बिजनेस करना एक बात होती है, स्मार्ट तरीके से ऑनलाइन बिजनेस करना एक अलग बात होती है। यह कल्पना करना कितना खुबसूरत है कि आप कोई प्रोडक्ट या सामान बेचना चाहे और बिना अधिक भागादौड़ी और बिना महंगी जगह पर खोले आपके सामान/प्रोडक्ट की बिक्री हो जाए। आपके कम्पूटर या मोबाइल फोन पर ऑर्डर मिल जाए और आप अपने प्रोडक्ट को डिलीवरी बॉय के जरिए ग्राहक पर पहुंचवा दे। इस प्रकार के व्यापार को ऑनलाइन बिजनेस कहते हैं। इस तरह से बिजनेस सबसे पहले अमेरिका में शुरू हुआ, फिर धीरे – धीरे यह भारत में अपना प्रभाव स्थापित करना शुरू किया, वर्तमान में तो भारत की खरीदारी का लगभग 40 प्रतिशत के आसपास बिक्री ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर हो रही है।

भारत में ऑनलाइन कारोबार निरंतर बढ़ ही रहा है। इस प्रकार के बिजनेस से 3 प्रकार के लोगों को सीधा लाभ हो रहा है। पहले वह लोग, जो सामान बनाते है या बेचना चाहते है, दुसरे वह लोग जो घर बैठे सामान प्राप्त कर लेना चाहते है और तीसरा वह तबका जो डेलिवरी बॉय के रूप में कार्य कर रह है! इस तरह यह बिजनेस मुनाफे के साथ ही साथ अन्य लोगों के रोजगार का भी साधन है। इस ब्लॉग में समझेंगे की कैसे आप भी ऑनलाइन तरीके से अपने प्रोडक्ट/सामान की बिक्री कर सकते है।

क्या होता है ऑनलाइन बिजनेस

ऑनलाइन व्यापार, इंटरनेट आने बाद खरीदारी और सामान सेलिंग का एक बेहतरीन अनुभव है। ऑनलाइन बिजनेस में सभी काम जैसे सामान ऑर्डर करना, सामान का ऑर्डर प्राप्त करना, सामान के मूल्य का भुगतान का करना और भुगतान प्राप्त करना, सभी कुछ ऑनलाइन ही होता है। उदारहण के रूप में हम प्रसिद्ध ऑनलाइन कंपनियों जैसे, फ्लिपकार्ट, अमेज़न, मिन्त्रा इत्यादि का नाम ले सकते है।

msme-loan-lene-ki-schemes?utm_source=Blogpost_CTA_Buttons&utm_medium=Hindi-BlogPost-Buttons&utm_campaign=msme-loan-lene-ki-schemes

कैसे होता है ऑनलाइन बिजनेस

ऑनलाइन बिजनेस कुछ हद तक ‘विश्वास’ पर होने वाला बिजनेस है। जब ग्राहक सेलर के प्रोडक्ट को ऑनलाइन देखता है और कोई प्रोडक्ट किसी ग्राहक को पसंद आ जाता है तो वह उसे ऑनलाइन ही ऑर्डर करता है। ऑर्डर करने में उसे कुछ जरूरी चीजे, जैसे अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, तथा समाना प्राप्त करने का पता देना होता है। अब जब ग्राहक सामान ऑर्डर कर चुका होता है तो उसका ऑर्डर सेलर को मिलता है, सेलर सामान पैक कर, डिलीवरी बॉय को ग्राहक के पते के साथ सामान दे देता है। अब जिम्मेदारी डेलिवरी बॉय की। वह दिए गए पते पर पहुँचता है और सामान देता और अगर सामान का पैसा पहले भुगतान नही हुआ होता है तो ग्राहक से पैसा लेकर सामान देकर चला आता है।

