बिजनेस करना एक बात होती है, स्मार्ट तरीके से ऑनलाइन बिजनेस करना एक अलग बात होती है। प्रोडक्ट सेल करने के तरीके भी बदल रहे है ऐसे में यह कल्पना करना कितना खुबसूरत है कि आप कोई प्रोडक्ट या सामान बेचना चाहे और बिना अधिक भागादौड़ी और बिना महंगी जगह पर खोले आपके सामान/प्रोडक्ट की बिक्री हो जाए। आपके कम्पूटर या मोबाइल फोन पर ऑर्डर मिल जाए और आप अपने प्रोडक्ट को डिलीवरी बॉय के जरिए ग्राहक पर पहुंचवा दे।

इस प्रकार के व्यापार को ऑनलाइन बिजनेस कहते हैं। इस तरह से बिजनेस सबसे पहले अमेरिका में शुरू हुआ, फिर धीरे – धीरे यह भारत में अपना प्रभाव स्थापित करना शुरू किया, वर्तमान में तो भारत की खरीदारी का लगभग 40 प्रतिशत के आसपास बिक्री ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर हो रही है।

इसे भी जानिएः ग्रोसरी स्टोर के लिए लोन लेने का तरिका जानिए

भारत में ऑनलाइन कारोबार निरंतर बढ़ ही रहा है। इस प्रकार के बिजनेस से 3 प्रकार के लोगों को सीधा लाभ हो रहा है। पहले वह लोग, जो सामान बनाते है या बेचना चाहते है, दुसरे वह लोग जो घर बैठे सामान प्राप्त कर लेना चाहते है और तीसरा वह तबका जो डेलिवरी बॉय के रूप में कार्य कर रह है! इस तरह यह बिजनेस मुनाफे के साथ ही साथ अन्य लोगों के रोजगार का भी साधन है। इस ब्लॉग में समझेंगे की कैसे आप भी माल बेचने का तरीका बदल कर ऑनलाइन तरीके से अपने प्रोडक्ट/सामान की बिक्री कर सकते है। या यूँ कहे की अपने प्रोडक्ट को कैसे बेचे की ज्यादा मुनाफा हो। 

प्रोडक्ट को ऑनलाइन बेचना सरल प्रस्ताव की तरह लग सकता है और यह हो सकता है कि एक बार जब आप ऑनलाइन जाने का विचार कर रहे रहे हों तो आपको पहले कुछ रिसर्च करना होगा। आपको उन प्रोडक्ट को ढूंढना होगा जिन्हें आप बेचना चाहते हैं, यह पता लगाएं कि आपके संभावित खरीदार कौन हैं, और यह निर्धारित करें कि आप उन प्रोडक्ट को अपने ग्राहकों के हाथों में कैसे पहुंचाएंगे। यह तैयारी आपको ई-कॉमर्स रणनीति की नींव प्रदान करेगी। आखिरकार, जब आप सोचते हैं कि ऑनलाइन व्यवसाय कैसे शुरू किया जाए, तो यह जानना आवश्यक है कि अपने प्रोडक्ट को कैसे बेचा जाए। जानिए कि ऑनलाइन सामान कैसे बेचे की ज्यादा मुनाफा हो। 

अपने प्रोडक्ट खोजें

अधिकांश ऑनलाइन विक्रेता प्रोडक्ट के सोर्स के 3 तरीके हैं: इसे खुद करें (DIY), थोक, और ड्रॉप-शिपिंग। प्रत्येक विधि के अपने फायदे और नुकसान हैं। आप जो भी तरीका चुनते हैं, जब आप सोचते हैं कि किसी प्रोडक्ट को ऑनलाइन कैसे बेचा जाए, तो उन प्रोडक्ट की तलाश करें, जिनके बारे में आप भावुक महसूस करते हैं और जो बाज़ार में ज़रूरत को पूरा करते हैं।

