कोविड-19 के चलते देश भर की एमएसएमई प्रभावित हैं। एमएसएमई को फिर से खड़ा करने के लिए सरकार द्वारा Aatm Nirbhar Yojana राहत पैकेज दिया गया है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoan द्वारा एमएसएमई कारोबारियों को 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिनों* में प्रदान किया जाता है।

अभी बिजनेस लोन पाए

आत्मनिर्भर भारत अभियान – Aatm Nirbhar Yojana

कोरोना महामारी के चलते देश में 5 माह का लॉकडाउन किया गया। लॉकडाउन का सबसे अधिक प्रभाव एमएसएमई कारोबारियों पर और दैनिक कामगारों पर पड़ा।

एमएसएमई कारोबार तो इस लॉकडाउन में बुरी तरह से प्रभावित हुए और कुछ कारोबार को बंद करने की नौब्बत भी आ गई। जिसके चलते कामगारों की जिदगी तबाह हो गई।

कामगारों को फैक्ट्रियों से निकाल दिया गया। देश में यातायात के सभी संसाधन बंद होने के चलते कामगार पैदल ही अपने घर के लिए रवाना हो गये। जिससे कई कामगारों की मृत्यु भी हो गई।

इसे भी जानिएः लॉकडाउन के बाद इन प्रोडक्ट की मांग बढेंगी, आप भी हो जाइऐ तैयार

इन सब के बीच देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने देश के नाम दिये संबोधन में कहा कि अब देशवासियों को आत्मनिर्भर होने दिशा में सोचना पड़ेगा। इसके लिए सरकार की तरफ से हरसंभव मदद प्रदान की जायेगी।

इसी के साथ केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना प्रभावित लोगों और एमएसएमई को राहत देने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान नामक राहत पैकेज घोषित किया गया। आत्मनिर्भर भारत अभियान- Aatm Nirbhar Yojana में सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की गई है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना

नरेद्र मोदी सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज सभी सेक्टर के लोगों के लिए समर्पित किया गया है। आत्मनिर्भर भारत अभियान- Aatm Nirbhar Yojana के तहत एमएसएमई कारोबारियों को बिना किसी गारंटी के बिजनेस लोन देने का काम किया जा रहा है। जिसके लिए सरकार द्वारा 4 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है।

एमएसएमई कारोबारियों के लिए बिजनेस लोन बैंक और एनबीएफसी द्वारा दिया जा रहा है। खास बात यह है कि राहत पैकेज के तहत उन एमएसएमई कारोबारियों को भी बिजनेस लोन मिल सकता है, जिन्हें विगत कई वर्षों से स्ट्रेस एमएसएमई या एनपीए के कैटेगरी में डाल दिया गया था।

इसे भी जानिएः महिला उद्यम निधि योजना क्या है और लाभ क्या मिलता है?

एमएसएमई के अतिरिक्त अन्य लोगों और कामगारों को राहत देने के लिए सरकार द्वारा खुद का बिजनेस शुरु करने के लिए लोन प्रदान करने का निर्णय किया गया है। इसके लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान – Aatm Nirbhar Yojana नाम से लोन योजना शुरु की गई है।

इस राहत योजना के लिए सरकार द्वारा बकायदा एक वेबसाइट भी बनवाई गई है। https://www.pmindia.gov.in/en/ इस वेबसाइट को लॉग-इन करके आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

आइये इस आर्टिकल में यह समझते हैं कि आत्मनिर्भर भारत अभियान का ऑनलाइन आवेदन कैसे किया जाता है और किस पात्रता पर क्या लाभ मिलता है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना का लाभ

जैसा कि प्रधानमंत्री जी ने अपने देश के नाम दिये अपने संबोधन में कहा कि अब वह समय आ गया है कि सभी लोगों को आत्मनिर्भर होना होगा। कहने का आशय यह है कि अब लोगों को स्थानिय स्तर पर खुद से कोई न कोई स्वरोजगार को अपनाना होगा।