मात्र 66 रुपए में ऑनलाइन बिजनेस कैसे करें, ये कंपनी दे रही है ऑफर

आप कैसे बेच सकते है ऑनलाइन सामान

ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचने के दो तरीके होते हैं: पहला, अपनी खुद की वेबसाइट बनवाकर सामान बेचना, दूसरा- मार्केट में पहले से मैजूद किसी ई-कॉमर्स के पोर्टल से जुड़कर सामान बेचना। पहले विकल्प यानी अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर प्रोडक्ट बेचना काफी महंगा विकल्प है। अगर कोई व्यक्ति अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर बेचता है तो उसे मेंटेनेंस, मार्केटिंग जैसे कई तरह के खर्चों को पूरा करना पड़ेगा। अगर कोई व्यक्ति पहले से चल रही ऑनलाइन शापिंग वेबसाइट से जुड़ता है तो यह काफी फायदेमंद हो सकता है। शुरुवात में किसी पहले से स्थापित वेबसाइट से ही जुड़कर काम करना फायदेमंद कदम साबित होगा। 

किसी वेबसाइट से कैसे जुड़ सकते है

यह बहुत आसान होता है। किसी ऑनलाइन वेबसाइट से जुड़ने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को जिस वेबसाइट से वह जुड़ना चाहता है, उसपर जाकर अपने अपने आप को एक वेंडर के तौर पर रजिस्टर करना होगा। उदाहरण के रूप में देखे की अगर किसी व्यक्ति को फ्लिपकार्ट से जुड़ना है तो उसके लिए, निम्न स्टेप करने पड़ेंगे:

सबसे पहले seller.flipkart.com लिंक खोलना होगा। इसके बाद अपने आप रजिस्टर्ड करने के लिए ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर एंटर करना होगा। अब आपका मोबाइल नंबर और ईमेल वेरिफिकेशन के लिए दोनों पर OTP जायेगा, इस OTP नंबर को एंटर करते ही एक फॉर्म खुलकर आएगा, जिसपर सभी जरूरी जानकारियां भरकर उसे सबमिट कर देना होगा। अब आप वेंडर ज़ोन में एंटर कर चुके है। यहां पर आप अपने प्रोडक्ट यानी समानों की लिस्टिंग कर सकते है।

जब आप अपने प्रोडक्ट की लिस्टिंग कर ले तो, जब चाहे कंपनी के सर्विस विभाग से फोन से भी सलाह ले सकते है। यहां यह स्पष्ट कर देना चाहिए की ऑनलाइन सेलिंग कंपनियां अपने लॉजिस्टिक सर्विस के द्वारा सामान पिक (उठवाना) करवाती है, सामान पैक करके देने की जिम्मेदारी सेलर यानी आपकी होती है।

आपको पैसे कब मिलेंगे?

आपके प्रोडक्ट/सामान के डिलीवरी होने के 10 – 15 दिनों में आपको अपने सामान की कीमत आपके बैंक अकाउंट में आ जाएगी। आपके सामान पर वसूली गई कीमत में से ऑनलाइन कंपनियां कुछ हिस्सा अपने पास कमीशन के रूप में लेंगी। यह कमीशन में उनके प्लेटफ़ॉर्म पर आपके सामान बेचने के चार्ज, सर्विस टैक्स और लॉजिस्टिक के साथ ही पैकिंग के खर्चें इत्यादि शामिल होते है।

ऑनलाइन सामन बेचने से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

  • एक साथ आप कई ऑनलाइन कंपनियों के साथ जुड़ सकते है
  • अगर आपके सामानों में कुछ टैक्स के दायरे में आता है तो कृपया GST रजिस्ट्रेशन करवा ले
  • कम्पूटर की मूलभूत जानकारी अवश्य रखे
  • हिसाब – किताब को भी करना बेहतर ढंग से करना सीख लीजिए, क्योंकि आपके पास एक साथ बहुत सा हिसाब आने वाला है।

ऑनलाइन बाजार में सुपरहिट होने के लिए यह करें

  • किसी भी तरह की गलत जानकारी देने से बचे
  • अपने सामान के बारे अधिक से अधिक जानकरी देने का प्रयास करें
  • सामान के बारे में डिटेल से बताइए, जैसे बुसर्ट किस रंग का है, उसकी बटन किस रंग की है इत्यादि ऐसा करने से ग्राहक का विश्वास बढ़ेगा

अब तक आप यह समझ चुके होंगे कि कैसे आप ऑनलाइन बिजनेस करके अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है। अगले ब्लॉग में हम बतायेंगे की ऑनलाइन तरीके से बिजनेस करने में क्या – क्या सावधानियां अपनानी चाहिए।

विज्ञापन के इन 5 शानदार तरीकों को अपनाकर कीजिए ऑनलाइन बिजनेस