बजट 2020: क्या महंगा हुआ और क्या सस्ता?

बजट 2020: क्या महंगा हुआ और क्या सस्ता?

केंद्रीय बजट में टैक्स बढ़ोतरी के प्रस्ताव की वजह से सिगरेट, चबाने वाले तंबाकू के साथ-साथ खाद्य तेल, पंखे, फुटवेअर, किचनवेयर, खिलौने और फर्निचर जैसे आयातित सामान महंगे होने जा रहे हैं।

बजट में तमाम आयातित सामानों पर टैक्स बढ़ाने के प्रस्ताव से कई सामान महंगे होने जा रहे हैं कुछ आइटमों के आयात पर कस्टम ड्यूटी घटाने का प्रस्ताव है।

जिससे ये सामान सस्ते होंगे मोबाइल में इस्तेमाल होने वाले उपकरण महंगे होंगे, सिगरेट, तंबाकू, खाद्य तेल, पंखे, फुटवेअर भी होंगे महंगे खेल के सामान, माइक्रोफोन और इलेक्ट्रिक वीइकल जैसे कुछ सामान सस्ते होंगे।

इस वर्ष यानी 2020 में वित्त मंत्री श्रीमती सीतारमण द्वारा पेश बजट 2020 में भी कई फेरबदल किया गया है। इनकम टैक्स स्लैब में महत्वपूर्ण बदलाव किया गया है। कुछ चीजों को मंहगा किया गया है तो कुछ चीजों को सस्ता भी किया गया है।

अगर बात करें स्टार्टअप की तो सालाना टर्नओवर 100 करोड़ वाले स्टार्टअप को 10 साल तक टैक्स छूट देने की बात कही गई है। बजट 2020 में ऐसी तमाम घोषणाएं की गई हैं। कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की गई है। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (MSMEs) के लिए जल्द लॉजिस्टिक्स पॉलिसी लाने की बात कही गई है।

केंद्रीय बजट में टैक्स बढ़ोतरी के प्रस्ताव की वजह से सिगरेट, चबाने वाले तंबाकू के साथ-साथ खाद्य तेल, पंखे, फुटवेअर, किचनवेयर, खिलौने और फर्निचर जैसे आयातित सामान महंगे होने जा रहे हैं।

दूसरी तरफ न्यूजप्रिंट, खेल के सामान, माइक्रोफोन सस्ते होंगे। आइए एक नजर डालते हैं कि किन-किन सामानों पर आपको पहले के मुकाबले ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ेगी और कौन से सामान सस्ते हुए हैं।

बजट 2020 में ये चीजें होंगी महंगी

  • बटर घी
  • बटर ऑइल
  • खाद्य तेल
  • पीनट बटर
  • छाछ
  • मेसलिन
  • मक्का
  • सुगर बीट सीड्स
  • संरक्षित आलू
  • च्यूइंग गम
  • डाइट वाला सोया फाइबर
  • आइसोलेटेड सोया प्रोटीन अखरोट
  • फुटवेअर
  • शेवर्स
  • हेयर क्लिपर्स
  • हेयर-रिमूविंग उपकरण
  • टेबलवेयर
  • किचनवेयर
  • वॉटर फिल्टर
  • ग्लासवेयर
  • चीनी मिट्टी के बने घरेलू सामान
  • माणिक
  • पन्ना
  • नीलम और दूसरे कीमती रत्न
  • ताला
  • हाथ वाली छननी
  • कंघी
  • हेयरपिन
  • कर्लिंग पिन
  • कर्लिंग ग्रिप
  • हेयर कर्लर
  • टेबल फैन
  • सीलिंग फैन और पेडेस्टल फैन
  • पोर्टेबल ब्लोअर
  • वॉटर हीटर और इमर्सन हीटर
  • हेयर ड्रायर
  • हैंड ड्राइंग मशीन और इलेक्ट्रिक आइरन
  • फूड ग्राइंडर
  • ओवन
  • कूकर
  • कूकिंग प्लेट
  • बॉइलिंग रिंग्स
  • ग्रिलर और रोस्टर
  • कॉफी और चाय बनाने की मशीन
  • टोस्टर
  • इलेक्ट्रो-थर्मिक फ्लुइड हीटर
  • कीटनाशक उपकरण और इलेक्ट्रिक हीटिंग रेजिस्टर
  • फर्निचर
  • लैंप और लाइटिंग फिटिंग
  • खिलौने
  • स्टेशनरी आइटम
  • आर्टिफिशल फ्लॉवर बेल्स
  • ट्रोफी
  • मोबाइल फोन के प्रिंटेड सर्किट बोर्ड असेंबली (PCBA)
  • डिस्पले पैनल और टच असेंबली
  • फिंगरप्रिंट रीडर
  • सिगरेट
  • हुक्का
  • चबाने वाले तंबाकू
  • सुगंधित जर्दा

बजट 2020 में ये चीजें सस्ती हो जायेंगी

कुछ आइटमों के आयात पर कस्टम ड्यूटी घटाने का प्रस्ताव है। इस वजह से ये सामान सस्ते होंगे।