खुद से बिक्री करने वाले यानी DIY प्रोडक्ट

ये वे प्रोडक्ट हैं जिन्हें आप स्वयं बनाते हैं, चाहे वह एक छोटे बैच का बेकिंग शौक हो जिसे आप व्यवसाय में बदल रहे हों या अपने गैरेज में 3D प्रिंट का कारखाना। DIY आइटम आमतौर पर प्रोडक्टन करने के लिए सबसे महंगे प्रोडक्ट होते हैं, लेकिन यदि आपके पास रचनात्मक आग्रह है तो वे सबसे अधिक संतुष्टिदायक भी हो सकते हैं।

See also  2019 में क्या हुए है GST में बदलाव! जानिए

कई मामलों में, आप दस्तकारी या अत्यधिक विशिष्ट वस्तुओं के लिए एक प्रीमियम चार्ज कर सकते हैं, बस प्रोडक्ट को बनाने में लगने वाले समय को ध्यान में रखें। यदि आप व्यवसाय को टिकाऊ बनाने के लिए पर्याप्त शुल्क नहीं ले सकते हैं तो अपनी प्रक्रिया और रणनीति का पुनर्मूल्यांकन करने के लिए तैयार रहें।

थोक प्रोडक्ट

पारंपरिक खुदरा मॉडल एक निर्माता या थोक व्यापारी से बड़ी मात्रा में आइटम खरीदना और उन्हें व्यक्तिगत रूप से बेचना है। आप अलीबाबा और ईटीसी थोक जैसी साइटों पर थोक आइटम पा सकते हैं। आप eBay पर थोक लॉट की खोज करके भी आपूर्तिकर्ता ढूंढ सकते हैं।

अपने सोर्स को ध्यान से जांचना सुनिश्चित करें। समीक्षाएं पढ़ें, बेटर बिजनेस ब्यूरो (बीबीबी) लिस्टिंग देखें, और अपना पहला ऑर्डर देने से पहले बहुत सारे प्रश्न पूछें। आप यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि आपके द्वारा खरीदे गए प्रोडक्ट उच्च गुणवत्ता वाले हैं और उन विशिष्टताओं से मेल खाते हैं जिनका वे ऑनलाइन दावा करते हैं।

ड्रॉपशिप किए गए प्रोडक्ट

ड्रॉपशीपिंग मॉडल में, आप प्रोडक्ट का विपणन करते हैं और ऑर्डर लेते हैं, लेकिन आपका आपूर्तिकर्ता पूर्ति को संभालता है। कम लाभ मार्जिन और कड़ी प्रतिस्पर्धा से सुविधा की भरपाई होती है – कई अन्य ऑनलाइन दुकानें समान माल की पेशकश करती हैं। लोकप्रिय ड्रॉप-शिपिंग आपूर्तिकर्ताओं में ओबेरो, अलीएक्सप्रेस, होलसेल2बी, इन्वेंटरी सोर्स और मेगागूड्स शामिल हैं।

ड्रॉपशीपिंग बाजार में प्रतिस्पर्धा करने का सबसे अच्छा तरीका है कि वस्तुओं की एक समेकित सूची का चयन किया जाए और उन्हें एक विशिष्ट दर्शकों के लिए बाजार में लाया जाए।

अपने लिए एक अलग मार्केट की पहचान करें

एक ऑनलाइन विक्रेता के लिए बाजार बहुत बड़ा है, लेकिन यह प्रतिस्पर्धी भी है। बाहर खड़े होने का सबसे अच्छा तरीका एक जगह खोजना है।

उदाहरण के लिए, यदि आप योग मैट बेचना चाहते हैं, तो आप उन ब्रांडों के खिलाफ होंगे जो पहले से ही बाजार में अच्छी तरह से स्थापित हैं। लेकिन अगर आपने यात्रा के लिए डिज़ाइन किए गए योग मैट को बेचने का फैसला किया है, जिसमें हाथ से पेंट किए गए डिज़ाइन हैं जो लागत में वृद्धि कर सकते हैं, तो आप अधिक विशिष्ट दर्शकों को लक्षित कर सकते हैं – जैसे कि 40 से 55 वर्ष की आयु की महिलाओं को ग्लोबट्रोटिंग करना।

