किसी प्रोडक्ट या सर्विस को बेचने के उद्देश्य से किया जाने वाला संचार – प्रचार – विज्ञापन (Advertising) कहलाता है। ‘विज्ञापन’ विक्रय कला का एक नियंत्रित ‘जनसंचार माध्यम’ है। जिसके द्वारा उपभोक्ता को दृश्य एवं श्रव्य सूचना इस उद्देश्य से प्रदान की जाती है कि वह विज्ञापनकर्ता के प्रोडक्ट – सर्विस का लाभ उठाए।

एक बहुत बड़े प्रचार – प्रसार करने वाले गुरु ने कहा है-

“बिना विज्ञापन के कारोबार करना, अंधेरे कमरे में किसी सुंदर लड़की को आंख मारने जैसा है।”

मतलब यह कि आप अपने कारोबार को बहुत अधिक सामान से भर दिए लेकिन आपके कारोबार के बारे में किसी को मालूम ही नहीं है तो आपके कारोबार से सामान खरीदेगा कौन?

इसे पढ़ना न भूलिए: विज्ञापन के इन 5 शानदार तरीकों को अपनाकर कीजिए ऑनलाइन बिजनेस

इसका सीधा संदेश है कि अगर कोई व्यक्ति बिजनेस करता है तो उसे अपने बिजनेस का प्रचार करने के तरीकों पर भी काम करना चाहिए। अगर बिजनेस का प्रचार नहीं किया जाता है तो बिजनेस के लिए ग्राहक मिलना बहुत मुश्किल हो जायेगा।

प्रचार मुख्य रुप से दो प्रकार का होता है

  1. ऑनलाइन प्रचार
  2. ऑफलाइन प्रचार

ऑनलाइन प्रचार किसे कहते हैं?

इसको हम कम शब्दों में समझे तो होगा – इंटरनेट के माध्यम से किया जाने वाला प्रचार को हम ऑनलाइन प्रचार कहते हैं। ऑनलाइन प्रचार का प्रमुख अंग निम्न है:

  • सोशल मीडिया मार्केटिंग
  • SMS मार्केटिंग
  • ईमेल मार्केटिंग
  • वीडियो मार्केटिंग
  • इंटरनेट पर अपने बिजनेस की लिस्टिंग करना

सोशल मीडिया मार्केटिंग में क्या करना होता है?

आज की तारीख में विज्ञापन का सबसे पॉपुलर प्लेटफर्म सोशल मीडिया मार्केटिंग है। सोशल मीडिया मार्केटिंग में फेसबुक, ट्वीटर, लिंक्डइन, इंस्टाग्राम इत्यादि आता है।

इसे भी जानिए: बिजनेस में ऊपरी खर्च से बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

सोशल मीडिया मार्केटिंग के तहत अपने बिजनेस का प्रचार करने के लिए कारोबारी को सबसे पहले अपने बिजनेस से संबंधित कुछ चीजों की जानकारी इक्कठा करना होता है। कारोबारी को इन चीजों की जानकारी इक्कठा करना होता है:

  • बिजनेस का नाम
  • किस प्रोडक्ट को सोशल मीडिया मार्केटिंग के जरिये बेचना है।
  • जिस प्रोडक्ट को सोशल मिडिया प्लेटफ़ॉर्म पर बेचना है, उस प्रोडक्ट की खास बातें क्या हैं?
  • बेचे जाने वाला प्रोडक्ट मार्केट में उपलब्ध अन्य प्रोडक्ट से कैसे बेहतर है, इसके बारे में जानकारी।

इन सभी जानकारी को इक्कठा करके कारोबारी को एक ग्राफिक्स बनाना होता है। उस ग्राफिक्स पर ऊपर बताये गई सभी जानकारी को बेहतर तरीके से लिखना होता है। जब ग्राफिक्स तैयार हो जाए तो ग्राफिक्स को सोशल मिडिया प्लेटफ़ॉर्म पर अपलोड कर देना होता है।

इसे आपको जानना चाहिए: अपने बिजनेस का विकास कैसे करें?