इससे रोजी-रोटी कमाने के लिए अपना जिला छोड़कर कहीं बाहर जाने की आवश्यकता नहीं होगी। और किसी भी महामारी जैसी परिस्थिति से निपटने में मदद मिलगी हालांकि बहुत से ऐसे लोग भी हैं जिनके पास इतना प्रयाप्त धन नहीं होगा, जिससे वह स्वरोजगार कर सकें।

इस दिक्कत को सरकार द्वारा समझा गया और इसका बेहतर तरीके से निदान करने के लिए लोन योजना की शुरुआत भी की गई है। आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना – Aatm Nirbhar Yojana के तहत स्वरोजगार शुरु करने की चाहत रखने वालों को सरकार के सहयोग से कम ब्याज दर पर और बिना कुछ गिरवी रखे बिजनेस लोन दिया जाता है। यह इस योजना का प्रमुख लाभ है।

  • दैनिक आधार पर काम करने वाले 3.8 करोड़ लोगो को इस योजना के द्वारा लोन मिलेगा।
  • एमएसएमई सेक्टर में कार्यरत 11 करोड़ कर्मचारी समेकित रुप से इस योजना से लाभ प्राप्त करेंगे।
  • टेक्सटाइल सेक्टर में कार्यरत 4.5 करोड़ लोगो को लाभ प्राप्त होगा।

आत्मनिर्भर भारत अभियान का लाभ किसे मिल सकता है?

केन्द्र सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत मिलने वाले लोन का लाभ निम्नलिखित लाभार्थियों को मिल सकता है

  1. सिमांत किसान
  2. काश्तगार किसान
  3. प्रवासी मजदुर
  4. कुटीर उद्योग में काम करने वाले कामगार
  5. लघु उद्योग में काम करने वाले कामगार
  6. मध्यम उद्योग में काम करने वाले कामगार
  7. मछुआरे
  8. पशुपालक
  9. संगठित क्षेत्र व् असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले व्यक्ति

अत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत निम्न पर पर जोर रहेगा

  1. मेक इन इंडिया ( Make in India mission)
  2. देश में इन्वेस्टमेंट बढ़ाने पर जोर (Provide Good Investment Opportunities)
  3. कारोबार के लिए सरल और स्पष्ट नियम कानून बनाने पर जोर (Rational Tax System)
  4. लोगो को नया बिजनेस शुरु करने के लिए प्रोत्साहन (To Motivate New Business)
  5. बिजनेस की उत्तम आधारिक संरचना का निर्माण (Reformation Of Infrastructure)
  6. मानव संसाधनों को सक्षम बनाने पर जोर ( Capable Human Resources)
  7. वित्तीय सेवा बेहतर बनाने पर जोर (A Good Financial System)
  8. कृषि प्रणाली को उन्नत बनाने पर जोर (Reformation Of Agricultural Supply Chain & System)

आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना के लिए अप्लाई कैसे करें?

इसके लिए आपको अपने नजदीकी बैंक या एनबीएफसी से संपर्क करना होता है। आत्मनिर्भर भारत अभियान ऑनलाइन आवेदन होता है। लेकिन इसके लिए सबसे पहले आपको यह पता करना होता है कि आपके एरिया में किस बैंक या एनबीएफसी से आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत बिजनेस लोन प्रदान किया जा रहा है।

इसके बाद जरुरी कागजातों के साथ आत्मनिर्भर भारत अभियान ऑनलाइन आवेदन करना होता है। सरकार का आदेश है कि जो बैंक आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत बिजनेस करने के लिए लोन देने से मना करें तो उसकी शिकायत सीधे आत्मनिर्भर भारत अभियान से जुड़े अधिकारियों से की जा सकती है।

अगर आप पहले से कोई एमएसएमई बिजनेस चलाते हैं और अब अपने बिजनेस का संचालन करने के लिए बिजनेस लोन की तलाश में हैं। तो आपको देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoan से 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, सिर्फ 3 दिन* में मिल सकता है।

बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करें