अपने खुद के प्रोडक्ट की बिक्री के बारे में सोचें

सेपरेट मार्केटिंग के साथ शुरुआत करने का एक तरीका उन क्षेत्रों के बारे में सोचना है जहां आपकी पहले से ही मौजूदगी है – और शायद एक जुनून। हो सकता है कि आपका सेपरेट बाजार वह हो जिसमें आप पहले से ही शामिल हैं। क्या आप किसी सोशल मीडिया समूह, संदेश बोर्ड, या अन्य ऑनलाइन सभा स्थलों के सदस्य हैं? क्या कोई जगह है जहां लोग आपको जानते हैं या आपके बहुत सारे संपर्क हैं? यदि ऐसा है, तो यह शुरू करने के लिए एक सार्थक जगह प्रदान करता है।

सुनिश्चित करें कि यह व्यवहार्य है

आप जिस सेपरेट पर विचार कर रहे हैं, उसके साथ आपका व्यक्तिगत संबंध है या नहीं, आपके बाजार के बारे में सूचित किया जाना महत्वपूर्ण है। अपने लिए सेपरेट जोन को जानने के लिए गूगल सर्च का भी सहारा ले सकते हैं। लोग किस बारे में बात कर रहे हैं, यह देखने के लिए अपने बाजार से संबंधित सोशल मीडिया समूहों और ऑनलाइन ग्रुपों से जुड़ें।

See also  सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड बिजनेस लोन क्या अंतर होता है?

ऑनलाइन बिजनेस के बारे में जानिए

ऑनलाइन व्यापार, इंटरनेट आने बाद खरीदारी और सामान सेलिंग का एक बेहतरीन अनुभव है। ऑनलाइन बिजनेस में सभी काम जैसे सामान ऑर्डर करना, सामान का ऑर्डर प्राप्त करना, सामान के मूल्य का भुगतान का करना और भुगतान प्राप्त करना, सभी कुछ ऑनलाइन ही होता है। ऑनलाइन प्रोडक्ट कैसे बेचे। उदारहण के रूप में हम प्रसिद्ध ऑनलाइन कंपनियों जैसे, फ्लिपकार्ट, अमेज़न, मिन्त्रा इत्यादि का नाम ले सकते है। 

MSME लोन के लिए अप्लाई करें

कैसे होता है ऑनलाइन बिजनेस

ऑनलाइन बिजनेस कुछ हद तक ‘विश्वास’ पर होने वाला बिजनेस है। जब ग्राहक सेलर के प्रोडक्ट को ऑनलाइन देखता है और कोई प्रोडक्ट किसी ग्राहक को पसंद आ जाता है तो वह उसे ऑनलाइन ही ऑर्डर करता है। ऑर्डर करने में उसे कुछ जरूरी चीजे, जैसे अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, तथा समाना प्राप्त करने का पता देना होता है।

अब जब ग्राहक सामान ऑर्डर कर चुका होता है तो उसका ऑर्डर सेलर को मिलता है, सेलर सामान पैक कर, डिलीवरी बॉय को ग्राहक के पते के साथ सामान दे देता है। अब जिम्मेदारी डेलिवरी बॉय की। वह दिए गए पते पर पहुँचता है और सामान देता और अगर सामान का पैसा पहले भुगतान नही हुआ होता है तो ग्राहक से पैसा लेकर सामान देकर चला आता है।

मात्र 66 रुपए में ऑनलाइन बिजनेस कैसे करें, ये कंपनी दे रही है ऑफर

आप कैसे बेच सकते है ऑनलाइन सामान

ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचने के दो तरीके होते हैं: पहला, अपनी खुद की वेबसाइट बनवाकर सामान बेचना, दूसरा- मार्केट में पहले से मैजूद किसी ई-कॉमर्स के पोर्टल से जुड़कर सामान बेचना। पहले विकल्प यानी अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर प्रोडक्ट बेचना काफी महंगा विकल्प है।

