अब 50 हजार से अधिक कैश के लेनदेन के लिए आधार कार्ड नंबर का भी किया जा सकता है उपयोग। पहले होता था सिर्फ पैन कार्ड का उपयोग।

5 जुलाई 2019 को वित्त मंत्री श्रीमती सीतारमण द्वारा बजट पेश करते हुए 50 हजार से अधिक के ट्रांजेक्शन पर आधार कार्ड की सहूलियत प्रदान करने की घोषणा की गई थी।पहले 50 हजार से अधिक के नगद कैश के लेनदेन में पैन कार्ड नंबर अनिवार्य रूप से देना होता था, वित्त मंत्री के घोषणा के अनुसार अब 50 हजार से अधिक के लेनदेन में आधार कार्ड का भी उपयोग किया जा सकता है यानी कैश के लेनदेन में आधार की जरूरत बन गई है।

कैश के लेनदेन में आधार की जरूरत को वित्त मंत्री ने बजट भाषण में ही बताया था

वित्त मंत्री के घोषणा के बाद राजस्व सचिव अजय भूषण पांडे ने 6 जुलाई 2019 को बताया कि 50 हजार से अधिक के लेनदेन करने पर अब पैन कार्ड की अनिवार्यता हटा दी गई है। अब जिनके पास पैन कार्ड नही है, वह लोग आधार कार्ड का भी उपयोग करके लेनदेन कर सकते हैं। श्री भूषण पांडे ने बताया कि बैंकों को यह सूचना दे दी गई है कि वह अपना सिस्टम अपग्रेड कर ले, जहां कहीं भी पैन कार्ड का उपयोग अनिवार्य हो वहां आधार कार्ड का भी ऑप्शन प्रदान कर दिया जाए।

जानिए उद्योग आधार क्या है और इसके रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया क्या है?

वर्तमान में नही है कैश के लेनदेन में आधार की जरूरत

वर्तमान की व्यवस्था की बात करें तो अभी 50 हजार से अधिक की रकम निकालने या जमा करने के लिए ग्राहकों को पैन कार्ड नंबर अनिवार्य रूप लिखना होता था। अब बैंक इस व्यवस्था में बदलाव करेंगे और पैन के साथ ही आधार कार्ड का भी ऑप्शन प्रदान करेंगे।

5 जुलाई 2019 को वित्त मंत्री सीतारमण बजट पेश करते हुए कहा था कि ग्राहक के सामने नियम पालन करने के लिए कई ऑप्शन होना चाहिए, इसीलिए पैन कार्ड के साथ ही आधार कार्ड के उपयोग की स्वीकृति दी जाएगी। यह व्यवस्था सिर्फ बैंकों में ही नही बल्कि हर उस जगह पर लागू किया जायेगा जहां – जहां पैन कार्ड का उपयोग करना अनिवार्य है।

राजस्व सचिव भूषण पांडे ने इस व्यवस्था के बारे में आगे बताते हुए बताया कि वर्तमान में 22 करोड़ पैन कार्ड ही अभी तक आधार से जुड़े हैं, जबकि 120 करोड़ से अधिक लोगों के पास वर्तमान में आधार कार्ड है। ऐसे में किसी के पास अगर पैन कार्ड नही है वह भी आधार कार्ड के जरिए 50 हजार से अधिक के ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। दूसरी बात यह कि जिसके पास पैन कार्ड नही है और आधार कार्ड है तो वह आधार कार्ड के जरिए ही पैन कार्ड बनवायेगा, तो इस तरह ऑटोमेटिक पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक हो जायेगा।

PAN Card में सुधार करने का यह है सबसे आसान तरीका

श्री भूषण पांडे इस तरह की किसी की संभवना को नकार दिया जिसमे यह कहा जा रहा था कि पैन कार्ड धीरे – धीरे खत्म हो जायेगा। उनका कहना था कि ऐसे बहुत से लोग हैं जो आधार कार्ड के बदले पैन कार्ड का उपयोग करना अधिक पसंद करते हैं। यह व्यवस्था बैंकिंग सिस्टम में पैन कार्ड के जगह पर एक और ऑप्शन देने के लिए तैयार किया गया है।

क्या आपको यह लेख पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। बिजनेस से जुड़ी कोई भी नई अपडेट या जानकारी पाने के लिए हमसे FacebookTwitter और Linkedin पर भी जुड़े।