जानकारी के लिए बता दें कि सभी सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर यह विकल्प होता है कि विज्ञापनदाता जिस जगह पर चाहें उस जगह पर अपना विज्ञापन दिखाए और जिस जगह पर चाहें उस जगह पर अपना विज्ञापन न दिखाएं।

SMS मार्केटिंग क्या है?

अक्सर हमारे मोबाइल पर नम्बरों पर किसी न कंपनी का मैसेज आता रहता है। तमाम तरह के ऑफर मिलता रहता है। इन ऑफरों में नेटवर्क कंपनियों से लेकर प्रोडक्ट बेचने वाली कंपनियों के विज्ञापन शामिल होते हैं। इसे ही मार्केटिंग की भाषा में SMS मार्केटिंग कहा जाता है।

ठीक इसी तरह कोई भी कारोबारी चाहे तो अपने कारोबार के लिए SMS मार्केटिंग केम्पेन चला सकता है और ग्राहकों को अपने बिजनेस की तरफ आकर्षित कर सकता है। अब सवाल है कि अपने शहर के ही लोगों को  अपने बिजनेस का SMS कैसे भेजें?

यह आर्टिकल आपके लिए ही है: आनलाइन बिजनेस कैसे करें

तो उसका उत्तर है कि टेलिकॉम कंपनियों से अपने शहर के लोगों के मोबाइल नंबर का डाटा खरीदा जा सकता है। टेलिकॉम कंपनियां से अपने शहर के लोगों का मोबाइल नंबर लेकर SMS मार्केटिंग केम्पेन चलाया जा सकता है।

ईमेल मार्केटिंग क्या है?

अक्सर हमारे ईमेल अकाउंट में रैंडम ईमेल आते हैं। उन ईमेल में सिर्फ किसी कंपनी का कोई ब्रोशर होता है या किसी कंपनी के किसी प्रोडक्ट का ऑफर होता है। इसे ही ईमेल मार्केटिंग कहा जाता है।

ईमेल मार्केटिंग एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म है जहां पर किसी कंपनी का ही प्रचार (विज्ञापन) किया जा सकता है। ईमेल मार्केटिंग केम्पेन चलाने के लिए पहले लोगों की ईमेल आईडी का डाटा एजेंसीज से खरीदना होता है।

वीडियो मार्केटिंग क्या है?

आज की तारीख में लगभग हर भारतीय के पास में मोबाइल फोन है और हर तीन में से सो भारतीय के पास एंड्रॉइड फोन है। ऐसे में वीडियो मार्केटिग एक बेहतरीन तरीका है अपने प्रोडक्ट और अपने बिजनेस का प्रचार करने के लिए।

इस विडियो को आपको जरुर देखना चाहिए:

विडियो मार्केटिंग करने के लिए पहले अपने प्रोडक्ट की या अपने बिजनेस के बारे में बेहतरीन विडियो बनवाते हैं। इसके बाद उस विडियो को तमाम ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर सर्कुलेट कर देते हैं। इससे जब लोग उस विडियो को देखते हैं तो आपने प्रोडक्ट और बिजनेस का प्रचार होता है।

इंटरनेट पर अपने बिजनेस की लिस्टिंग करना

आज की डेट में अगर किसी कोई कहीं जाना होता है तो वह तुरंत गूगल मैप चला देता है और अपने निश्चित गंतव्य परा पहुंच जाता है। ऐसे में गूगल पर अपने बिजनेस की लिस्टिंग करना बहुत फायदेमंद साबित होता है।

इसे भी जानिए: बिजनेस लोन से बिजनेस की जरूरतें तुरंत पूरी होती हैं, जानिए कैसे?

अगर किसी व्यक्ति को कोई प्रोडक्ट खरीदना होता है तो वह सबसे पहले गूगल पर उस प्रोडक्ट के बारे में सर्च करता है। ऐसे में अगर आपका बिजनेस गूगल की लिस्ट में रहेगा तो कोई भी व्यक्ति गूगल के जरिये आपके बिजनेस के बारे में आसानी से जान सकते हैं।

अपने शहर में बिजनेस का ऑफ़लाइन तरीके से प्रचार

ऑफ़लाइन सदाबहार प्रचार और विज्ञापन का तरीका है। शुरुवात में सिर्फ ऑफलाइन तरीके से ही कारोबार का प्रचार किया जाता था। ऑफ़लाइन प्रचार निम्न तरीके से किया जा सकता है:

  • होर्डिंग

  • बैनर

  • पम्पलेट

होर्डिंग के जरिये बिजनेस का प्रचार / विज्ञापन

जो कारोबारी अपने बिजनेस का प्रचार / विज्ञापन सिर्फ अपने ही शहर में करना चाहते हैं, उनके लिए होर्डिंग के जरिये प्रचार करना एक बहुत ही बेहतरीन तरीका है।

होडिंग के जरिये प्रचार करने के लिए सबसे पहले शहर में उन स्थानों को सलेक्ट कीजिये जिन स्थानों पर लोग जुटते हैं। मतलब पब्लिक प्लेस होना चाहिए। जगह सलेक्ट करने के बाद अपने शहर के नगर निगम या नगर पालिका से संपर्क करके उस जगह को होर्डिंग लगाने के लिए किराया पर लीजिये।

इसे भी जानिए: क्या महिला कारोबारियों के लिए बिजनेस लोन उपलब्ध है? जानिए

जगह का किराया आपको हर दिन के हिसाब से देना पड़ सकता है। जब जगह बुक हो जाये तो उस जगह पर अपने बिजनेस की होर्डिंग लेकर लगा दीजिये। होर्डिंग लगाते समय यह जरुर ध्यान रखना चाहिए कि होर्डिग के लिए रात की लाइट का इंतजाम जरुर हो।

बैनर के जरिये बिजनेस का प्रचार

खुद के शहर में बिजनेस का प्रचार करने के लिए यह तरीका किफायती और काफी लाभदायक है। सबसे पहले अपने बिजनेस या अपने बिजनेस पर उपलब्ध प्रोडक्ट्स के बारे में बैनर बनवाइए।

इसके बाद यह तय करें कि आपको अपने शहर के किस – किस एरिया में बैनर लगाना है। जगह ये सभी कुछ डिसाइड हो जाए तो शहर में यह घूमकर देखें कि किस – किस स्थान पर लोगों की भीड़ अधिक इक्कठी होती है। और कहां – कहां पर अपने बिजनेस का बैनर लगाने से लाभ हो सकता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

बैनर लगाने वाली जगह डिसाइड होने के बाद बैनर लगाने वाले लोगों से संपर्क करें और उन्हें बैनर लगाने के लिए बोल दें। यह जरुर ध्यान रखें कि बैनर लगाने में प्रशासन के किसी नियम का उल्लंघन न हो।

पम्पलेट के जरिये अपने शहर में अपने बिजनेस का प्रचार

प्रचार करने का यह तरीका सबसे सस्ता और टिकाऊ है। हालांकि इनमे अधिक पेपर की खपत होती है। पम्पलेट के जरिये अपने बिजनेस का प्रचार करने के लिए सबसे पहले अपने बिजनेस या अपने बिजनेस पर उपलब्ध प्रोडक्ट्स का इश्तिहार छपवाईये। इश्तिहार छपवाते समय यह ध्यान देना बहुत जरूरी है कि उस इश्तिहार पर आपके बिजनेस का पता और संपर्क करने का माध्यम भी जरुर हो।

यह आर्टिकल आपको सफल कारोबारी बना देगा: बिजनेस में सफलता के लिए बिजनेसमैन में होने चाहिए ये गुण और क्षमताए

जब इश्तिहार छप जाए तो अपने जिले में स्थित सभी अख़बार के कार्यालयों से संपर्क करें। अख़बार वालों से कहें कि आपको पूरे शहर में यह पम्पलेट वितरित करना है। अख़बार वाले अपना भुगतान लेकर हर अख़बार के बीच में आपके बिजनेस का पम्पलेट पूरे शहर में वितरित कर देंगे।

इस तरह आप घर बैठे अपने शहर में सभी लोगों के घर अपना बिजनेस पहुंचा देंगे। प्रचार करने का यह यह तरीका बहुत कारगर होने के साथ बहुत किफायती भी है।

इस आर्टिकल को नहीं पढ़ा तो बिजनेस में हो जायेगा बहुत नुकसान: जानिए कैसे मिलती है व्यापार में सफलता- Vyapaar Me Safalta Ke Upaay