यह भी जानिएः बिजनेस लोन प्रोजेक्ट कैसे बनाए

अगर कोई व्यक्ति अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर बेचता है तो उसे मेंटेनेंस, मार्केटिंग जैसे कई तरह के खर्चों को पूरा करना पड़ेगा। अगर कोई व्यक्ति पहले से चल रही ऑनलाइन शापिंग वेबसाइट से जुड़ता है तो यह काफी फायदेमंद हो सकता है। शुरुवात में किसी पहले से स्थापित वेबसाइट से ही जुड़कर काम करना फायदेमंद कदम साबित होगा। 

किसी वेबसाइट से कैसे जुड़ सकते है

यह बहुत आसान होता है। किसी ऑनलाइन वेबसाइट से जुड़ने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को जिस वेबसाइट से वह जुड़ना चाहता है, उसपर जाकर अपने अपने आप को एक वेंडर के तौर पर रजिस्टर करना होगा। उदाहरण के रूप में देखे की अगर किसी व्यक्ति को फ्लिपकार्ट से जुड़ना है तो उसके लिए, निम्न स्टेप करने पड़ेंगे:

सबसे पहले seller.flipkart.com लिंक खोलना होगा। इसके बाद अपने आप रजिस्टर्ड करने के लिए ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर एंटर करना होगा। अब आपका मोबाइल नंबर और ईमेल वेरिफिकेशन के लिए दोनों पर OTP जायेगा, इस OTP नंबर को एंटर करते ही एक फॉर्म खुलकर आएगा, जिसपर सभी जरूरी जानकारियां भरकर उसे सबमिट कर देना होगा। अब आप वेंडर ज़ोन में एंटर कर चुके है। यहां पर आप अपने प्रोडक्ट यानी समानों की लिस्टिंग कर सकते है।

जब आप अपने प्रोडक्ट की लिस्टिंग कर ले तो, जब चाहे कंपनी के सर्विस विभाग से फोन से भी सलाह ले सकते है। यहां यह स्पष्ट कर देना चाहिए की ऑनलाइन सेलिंग कंपनियां अपने लॉजिस्टिक सर्विस के द्वारा सामान पिक (उठवाना) करवाती है, सामान पैक करके देने की जिम्मेदारी सेलर यानी आपकी होती है।

See also  जानिए टैक्स बचाने का आसान तरीका

आपको पैसे कब मिलेंगे?

आपके प्रोडक्ट/सामान के डिलीवरी होने के 10 – 15 दिनों में आपको अपने सामान की कीमत आपके बैंक अकाउंट में आ जाएगी। आपके सामान पर वसूली गई कीमत में से ऑनलाइन कंपनियां कुछ हिस्सा अपने पास कमीशन के रूप में लेंगी। यह कमीशन में उनके प्लेटफ़ॉर्म पर आपके सामान बेचने के चार्ज, सर्विस टैक्स और लॉजिस्टिक के साथ ही पैकिंग के खर्चें इत्यादि शामिल होते है।

अभी बिजनेस लोन पाए

ऑनलाइन सामन बेचने से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

  • एक साथ आप कई ऑनलाइन कंपनियों के साथ जुड़ सकते है
  • अगर आपके सामानों में कुछ टैक्स के दायरे में आता है तो कृपया GST रजिस्ट्रेशन करवा ले
  • कम्पूटर की मूलभूत जानकारी अवश्य रखे
  • हिसाब – किताब को भी करना बेहतर ढंग से करना सीख लीजिए, क्योंकि आपके पास एक साथ बहुत सा हिसाब आने वाला है।

