व्यापार करने वालों का यह सवाल आम होता है कि सबसे बेहतर बिजनेस लोन का चुनाव करें जिससे बिजनेस करने में आसानी हो सके। लोन मार्केट में ऐसे तमाम लोन के विकल्प उपलब्ध है जिनके द्वारा बिजनेस को आगे बढ़ाया जा सकता है। कभी – कभी अधिक विकल्प का उपलब्ध होना ही निर्णय लेने में सबसे अधिक कठिनाई पैदा कर देता है। मार्केट बिजनेस के लिए तमाम तरह के लोन अवेलेबल है, इससे व्यापारियों अपने लिए बेहतर लोन का चुनना मुश्किल हो जाता है। कभी – कभी गलत लोन चुन लेने से कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस समस्या को देखते हुए हम इस ब्लॉग बेहतर लोन का चुनाव कैसे किया जाय? समझेंगे।

बिजनेस लोन

बिजनेस लोन वह रकम होती है, जिसके द्वारा व्यापारी अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाते है, उन्नति करते है और नया व्यवसाय या नई ऑफिस लेते है। बिजनेस के लिए लोन सरकारी बैंक और भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रमाणित गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) लोन प्रदान करते है। सरकारी बैंकों के अपेक्षा NBFC कंपनियां कम समय में लोन दे देती है। लोन प्रमुख रूप से 2 तरह के होते है। 1- सिक्योर्ड (गिरवी रखने के बदले, 2- अनसिक्योर्ड (बिना कुछ गिरवी रखे)।

लोन लेते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे आपको आगे के समय में दिक्कतों का समाना न करना पड़े।

चुने अनसिक्योर्ड (बिना कुछ गिरवी का लोन)

लोन मार्केट में गिरवी वाले लोन और बिना कुछ गिरवी के लोन दोनों मौजूद है। गिरवी वाले लोन के बदले आपको लोन की रकम के बदले उतनी ही रकम के बराबर या उससे अधिक वैल्यू का कोई सामान लोन देने वाली संस्था के पास जमा रखना होता है। यह सामान जूलरी, खेत के कागज, दुकान के कागज, घर के कागज इत्यादि में जैसे में से कुछ भी हो सकता है।

अनसिक्योर्ड लोन की यह विसेषता होती है कि लोन के रकम के बदले आपको कुछ गिरवी नही रखना होता होता है। इस तरह आप अपने कीमती सामान को अपने पास रखकर भी लोन ले सकते है और बिजनेस का विस्तार कर सकते है।

turant business loan

चुने मुक्त प्री पेमेंट लोन

प्री पेमेंट का मतलब उस चार्ज से होता है, जो लोन को निर्धारित वापसी समय के पहले जमा करने पर बैंक चार्ज करते है। इसे इस तरह भी समझा जा सकता है, माना आपने किसी बैंक से 5 लाख का बिजनेस लोन 24 महीने के लिया। आपने लोन की रकम को अच्छे तरीके से उपयोग किया और आपका मुनाफा बढ़ गया, अब आप 24 महीने लोन पर लगने वाले ब्याज दर से बचने के लिए पांचवे महीने में ही सोचा की पैसा पास में है ही, इसे बैंक का कर्जा वापस कर देते है। जब आप बैंक जाकर लोन वाला पैसा वापस करने की बात करेंगे तो बैंक आपसे बाकि बचे 19 महीने के लिए पेनालिटी के रूप में पैसा चार्ज करने के लिए कहेगा, इसी पेनालिटी को प्री पेमेंट चार्ज कहते है।

प्री पेमेंट से बचने के लिए सबसे बेहतरीन विकल्प आपके सामने भारतीय रिजर्व बैंक से प्रमाणित गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) कम्पनियों का हैं। अधिकतर NBFC कंपनियां प्री पेमेंट फ्री बिजनेस लोन प्रदान , करती है। NBFC कंपनियों में सबसे बेहतरीन विकल्प ZipLoan का है। ZipLoan से आप प्री पेमेंट मुक्त, बिना कुछ गिरवी रखे, 5 लाख तक का लोन सिर्फ 3 दिन में घर बैठे ले सकते है। अभी लेने के लिए अप्लाई करें ।

ऑनलाइन अप्लाई चुने

लोन अप्लाई करने के दो तरीके होते हो, ऑफलाइन और ऑनलाइन।ऑफलाइन में आप खुद से जाकर बैंक या कंपनी के आवेदन करना पड़ता है, इसमें आपका बहुत सारा समय नष्ट होता है जिससे कारोबार के मुनाफे पर फर्क पड़ सकता है।

ऑनलाइन में आपको सिर्फ लोन लेने वाली कंपनी की वेबसाइट पर अप्लाई करना होता है, सभी संबंधित कागज भी वेबसाइट पर ही अपलोड करना होता है। इससे आपका समय बच जाता है। बचने वाले समय का उपयोग आप अपने बिजनेस के लिए प्लानिंग करने में लगा सकते है।

उपयुक्त सभी बातों के अतिरिक्त कुछ बातें जैसे, यह विचार करें की आपको कितनी रकम की जरूरत है, कितने समय के लिए जरूरत है तथा रकम का उपयोग कैसे करना है जैसे बुनियादी का बातों का ख्याल रखकर आप एक बेहतरीन बिजनेस लोन प्राप्त कर सकते है और अपने व्यवसाय को एक नई ऊंचाई प्रदान कर सकते है।

बिजनेस लोन के लिए कैसे करें अप्लाई – चरण दर चरण प्रक्रिया