देश में मोदी सरकार द्वारा हर वर्ग के लिए लाभकारी योजना चलाई जा रही है। किसानों के लिए पेंशन योजना, कारोबारियों के लिए मुद्रा लोन योजना और ग्रामीण कारोबारियों के लिए जिला उद्योग योजना। इसी तरह देश के असंगठित कामगारों के लिए अटल पेंशन योजना चलाई जा रही है।

अटल पेंशन योजना की मुख्य बातें:

  • अटल योजना का लाभ 18 से 40 वर्ष के उम्र वाले कामगार उठा सकते हैं।
  • इस योजना में 60 वर्ष के बस कामगारों को न्यूनतम 1 हजार से अधिकतम 5 हजार तक पेंशन देने का प्रावधान है।
  • अटल पेंशन योजना भारतीय जीवन बिना निगम (LIC) के सहयोग से चलाया जा रहा है।
  • योजना में लाभार्थी और भारत सरकार बराबर प्रीमियम भरेंगे।

अटल पेंशन योजना क्या है?

यह एक सरकारी योजना है जिसके तहत असंगठित कामगारों को उनकी 60 उम्र के बाद 1 हजार से लेकर 5 हजार तक प्रतिमाह पेंशन मिलेगी। अटल पेंशन योजना को APY योजना भी कहते हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई जी के नाम पर शुरु की यह योजना उन सभी लोगों के लिए बेहद फायदे वाली योजना है जो कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) में रजिस्टर्ड नही हैं।

इसे हम इस तरह भी कह सकते हैं कि अटल पेंशन योजना (APY) असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए आर्थिक और सामजिक सुरक्षा स्कीम है। इस योजना में प्रीमियम जमा करने वाले कामगारों को उनके बुढ़ापे में एक नियमित इनकम मिलती रहेगी।

मोदी सरकार ने APY को मई 2015 में शुरू किया था। इससे पहले असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए इस तरह की (APY) कोई योजना नहीं थी।

अटल पेंशन योजना

किसके लिए है अटल पेंशन योजना (APY)?

यह योजना उन सभी भारतीयों के लिए है जो:

  • असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं।
  • जिनका पंजीकरण कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) में नही हुआ है।
  • जो कामगार टैक्स देने के लिए पात्र नही हैं।
  • जो कभी भी किसी भी सरकारी विभाग में कोई नौकरी नही किये हो। इसे इस तरह भी कह सकते हैं कि कभी सरकारी वेतन या भत्ता का लाभ न प्राप्त करने वाले कामगार।

अटल पेंशन योजना का लाभ उठाने की शर्तें

  • लाभार्थी की उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • लाभार्थी का भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • लाभार्थी के पास किसी भी रजिस्टर्ड बैंक में बचत खाता होना चाहिए।
  • लाभार्थी का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
  • कोई भी लाभार्थी अपने जीवन में केवल एक ही अटल पेंशन योजना का खाता खोल सकता है।
  • लाभार्थी का इनकम टैक्स स्लैब से बाहर होना चाहिए।

अटल पेंशन योजना की महत्वपूर्ण बातें

  • इस योजना का लाभ लाभार्थी को आजीवन मिलता है।
  • लाभार्थी की मृत्यु होने पर योजना का लाभ लाभार्थी द्वारा दाखिल नामिनी को मिलता है।
  • अटल पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को कम से कम 20 साल तक प्रीमियम जमा करना करना अनिवार्य है।
  • लाभार्थी द्वारा जमा किये जा रहे प्रीमियम को 20 वर्ष पुरे किये बगैर लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है तो उस दशा में पत्नी या उसके बच्चे एकमुश्त राशि या फिर अंशदान जमा करते रहने पर आजीवन पेंशन के हकदार होंगे।
  • इस सरकारी योजना में पेंशन की धनराशि मिलने का न्यूनतम उम्र 60 साल है। लाभार्थी जितना जल्दी जुड़ेगा उसको उतना ही अधिक फायदा मिलेगा। उदाहरण के तौर पर देखें तो: अगर कोई व्यक्ति 18 साल की उम्र में इस पेंशन योजना से जुड़ता है तो उसे हर महीने 210 रुपये का प्रीमियम जमा करना होगा अगर वह ऐसा नियमित करता है तो जब उसकी उम्र 60 वर्ष हो जाएगी तो उसको 5 हजार रुपये प्रतिमाह मिलना शुरु हो जायेगा।

इसे भी पढ़े: किसानों और दुकानदारों के आये अच्छे दिन, केन्द्र सरकार देगी पेंशन

[block]4[/block]

अटल पेंशन योजना से कैसे जुड़े?

इस सरकार योजना का लाभ इस प्रक्रिया के तहत उठाया जा सकता है:

  • सबसे पहले व्यक्ति इस बात की तस्दीक करें कि उसका कोई बैंक खाता है।
  • अपने नजदीकी बैंक में जाकर किसी भी बैंक कर्मचारी से यह बोलना होता है कि अटल पेंशन योजना का खाता खोलना है।
  • बैंक कर्मचारी कुछ कागजों की मांग करेगा जैसे: आधार कार्ड, बैंक खाता पासबुक और एक फोटो।
  • इन सभी कागजातों को देने के बाद वह अटल पेंशन खाता तुरंत खोल सकता है या 1 दिन बाद आने को कह सकता है।