ऑनलाइन बाजार में सुपरहिट होने के लिए यह करें

  • किसी भी तरह की गलत जानकारी देने से बचे
  • अपने सामान के बारे अधिक से अधिक जानकरी देने का प्रयास करें
  • सामान के बारे में डिटेल से बताइए, जैसे बुसर्ट किस रंग का है, उसकी बटन किस रंग की है इत्यादि ऐसा करने से ग्राहक का विश्वास बढ़ेगा

अब तक आप यह समझ चुके होंगे कि अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन कैसे बेचे और कैसे आप ऑनलाइन बिजनेस करके अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है। अगले ब्लॉग में हम बतायेंगे की ऑनलाइन तरीके से बिजनेस करने में क्या – क्या सावधानियां अपनानी चाहिए।

https://blog.ziploan.in/hi/vigyanpan-ke-5-shandar-tareeko-ko-apnakar-kijiye-online-business/

ऑनलाइन प्रोडक्ट सेल कैसे करे

ऑनलाइन प्रोडक्ट सेल करने के लिए सर्वप्रथम एक वेबसाइट होना चाहिए। अगर खुद की वेबसाइट नहीं है तो किसी ई-कॉमर्स वेबसाइट या मोबाइल ऐप के माध्यम से ऑनलाइन प्रोडक्ट सेल किया जा सकता है।

दुकान में बिक्री बढ़ाने के उपाय

दुकान में बिक्री बढ़ाने का सबसे बढ़िया यह उपाय है कि बिज़नेस प्रोडक्ट की बिक्री ऑनलाइन किया जाय। इसके अतिरिक्त दुकान में बिक्री बढ़ाने का उपाय जानने के लिए यह आर्टिकल पढ़ें- दुकान की बिक्री बढ़ाने के लिए होते हैं कई तरीके. जानिए अचूक 4 तरीके

ऑनलाइन कपड़े कैसे बेचे

ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचने में कपड़े का बिजनेस करना बहुत आसान है। ऑनलाइन कपड़े बेचने के लिए सर्वप्रथम कपड़ा बनाने वालों से या कपड़ों के कारोबारी से संपर्क करके एग्रीमेंट करना होता है। इसके बाद खुद की वेबसाइट बनाकर या किसी ई-कामर्स वेबसाइट से जुड़कर ऑनलाइन कपड़े बेचे जा सकते हैं। यह ध्यान रखें कि खुद से ऑनलाइन बिजनेस करने पर मुनाफा अधिक होता है, जबकि किसी दूसरे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का उपयोग करने पर मुनाफा बंट जाता है।

ऑनलाइन बिक्री कैसे करें

ऑनलाइन बिक्री करने के लिए सर्वप्रथम वेबसाइट या मोबाइल ऐप होना चाहिए। अगर यह संभव नहीं है तो, किसी अन्य ई-कामर्स वेबसाइट या ऐप से जुड़कर ऑनलाइन बिक्री किया जा सकता है।

online product sale kaise kare

Online product sale krna bhut aasan hai. online product sale karne ke liye sabse pahle khud ki website banwaiye ya kisi e-commerce website se judkar online product sale kiya ja skata hai. ऑनलाइन प्रेडक्ट बेचने के विषय में अधिक जानकारी के लिए यह आर्टिकल पूरा पढ़ें।

ऑनलाइन व्यापार कैसे करे (Online sell kaise kare)

सबसे पहले आपको अपना प्रोडक्ट बनाना या खोजना होगा फिर उसे ऑनलाइन प्लेटफार्म जैसे अमेज़न और फ्लिपकार्ट पर लिस्ट कर के बेच सकते है।

Related Posts

MSME Full FormMSME RegistrationCGTMSE
MSME LoanVAT RegistrationUdyog Aadhaar
GST RegistrationStand Up India SchemeCGTMSE Fee
Shop LoanWhat is CGSTDownload GST Certificate
PM SVAnidhi SchemeCancelled ChequeUPI Full Form
Business Loan EligibilityGST Full FormE-Way Bill Unblocking
CIN NumberGST LoginUAN Number