दुकान तथा छोटे व्यवसायों के लिए इन दिनों बिजनेस लोन प्राप्त करना बहुत आसान है। कई स्तरों पर इन सेगमेंटों में लोन दिया जा रहा है। यानी अगर आपकी दुकान है या छोटा व्यापार है तो आपके सामने लोन लेने के कई विकल्प खुले है, सलेक्ट आपको करना है। कई बार दुकान को नई जगह स्थापित करने या दुकान की साजोसामान (इन्वेंट्री) को बढ़ाने या उसमे सुधार करने के लिए लोन लिया जाता है। इसके अतिरिक्त भी छोटे व्यवसायों के लिए लोन की प्रक्रिया बहुत आसान और लचीली होती है जिससे की इसका लाभ उठाया जा सकता है। दुकान के लिए लोन प्राप्त करने एवं उपयोग करने के विभन्न तरीकों के बारे में और अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें:

दुकान की साजोसामान (इन्वेंटरी) सामान बढ़ाना

किसी भी ग्राहक को किसी भी दुकान में तब बहुत अच्छा लगता है जब उसके सामने दुकान में उसे सामान पसंद करने की बहुत सी वेरायटी हो। यदि आपके दुकान में कोई सामान नही होगा तो आप ग्राहकों को दिखायेंगे क्या? और बेचेंगे क्या? इन्वेंट्री लोन का सीधा उपयोग होता है दुकान के लिए सामान खरीदना और बढ़ाना। आप अधिक इन्वेंट्री खरीदने के लिए लोन का उपयोग कर सकते है। इससे आपके दुकान की पहचान व्यापक स्तर पर बढ़ेंगी क्योंकि ग्राहकों के पास सामान खरीदने एवं चुनने के कई विकल्प सामने होंगे तो वह खरीदेगा भी साथ दूसरों को भी प्रोत्साहित करेगा। दूसरी बात की जब आप अपने दुकान में कई प्रकार की सामन रखेंगे तो ग्राहकों को एक ही स्थान पर अपने जरूरत एवं मनमुताबिक सामन प्राप्त हो जायेगा और इस तरह आपकी दुकान ग्राहकों की पहली पसंद बन जाएगी। ग्राहकों को अपने मनमुताबिक सामान मिलेगा और आपको प्राफिट।

सामान (इन्वेंटरी) बीमा

किराने के स्टोर के लिए लोन का उपयोग इन्वेंट्री का बीमा करवाने के लिए किया जा सकता है। कई बार ऐसा भी होता है की कई दुकानदार यह तर्क देते है की की दुकान के बीमा के लिए दिए जाने वाला प्रीमियम बेकार चला जायेगा। लेकिन, यह समझने की बात है की सामान (इन्वेंट्री) चोरी होने या किसी प्रकार की आपदा होने पर यह बीमा सामान (इन्वेंट्री) की सुरक्षा करेगा और आप चिंतामुक्त रहेंगे। क्योंकि दुकान के साथ साथ उसमे रखे सामान की सुरक्षा भी महत्वपूर्ण है।

नए स्थान पर दुकान खोलना

यदि आपकी वर्तमान दुकान सफल चल रही है, तो आप एक नए स्थान पर नई दुकान खोलने का विचार कर सकते है। हालांकि, उस स्थान का पता लगाना महत्वपूर्ण है जहां आपके सम्बंधित बिजनेस की दुकान न हो या कम हो। आप ऑनलाइन उन क्षेत्रों को खोज सकते है। फिर नई दुकान शुरू कर सकते है और बिजनेस लोन के जरिए दुकान का किराया, उसमे सामान और कर्मचारियों को काम पर रख सकते है।

बिजनेस मार्केंटिंग

देश में कई माध्यम से छोटी – छोटी दुकाने चल रही है, चाहे वह एक जनरल स्टोर हो, किराना स्टोर या फार्मेसी स्टोर हो। बाजार में तगड़े प्रतिस्पर्धा के साथ खड़े रहना बहुत ही महत्वपूर्ण है। समय के साथ बाजार का स्वरूप भी बदल रहा है और ग्राहक का नजरिया भी। इसलिए यह जरूरी हो जाता है की आप अपने द्वारा बेचे जा रहे उत्पाद या सेवाओं को रचनात्मक एवं आकर्षक तरीके से ग्राहक के सामने रखे। उदाहारण के लिए, आप एक ऑनलाइन स्टोर बना सकते है। अपना बिजनेस कार्ड बना सकते है और प्रायोजित सोशल मीडिया प्लेटफोर्म पर भी अपने बिजनेस को प्रदर्शित कर सकते है। बिजनेस लोन के जरिए अपने व्यवसाय की मार्केटिंग किया जा सकता है। एक सुझाव हमारा है की आप उन मार्केटिंग रणनीतियों की समीक्षा करते रहे जिन्हें आप लागू कर रहे है।

कार्यशील पूंजी (कैपिटल पूंजी)

बिजनेस लोन सिर्फ व्यापार के विस्तार और बड़ा करने भर की जरूरत नही है। अपने व्यवसाय को निरंतर चालू रखना भी महत्वपूर्ण है। एक दुकान को निरंतर चलाने के लिए कई प्रकार के खर्च होते है और इन खर्चों को कार्यशील पूंजी कहा जाता है। इस प्रकार के कुछ खर्चों में कर्मचारियों के वेतन, अन्य प्रकार की खर्चे, बीमा प्रीमियम इत्यादि शामिल होते हैं।

अब जब आप हरिद्वार में दुकान के लिए बिजनेस लोन को कई प्रकार से उपयोग करने के तरीके जान चुके है, तो आप पैसों का उपयोग सबसे प्रभावी एवं कुशल तरीके से कर सकते है। इसके साथ ही आप अपने व्यवसाय के नेटवर्क बनाने के लिए ZipLoan द्वारा कनेक्ट मोबाईल ऐप पर खुद को रजिस्टर्ड कर सकते है। यहां ई-मार्केटप्लेस के माध्यम से आप अपनी एक बिजनेस प्रोफाइल बना सकते है। अपने उत्पादों/सेवाओं की सूची बना सकते है, बिजनेस पा सकते है, नए बिजनेस अवसरों की खोज कर सकते है और अपना खुद का व्यापारिक कनेक्शन बना सकते है।