फ अपना काम पता होता है। उन्हें यह पता नहीं होता है कि बिजनेस को भविष्य क्या है और बिजनेस को चलाने के लिए धन कहां से आएगा।

बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करें

यहीं पर बिजनेस लीडरशिप की जरुरत होती है। बिजनेस लीडरशिप को यह जानकारी होती है कि बिजनेस का कितना विस्तार करना है और बिजनेस को चलाने के लिए धन कहां से आएगा। वह जरुरत पड़ने पर बिजनेस लोन भी लेते हैं। इसलिए किसी भी बिजनेस में लीडरशिप की जरुरत होती है।

बिजनेस का लीडर कैसा होना चाहिए

जिस प्रकार कोई व्यक्ती जन्मजात ड्राइवर नही होता है बल्कि वह धीरे – धीरे सीखकर एक बेहतरीन ड्राइवर बनता है। ठीक उसी प्रकार बिजनेस का लीडर बनने के लिए भी स्कील को विकसित किया जा सकता है। किसी भी बिजनेस लीडर में निम्नलिखित खूबियां होना चाहिएः

  • सकारात्मक सोच
  • साफ – सुथरा निर्णय लेने की क्षमता
  • सभी को साथ लेकर चलने वाला व्यक्तित्व
  • प्लानिंग करके चलने वाला होना चाहिए
  • लगातार सीखते रहने की ललक होना चाहिए

बिजनेस में लीडरशिप कैसे करें?

एक बात बहुत साफ तौर से समझना चाहिए कि बिजनेस का मालिक होना और बिजनेस में लीडरशिप की भूमिका निभाना दोनों अलग – अलग और अलहदा बातें हैं। तो इन दोनों ही भूमिका को विभक्त करके देखा जाना चाहिए। बिजनेस लीडरशिप को कभी भी बिजनेस का मालिक बनने का प्रयास नहीं करना चाहिए। इससे चीजें बिखर सकती हैं।

वहीं अब यह बात करें कि बिजनेस लीडरशिप कैसे करना चाहिए तो, इसके लिए निम्नलिखित बातों पर गौर करना चाहिएः

  • बिजनेस के लिए कोई भी निर्णय लेते समय खुद को ग्राहक की जगह रखना चाहिए।
  • अगर बिजनेस में कर्मचारी कार्य करते हैं तो आपके व्यवहार से किसी कर्मचारी को कभी यह नहीं लगना चाहिए कि आप बड़े हैं और वह छोटा है।
  • एक लीडर के रुप में आपका कर्तव्य है कि आप अपने साथ काम कर रहे लोगों का उत्साहवर्धन करते रहें।
  • बिजनेस का विस्तार करने के बारें में प्लानिंग करते रहना चाहिए।
  • जरुरत पड़ने पर बिजनेस लोन लेकर बिजनेस का संचालन कर लेना चाहिए।

बिजनेस का मैनेजमेंट कैसे करें

अपने बिजनेस प्लान से मन मुताबिक परिणाम हासिल करने की राह तब बहुत आसान लगने लगती है जब आपके साथ काम करने वाले लोग आपने विजन को खुद का विजन मानकर काम करने लगते हैं। इससे बिजनेस में सफलता प्राप्त करने का चांस अधिक पढ़ जाता है।

एक अच्छे बिजनेस प्लान की सफलता बिजनेस में लगे धन, काम कर रहे लोन और आपनी विश्वास की नींव पर खड़ी होती है। इसलिए बिजनेस का प्रबंधन करते समय इस बात का जरुर ध्यान दिया जाना चाहिए कि आपका बिजनेस सिर्फ आपका ही नहीं है बल्कि आपके साथ उन तमाम लोगो का भी है जो आपके साथ भावानात्मक रुप से जुड़े हुए हैं।

इसे भी जानिएः महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन कैसे मिलता है?

मैनेजमेंट अगर किसी भी चीज का किया जाय तो वह चीज संवर जाती है। बेहतर हो जाती है। अगर बिजनेस का मैनेजमेंट ठीक तरह से किया जाय तो बिजनेस सफलता की उंचाईयों को प्राप्त कर लेता है। बिजनेस का प्रबंधन निम्निलिखित बिंदुओं के अनुसार किया जाना चाहिएः

  • लंबे समय की प्लानिंग करना
  • सभी को उनको काम के बारे में स्पष्ठ जानकारी देना
  • बिजनेस संचालन के लिए धन का इंतजाम करना
  • बकाया का समय से भुगतान करना
  • बिजनेस प्रोडक्ट की मार्केटिंग करना
  • बिजनेस का समय – समय पर मूल्यांकन करना

बिजनेस मैनेजमेंट मे बिजनेस को चलाने के लिए आवश्यक मैनेजमेंट स्किल्स के बारे में संपूर्ण जानकारी और दृष्टिकोण क्लियर होना चाहिए। प्लानिंग, ऑर्गनाइजिंग, एग्जीक्यूशन, डायरेक्शन से लेकर इम्प्लीमेंटेशन तक सभी प्रयासों में यह झलकना चाहिए कि बिजनेस का प्रबंधन एक कुशल कारोबारी के द्वारा किया जा रहा है।

MSME लोन के लिए अप्लाई करें

इस प्रकार से आप देखते हैं कि बिजनेस का संचालन करने के लिए बिजनेस में लीडरशिप का कितना महत्वपूर्ण योगदान है और आपने इस आर्टिकल के माध्यम से जाना कि किसी भी बिजनेस का मैनेजमेंट कैसे किया जाता है। अगर आपका भी कोई बिजनेस है तो आप यहां बताए गये तरीको के माध्यम से अपने बिजनेस का मैनेजमेंट बेहतरीन कर सकते हैं और बिजनेस का विस्तार आसानी के साथ कर सकते हैं।

अगर बिजनेस का विस्तार करने धन की कमी का सामना करना पड़ रहा हो तो आपके सुविधा के लिए बता दें कि देश की प्रमुख एनबीएफसी कंपनी ZipLoan से बिजनेस का विस्तार करने के लिए 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में मिल सकता है।

आपको इन्हें भी जानना चाहिए

मुद्रा लोन आवेदन के लिए आधार कार्ड – योग्यता, स्टेटस & डाउनलोड बिजनेस लोन एप्लीकेशन फॉर्मट्रेडर्स के लिए बिज़नेस लोन
महिलाओं के लिए लोन स्किम जानने के लिएस्टैंड अप इंडिया स्कीम के लिए अप्लाई कैसे करें?प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना – योग्यता, डाक्यूमेंट्स, रजिस्ट्रेशनपैन कार्ड- ऑनलाइन/ऑफलाइन आवेदन कैसे करें और इसका उपयोग
क्रेडिट गारंटी फंड स्कीमट्रैवल एजेंसी के लिए लोनग्रोसरी स्टोर के लिए लोनछोटे व्यापार के लिए लोन
जननी सुरक्षा योजना क्या है मैन्युफैक्चरर्स के लिए लोनबुटीक लोनटेक्सटाइल्स इंडस्ट्री के लिए लोन

अभी बिजनेस लोन पाए