  • प्योर-ब्रेड ब्रीडिंग हॉर्स
  • न्यूजप्रिंट पेपर
  • खेल के सामान
  • माइक्रोफोन
  • इलेक्ट्रिक वीइकल

भारत के इतिहास का सबसे लंबा भाषण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट भाषण आजाद भारत के इतिहास का सबसे लंबा भाषण बन गया। करीब 2 घंटे 40 मिनट तक वित्त मंत्री भाषण पढ़ती रहीं।

2019 में भी देश की पहली वित्त मंत्री सीतारमण ने लंबा बजट भाषण पढ़ा था जो 2 घंटे 17 मिनट तक चला था। इससे पहले यह रिकॉर्ड जसवंत सिंह के नाम था।

उन्होंने 2003 में 2 घंटे 15 मिनट तक बजट भाषण पढ़ा था। करीब पौने तीन घंटे लंबे बजट भाषण के आखिर में गला खराब होने की वजह से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आखिरी दो- तीन पृष्ठ नहीं पढ़ पाई और उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष की अनुमति से उसे पढ़ा मानकर सदन के पटल पर रख दिया।

स्टार्टअप फायदा पहुंचाया गया है 

नरेंद्र मोदी सरकार का जोर इस बात पर रहा है की देश के युवा नौकरी मांगने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाले बनें। नरेंद्र मोदी ने अपने भाषणों में कई बार इस बात का जिक्र भी किया है। स्टार्ट-अप्स के लिए सुविधाएँ प्रदान करना इसी का एक हिस्सा है।

पहले जहां कारोबारियों के लिए मुद्रा लोन योजना, स्टार्ट –अप योजना, स्टैंड अप लोन योजना चलाई गई हैं। वहीं बजट 2020 में स्टार्टअप के लिए बहुत बड़ी छूट दी गई है। अब 100 करोड़ तक वाले स्टार्ट-अप को 10 साल तक टैक्स में छूट दी जाएगी।

अब तक सिर्फ 25 करोड़ रुपये तक के सालाना कारोबार करने वाले स्टार्ट अप को ही टैक्स छूट मिलती थी। नई व्यवस्था में अब 100 करोड़ रुपये तक के कारोबार करने वाले स्टार्ट अप को टैक्स छूट मिलेगी। स्टार्ट अप को तीन साल के लिए अपने मुनाफे पर कोई टैक्स नहीं देना पड़ेगा।

कॉरपोरेट टैक्स में कटौती

वित्त मंत्री की बजट पोटलीके बजट भाषण में कॉरपोरेट टैक्स में कटौती करने की बात कही गई। वित्त मंत्री ने कहा कि देश में खपत और मांग, प्राइवेट निवेश और सरकारी खर्चों में सुधार लाने के लिए सरकारी राजस्व पक्ष कम नहीं किया जा सकता है।

सरकार की जिम्मेदारी थी की वह राजकोषीय घाटे को कम करें। राजकोषीय घाटा 0।5% तक कम करना था। यह लक्ष्य कॉरपोरेट टैक्स में कटौती करके, नई कंपनियों द्वारा प्राप्त लाभ, साथ ही जीएसटी संग्रह में सुधार से राजस्व उत्पादन में सुधार होगा और विनिवेश में सुधार के साथ अगले साल राजकोषीय घाटे को कम करने में मदद मिलेगी। ऐसा वित्त मंत्री का मानना है।

MSMEs के लिए शानदार मौका

वित्त मंत्री द्वारा MSME के लिए सिंगल विंडो वाले ई-लॉजिस्टिक्स बाजार का गठन करने, रोजगार सृजन को बढ़ावा देने और MSME को आपस में प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए जल्द ही एक राष्ट्रीय लॉजिस्टिक्स नीति लाने की घोषणा की गई है।

ई-लॉजिस्टिक्स बाजार का गठन करने की घोषणा करने के साथ उन्होंने कहा कि प्रस्तावित नीति में केंद्र सरकार, राज्य सरकारों तथा प्रमुख नियामकों की भूमिकाएं स्पष्ट की जाएंगी। श्रीमती सीतारमण का मानना है की इससे सिंगल विंडो वाले ई-लॉजिस्टिक्स बाजार का सृजन होगा तथा एमएसएमई प्रतिस्पर्धी बनेंगे। इससे रोजगार सृजन को भी बढ़ावा मिलेगा।’

LIC के कुछ भाग को बेचने की बात कही गई है

बजट 2020 में भारतीय जीवन बिमा निगम (एलआईसी) के एक हिस्से को बेचने की बात कही गई है। हालाँकि अभी यह नहीं बाताया गया है ऐसा क्यों किया जा रहा है और एलआईसी का कौन सा हिस्सा बेचा जायेगा।

एलआईसी के एक हिस्सा बेचने के बात पर केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि अगर एलआईसी का एक छोटा सा हिस्सा बेचा जाता है तो इससे पारदर्शिता और जवाबदेही बढ़ेगी। इससे पब्लिक को कोई नुकसान नहीं होगा।

बजट 2020 हाइलाइट्स
Previous article बजट 2020 हाइलाइट्स
tax bachane ke upay aur tarika in hindi
Next article जानिए टैक्स बचाने का आसान तरीका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close